एक अच्छा पॉवरपॉइंट प्रेजेनटेशन (PPT) कैसे बनाये-कम्पलीट गाइड




एक अच्छा पॉवरपॉइंट प्रेजेनटेशन (PPT) कैसे बनाये?

दोस्तों इससे पहले के पोस्ट मैं आपको बता चूका हु कि आप अपने प्रेजेनटेशन को कैसे बनाएं प्रभावशाली

लेकिन प्रेजेनटेशन को प्रभावशाली बनाने के लिए आपका पॉवरपॉइंट प्रेजेनटेशन (PPT) का सही बनाना बहुत जरूरी होता है।

बहुत से लोग अपने प्रेजेनटेशन में इसीलिए भी फेल हो जाते है ,क्योकि उन्होंने अपना प्रेजेनटेशन को ठीक से नहीं बनाया।

अच्छा पॉवरपॉइंट प्रेजेनटेशन (PPT) कैसे बनाये:




आफिस में प्रेजेनटेशन है और टाइम बहुत कम है तो आइए हम आपको कम समय में एक अच्छा पॉवरपॉइंट प्रेजेनटेशन (PPT) कैसे बनाये, इसके तरीके बताते हैं जो आपके लिए फायदेमंद होंगे।  

टॉपिक:

 अपना प्रेजेनटेशन बनाते इस बात का ध्यान रखें की प्रेजेनटेशन में टॉपिक के प्रति आपका लगाव और जुनून दिखाई दे।

साथ ही टॉपिक पर रिसर्च करें, उससे जुड़े फैक्ट्स इकट्ठा करें।

जिस प्रोडक्ट को आप पेश कर रहे हैं वह दूसरे से अलग कैसे है इस सवाल का जवाब भी आपके प्रेजेनटेशन में होना चाहिए।

फार्मेट प्लान करें:

फार्मेट का स्ट्रक्चर बनाना प्रेजेनटेशन बनाने में महत्वपूर्ण होता है। फार्मेट बनाते समय सबसे पहले समय का ख्याल रखें।



टाइम लिमिट न केवल आपके प्रेजेनटेशन को असरदार बनाती है बल्कि आपको एक अच्छे प्लानर की तरह पेश करती है।

अपने प्लान को तुरंत पॉवर प्वाइंट पर न रखकर सीधे पेपर पर लिखें। इससे आपका काम आसान होगा। 

इसके बाद पॉवर प्वाइंट प्रेजेनटेशन पर आते है। कुछ लोग मानते हैं कि पॉवर प्वाइंट प्रेजेनटेशन इफेक्टिव नहीं होता है।

लेकिन कुछ लोग पॉवर प्वाइंट प्रेजेनटेशन के पक्ष में खड़े दिखाई देते हैं।

इसलिए अगर आपने भी पॉवर प्वाइंट प्रेजेनटेशन बनाने का मन बना लिया है तो इसे साथ 10, 20, 30 के नियम को फालो करें।

10,20,30 का मतलब है 10 स्लाइड, 20 प्वाइंट और 30 से कम फांट साइज।

पॉवर प्वाइंट प्रेजेनटेशन (PPT) में फोटो लगाना कभी-कभी बोरिंग लगता है इसलिए थोड़े क्रिएटिव बनें और इससे जुड़े इमेजज बनाएं।

स्लाइड में कंटेट कम रखें:

आपकी यह तकनीक आपको आपके ऑडियंस से भावनात्मक रूप से जोड़ेगी।



ऑडियंस स्लाइड में कंटेंट पढ़ने की बजाय आपसे से कोई मैसेज सुनना अधिक पसंद करेगा।

इसलिए स्लाइड  में कंटेंट की मात्रा कम से कम रखें।

इस बात को ध्यान में रखे कि हर स्लाइड में केवल छः शब्द होने चाहिए। बेशक शब्द कम हों लेकिन वह बहुत असरदार होने चाहिए जिससे पढ़ने वाले रूचि दिखाए।

इस बात का भी ध्यान रखें कि जानकारी को हमेशा कांट-छांट कर पेश करें।

कंटेट पर दें ध्यान:

कंटेट प्रेजेनटेशन की जान होती है इसलिए कंटेंट पर ध्यान देना जरूरी है। कंटेट को छोटा और सटीक रखें।

अपने पूरे प्रेजेनटेशन को छोटा और प्रभावशाली रखें, ज्यादा शब्दों के जाल से बचना आपके लिए बेहतर साबित होता है।



प्रेजेनटेशन के समय इस बात का ध्यान रखें हमेशा स्टोरी के जरिए अपनी बात को रखें।

लोग हमेशा स्टोरी सुनना पसंद करते हैं और उसमें रूचि दिखाते हैं। अपने बातों को समझाने के लिए हमेशा उदाहरण दें।

ये उदाहरण किताबी न होकर रोजमर्रा की जिंदगी से जुड़े अनुभव ज्यादा बेहतर होते हैं।  लोगों के सवालों के भी अच्छे जवाब दें। 

अपने प्रेजेनटेशन को अच्छा डिजाइन करें:

अपने प्रेजेनटेशन को अच्छे से डिजाइन करें। अगर आपको कोई डिजाइनर रखना खर्चीला लग रहा है तो Canva, Pixel, या Unsplash जैसे टूल्स का इस्तेमाल कर आप अपने प्रेजेनटेशन को प्रभावशाली बना सकते हैं।

इसके लिए आप रंगों का इस्तेमाल जरा सम्भाल कर करें।

कभी भी चमकीले रंगो का प्रयोग न करें ये आपकी इमेज को खराब कर सकते हैं। अपने मैसेज को बेहतरीन रंगों से सजाएं।



लेकिन ध्यान रखें केवल एक या दो रंगों का इस्तेमाल आपके प्रेजेनटेशन को बेजान बना देता है इसलिए कुछ और रंगों का सावधानी से इस्तेमाल कर सकते हैं। 

 बेहतरीन तरीके से की कई डिजाइन आपको अधिक प्रोफेशनल बनाती है।

इसलिए डिजाइनिंग पर आप ध्यान दे सकते हैं। फांट को हमेशा टाइम्स न्यू रोमन और कॉमिक सैंस, 8 और 30 पॉइंट टेक्स्ट के बीच रखें।

हमेशा एक फॉन्ट और एक साइज का ही इस्तेमाल करे। आप अपने शब्दों को प्रभावशाली बनाने के लिए मोटा कर सकते हैं।

स्लाइड पर खराब लाइन या खराब पिक्सेलयुक्त ग्राफिक बुरा असर डालता है इससे बचें। 

रहें तैयार:

तैयारी के दौरान आप जिन टूल्स का यूज कर रहे हैं, उनके बारे में जानना बेहतर जरूरी है।

जैसे अगर आप पावर प्वाइंट प्रेजेनटेशन कर रहे हैं तो आपको  ‘बीबटन दबाने के बारे में पता होना चाहिए।



दबाने से स्क्रीन खाली हो जाएगा आप स्क्रीन पर ध्यान रखें।

साथ ही पहले से रिहर्सल करते रहें जिससे प्रेजेनटेशन के समय कोई परेशानी नहीं आए।

यही नहीं उस दिन पहनने वाले कपड़ों को भी रात में ही सजा कर रख लें।

जिस कमरे में आपका प्रेजेनटेशन होना है वहां जाकर आप कुर्सियों पर बैठ कर भी देख सकते हैं ताकि आप वहां कम्फर्टेबल महसूस करें। 

साथ ही एक बात का ध्यान रखें प्रेजेनटेशन से पहले एक बार फैक्ट्स को जरूर जांच लें।

कई बार कुछ कम्पनियां बहुत तेजी से अपने फैक्ट्स में बदलाव कर देती हैं। 

इसलिए किसी भी तरह की गलती से बचने के लिए आप फैक्ट्स को जरूर चेक करें।  

प्रेजेनटेशन के दिन इन बातों का रखें ख्याल:

प्रेजेनटेशन का दिन आपके लिए बहुत खास होता है इसलिए इस दिन यादगार बनाने के लिए कुछ टिप्स को जरूर करें।

सबसे पहले अपनी जरूर की सभी चीजें साथ ले लें जैसे अपना लैपटॉप, केबल कनेक्शन, पावर बैकअप वगैरह।

साथ में पॉवर फेल होने की परेशानी से निपटने के लिए आप कुछ बुलेट प्वाइंट्स को पेपर पर लिख कर रख लें।

इसे आप इमरजेंसी में इस्तेमाल कर सकेंगे। आप उस जल्दी पहुंचने की कोशिश करें। जल्द पहुंच कर वाशरूम से निपट लें।

उसके बाद ताजा महसूस होने के लिए कुछ पी सकते हैं लेकिन ध्यान रखें कॉफी पीना या चाकलेट खाना आपकी आवाज में खराश पैदा कर सकता है। इसलिए इस तरह की चीजों से बचें।



इसके अलावा आप नर्वस होने के बजाए खुद को जोश से भरें। घबराहट से बचने के लिए कुछ एक्टिंग करना सीखें।

साथ ही अपने ऑडियंस की ओर देखें। ऑडियंस की तनी हुई भौंहे और भुनभुनाहट की आवाज से घबराएं नहीं बल्कि कांफिडेंस के साथ प्रेजेनटेशन दें।

प्रेजेनटेशन के बाद स्लाइड और इससे जुड़े दूसरी चीजों को लोगों से शेयर करें। 

 साथ ही एक बात का ध्यान रखें कुछ अच्छा पाने के लिए बहुत मेहनत करनी होती है।

प्रेजेनटेशन के समय आपके पास बहुत से जानकारी आती है। इसे आप तेजी से हटाएं और केवल जरूरी जानकारी को अपने पास रखें।

यही नहीं प्रेजेनटेशन तैयार होने के बाद किसी भरोसेमंद कुलिग या मेंटर से प्रेजेनटेशन को जरूर चेक कराएं।



अगर आपको कोई मित्र या मेंटर नहीं मिलता है, तो online writing assistance की मदद ले सकते हैं जो व्याकरण से जुड़ी सभी गलतियों को ठीक कर देगा। 

दोस्तों आज के इस हिंदीपोस्ट में हमने जाना कि आप एक अच्छा पॉवरपॉइंट प्रेजेनटेशन (PPT) कैसे बनाये। उम्मीद करता हु कि आपको ये पोस्ट पसंद आया होगा।

अगर आपको इससे रिलेटेड कोई भी सुझाव देना हो, या मुझसे कोई भी सवाल पूछने हो, तो आप कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *