SmartPhone

UI क्या होता है? Android में इस्तेमाल होने वाले Popular UI

UI क्या होता है? Android में इस्तेमाल होने वाले Popular UI

UI क्या होता है? Android में इस्तेमाल होने वाले Popular UI : आज तो सब कुछ काफी आसान हो गया है, लेकिन पहले ऐसा नहीं था। पहले के समय के कंप्यूटर को आप सभी ने किताबों वगेरह में देखा ही होगा। अब के कंप्यूटर और पहले के कंप्यूटर में सबसे बड़ा तो अंतर Size का ही है।

अभी तो हम लोगों को नार्मल Size के Portable कंप्यूटर्स देखने को मिलते हैं, लेकिन पहले के कंप्यूटर्स ऐसे बिल्कुल भी नहीं थे। उनका Size तो एक कमरे से बड़ा होता था। उनको चलाने में भी काफी दिक्कत होती थी। ऐसा इसलिए क्योंकि उनका User interface भी अच्छा नहीं होता था।

अगर बात करें पहले की कंप्यूटर्स की तो पहले के System में User interface के नाम पर सिर्फ Command देखने को मिलता था। अब इन Command को समझना सबके बस की बात तो थी नहीं। इन Commands को केवल वही लोग समझ सकते थे जिन्हें इसकी बहुत बेहतरीन जानकारी हो। इसी के साथ कंप्यूटर को Control करने के साथ भी Command की ज़रूरत होती थी। ऐसे में उस समय कंप्यूटर को चलाना काफी ज्यादा मुश्किल होता था। उस समय जो भी आप Command देते थे, उसे आप Keyboard से Type करके ही देते थे।

अलग अलग Operating system के लिए आपको अलग अलग Command की ज़रूरत होती थी। ऐसे में अब आप कितनी Commands को याद रखते। ये वाकई में एक बहुत मुश्किल काम हुआ करता था।

लेकिन आज हमें ऐसा कुछ भी नहीं करना होता है। सब काम बस एक Click से हो जाता है। ये सब कुछ हम User interface यानी UI की मदद से कर पाते हैं। इसकी मदद से हम किसी भी Device को Control कर पाते हैं और उसे अपने मन मुताबिक चला पाते हैं।

आज जितने भी Gadgets आप इस्तेमाल कर रहे हैं, उन सबमें आप UI का ही इस्तेमाल कर रहे हैं। इसी की मदद से आपके और Gadgets के बीच में Communication स्थापित हो पाता है। आज हम इसी के बारे में जानेंगे।

इस आर्टिकल में हम आप सभी को UI के बारे में बताएंगे और ये भी बताएंगे कि Android operating system में इस्तेमाल होने वाले Popular UI कौन से हैं। आइये फिर जानना शुरू करते हैं।

UI क्या होता है?

दोस्तों आप सभी ने गौर तो फरमाया ही होगा कि जब भी आप किसी मशीन को इस्तेमाल करते हैं फिर चाहे वो कोई भी मशीन हो। हो सकता है वो कंप्यूटर हो या फिर मोबाइल या फिर वाशिंग मशीन या फिर माइक्रोवेव का फिर फ्रिज आदि। इन सभी में आपको कुछ Instructions दिए हुए होते हैं। ये जो Instructions होते हैं, ये किसी भी Format में हो सकते हैं। हो सकता है कि ये Graphics की फॉर्म में हों, या फिर किसी बटन या स्विच के रूप में हों, या फिर कोई अन्य प्रकार।

जब आप इन Instructions को Keyboard की मदद से फॉलो करते हैं या फिर अपने हाथ से Touch करते हैं या फिर किसी स्विच या बटन को Press करते हैं, तो आप उस मशीन को एक Command दे रहे होते हैं। ऐसा करने से आपके और मशीन के बीच में एक Communication built up हो पाता है।

आसान शब्दों में अगर इसे हम समझने की कोशिश करें तो आपके और मशीन के बीच एक बातचीत स्थापित हो पाती है। फिर आप मशीन से जो करवाना चाहते हैं वो करवा सकते हैं। ये सब बातचीत यानी कि यह जो Communication आपके और मशीन के बीच में स्थापित होता है, ये एक Medium के द्वारा होता है और इसी Medium को हम User Interface के नाम से जानते हैं।

असल में ये कुछ और नहीं बल्कि एक तरह का Software ही होता है। इसके माध्यम से User और device के बीच में कनेक्शन को स्थापित किया जाता है। ये मशीनों से बातचीत करने का एक जरिया होता है। किसी भी मशीन से अब हम यह तो कह नहीं सकते कि वो हमारी भाषा को समझे और न ही हक इंसान मशीनों को भाषा को समझ सकते हैं। ऐसे में हम सभी को कोई न कोई माध्यम तो चाहिए ही, जिससे हमारी बात हो सके। इसीलिए User interface को Develop किया गया।

User interface को UI के नाम से भी जाना जाता है। ये हमारे द्वारा दिए गए Instruction system को बताता है। इसको काफी रिसर्च करने के बाद और Customers की पसंद के हिसाब से बनाया जाता है ताकि लोगों को इसको इस्तेमाल करने में कोई भी दिक्कत न आए और वो बहुत ही आसानी से अपने और मशीन के बीच में एक बेहतर कनेक्शन स्थापित कर पाएं।

इसी User interface को ही Human machine interface के नाम से भी जाना जाता है। आज के समय में आप जितनी भी मोबाइल कंपनियों को देख रहे हैं, वो सभी अपने Customers को अपना खुद का UI प्रदान करने की कोशिश करती हैं।

दोस्तों जिस UI का इस्तेमाल आजकल मोबाइल में चलाने के लिए किया जाता है, उसे मोबाइल UI के नाम से भी जाना जाता है। ये Operating system होता है जो कि Graphical user interface प्रदान करता है। इसमें आपको Icons और Graphics दिखाई देते हैं।

आप इनके माध्यम से ही Mouse या फिर Keyboard की मदद से कंप्यूटर को Command देते हैं या फिर स्क्रीन को Touch करके अपने मोबाइल को Command देते हैं।

जो Operating system होता है, वो कुछ और नहीं बल्कि एक System software होता है। इसका मतलब यह हुआ कि आपके Device की जो भी आंतरिक गतिविधियां होती हैं, ये उन्हें Control करने का काम करता है। इसके बाद यह User को एक ऐसा Interface प्रदान करता है, जिससे User आसानी से Device को Operate कर सकें।

User interface का क्या इतिहास है?

जैसा कि हमने आपको पहले भी बताया कि जिस समय कंप्यूटर को बनाया गया था, उस समय उनमें आपको Interface के तौर पर सिर्फ Command देना पड़ता था। ये बहुत ही ज्यादा झंझटी काम था। जिन लोगो को Commands की अच्छी जानकारी थी, केवल वही लोग इसका इस्तेमाल कर सकते थे। उसके अलावा उस समय जितने भी Operating system मौजूद थे, उनके लिए Commands भी अलग अलग थीं। जैसे कि अगर आप Windows का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपको अलग Command की ज़रूरत होगी और अगर आप Linux का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपको किसी अन्य Command की ज़रूरत होगी। इसीलिए लोगों को ऐसे Interface की ज़रूरत थी जो उनके लिए वाकई में आसान हो और उन्हें चलाने में कोई दिक्कत न आए।

फिर 1970 में पहली बार Graphical interface को लोगों ने पहली बार जाना। इस Graphical interface को XAROX CORP नाम की कंपनी ने बनाया था। इस समय इस कंपनी का कोई अस्तित्व नहीं है लेकिन उस समय ये एक बहुत बड़ी नामी कंपनी हुआ करती थी। इस कंपनी ने पहली बार अपनी रिसर्च टीम के साथ मिलकर GUI को Develop किया था। फिर बाद में इसी को XAROX ने XAROX Alto के नाम से 1973 में कंप्यूटर में Publish किया था। इसके बाद 1981 में इस कंपनी ने एकोर कंप्यूटर, जो कि एक पहले से ही ज्यादा  Developed GUI था, उसे Launch किया था। इसका नाम The Xerox star था।

Apple company co. ने 1983 में अपना खुद का एक GUI आधारित कंप्यूटर बनाया। ये दफ्तर से जुड़े Software के साथ ही आता था। फिर बाद में 1984 में इसका एक और दूसरा बड़ा Version लाया गया। इस Version को आम लोगों के लिए बनाया गया था और कोई भी इसका इस्तेमाल आसानी से कर सकता था। इसका नाम Apple macintosh था। फिर धीरे धीरे ये Popular होता चला गया और हर छोटी बड़ी कंपनी GUI को Develop करने में लग गई।

User interface के Types;-

आइये अब इनके Types के बारे में जान लेते हैं। इनके बहुत सारे Types होते हैं जो कि निम्न हैं –

◆ GUI (Graphical user interface) – जैसा कि इसके नाम से ही पता चलता है। ये ऐसा Interface है जो Graphics पर आधारित होता है। इसमें आप Keyboard और Mouse का इस्तेमाल करके Input प्रदान करते हैं और फिर वहां पर जो Interface दिया जाता है, वो Graphics की फॉर्म में होता है। इसके Develop होने के बाद से ही Operating system और ज्यादा Popular हो गया और ये Interface बहुत ही ज्यादा Simple होता है जिसे कोई भी आसानी से समझ सकता है और आसानी से इस्तेमाल कर सकता है।

◆ Web user interface – ये कुछ और नहीं बल्कि Graphical user interface ही है। इसमें जो Web page होता है उसी को इस तरह से Design किया जाता है कि जब भी कोई User इंटरनेट के माध्यम से कुछ Search करे तो उसको जो Output मिले, वो काफी ज्यादा आकर्षक हो और बेहतरीन हो। ये तो हम सभी को पता है कि किसी भी Web page का जो Layout होता है वो कितना ज्यादा महत्वपूर्ण होता है।

◆ Touch screen interface – आजकल लगभग सभी Smart devices में आपको ये देखने को मिलता है। इसमें होता क्या है कि आप Screen को Touch करके Input देते हैं और फिर आपको Output दिया जाता है।

◆ Command line interface – इसमें आपको Keyboard का इस्तेमाल करना होता है। आप कंप्यूटर Keyboard का इस्तेमाल करके String type करके Input प्रदान करते हैं और फिर Desktop पर आपको Output नज़र आ जाता है।

◆ Alternative user interface – इसका काम बस इतना सा है कि ये User का ध्यान केंद्रित करता है। इसका काम होता है User को Notification और Warning आदि के बारे में Indicate करना।

◆ Crossing based interface – यह GUI ही होता है। ये सीमा को उल्लंघन करके आपके काम को और सक्षम रूप से और अच्छे से करता है।

◆ Hardware user interface – Hardware तो आप सभी को पता ही होगा कि वो चीजें जिन्हें आप Touch कर सकें। तो फिर आप किसी भी Device का जब स्विच आदि Touch करते हैं तो आप Hardware user interface का ही इस्तेमाल कर रहे होते हैं। यह किसी भी मशीन से आपके Communication को बहुत ही आसान बनाता है और आप मशीन को आसानी से इस्तेमाल कर पाते हैं।

कुछ Popular Android में इस्तेमाल होने वाले UI;-

हम सब ने यह तो जान ही लिया कि User interface होता क्या है।

चलिए अब जानते हैं कि Android में इस्तेमाल होने वाले Popular UI कौन से हैं –

◆ Realme UI –

इसको Realme फोन्स के लिए बनाया गया है। इसका UI Oppo के ColorOS 7 पर बना हुआ है। इस UI में कई सारे फीचर्स Realme ने खुद Add किये हैं।

इसमें Dark mode के अपडेट को भी शामिल किया गया है। इसके अंतर्गत Sunset और Sun rise automation फीचर को भी शामिल किया गया है। Realme ने थर्ड पार्टी Apps के लिए फोर्स Dark mode का भी Option दिया है।

इसके अलावा Double tap से Realme UI में आप फोन को Lock कर सकते हैं। ये फीचर सच में काफी बेहतरीन है। इसकी मदद से आप बिना Power button का इस्तेमाल किये अपने फोन की Display बंद कर सकते हैं।

Privacy को लेकर भी इसमें बेहतरीन Options दिए गए हैं। आखिर हर User की पहली प्राथमिकता उसकी Privacy ही तो होती है। इसी को देखते हुए Realme में Personal information protection भी दिया गया है। जब आप इस फीचर को Enable कर देते हैं उसके बाद जितने भी थर्ड पार्टी Apps होते हैं, उन्हें बार बार आपकी Permission लेनी होती है। इसी के साथ ही इसमें Bike riders के लिए Riding mode भी दिया गया है। इसमें होता क्या है कि जब आप Ride कर रहे होते हैं तो आपको कॉल और मैसेज के कोई भी Notification नहीं मिलते हैं।

इसी के साथ अभी आपको Screenshot से काम चलाना पड़ता था मगर जब Video record करने की बात आती थी तो आपको समझ में नहीं आता था तो आप क्या करें। ऐसे में Realme ने अपने UI में एक और बेहतरीन फीचर दिया है जिसे Screen recording के नाम से आप जानते हैं। इसका इस्तेमाल करके आप अपनी Screen display को कैप्चर कर सकते हैं।

◆ One UI –

ये Samsung अपने फोन्स में User को UI प्रदान करता है। Samsung का One UI 4 Market में आ चुका है। इसको Users 15 नवंबर से Download कर पा रहे हैं। बाकी जो पुराने Galaxy S फोन हैं उनमें भी ये नया UI अपडेट जल्द ही दे दिया जाएगा। बाकी जो Galaxy Z series है उसमें भी ये नया One UI 4 अपडेट देखने को मिलेगा।

जितने भी पुराने Note फोन हैं, उनमें भी इसका अपडेट दिया जाएगा। साथ ही Galaxy A series के फोन में भी नए UI के साथ नए फीचर्स देखने को मिलेंगे।

इस UI की मदद से Users अपने फोन को Interface को Customise कर सकते हैं। इसमें फोटोज को Edit भी बहुत ही आसानी से किया जा सकता है। इसमें Users को फोटो रिमास्टर फीचर, हेल्थ ट्रेकिंग फीचर तथा Customization के फीचर देखने को मिलते हैं। 

Samsung One UI में मिलने वाले खास फीचर की बात करें तो इसमें Quick Switch और Content Suggestions प्रमुख है।

Quick switch फीचर में नॉर्मल मोड और प्राइवेट मोड मौजूद है जिसमें Power बटन को 2 बार दबाकर इन दोनों मोड्स को बदला जा सकता है और Users gallery, whatsapp व अन्य Apps के लिए नॉर्मल मोड से प्राइवेट मोड में Switch कर सकते हैं। वहीं Content suggestion में स्मार्टफोन User को प्राइवेट कंटेट को ‘सिक्योर फोल्डर’ में Transfer करने का Suggestion दिया जाता है।

◆ MIUI –

दोस्तों ये शाओमी का अपना User interface है। इसमें बहुत सारे बेहत फ़ीचर्स प्रदान किये गए हैं जिससे किसी को भी Android फोन को इस्तेमाल करने में दिक्कत न हो।

इसमें Minimalist फीचर भी दिया गया है। इसकी मदद से बड़े Icons और Fonts के अलावा 3 कॉलम का Layout देखने को मिलता है। इससे अगर बुजुर्ग लोग भी फोन का इस्तेमाल करते हैं तो उन्हें Icons वगेरह को पहचानने में कोई दिक्कत नहीं होती है। साथ ही जितने भी बहुत ज्यादा जरूरी Contacts हैं, उन्हें आप स्क्रीन पर ही Add कर सकते हैं। इससे आप कभी जल्दबाजी में अगर किसी को Call करना चाहते हैं तो आप बिना Contact list में गए, उस व्यक्ति को Call कर सकते हैं जिसको आप Call करना चाहते हैं।

इसमें Handwriting input method भी दिया गया है। अक्सर क्या होता है कि हमारे न चाहते हुए भी गलती से एक बार Click हो जाने पर App download हो जाता है। लेकिन अब नए फीचर में अगर कोई भी चीज़ Download होती है तो उसको आपसे 2 बार Permission की ज़रूरत होती है। इससे कोई भी App गलती से Download नहीं होगा। इसमें Calendar के Design और Look भी बदला गया है। अब आप स्क्रीन को Rotate कर सकते हैं और साथ ही Weekly view भी आपको इसमें Side में नज़र आने वाला है। इसका Interface user friendly है और ये Google calendar से Inspired है। 

MIUI में एसएमएस के भी 2 Options नज़र आएंगे। एक Option मेन एसएमएस का होगा और दूसरा Option प्रोमोशन एसएमएस का होगा। इससे आपके पर्सनल मैसेज और बाकी नोटिफिकेशन वाले मैसेज आपस में Mix नहीं होंगे। इसमें Weather को लेकर भी फीचर दिया गया है जिसमें Users को Display पर 3D map दिखाई देगा। 

ये कुछ ज्यादा ही Advance है। इसमें आपको Dark मोड कुछ और ही अलग ढंग से दिखाई देने वाला है। इससे आपकी बैटरी की Usage भी कम होगी और आप Battery save कर पाने में सक्षम हो पाएंगे।

इसमें आपका जो कैमरे का App होगा उसमें Layout support भी दिया गया है। इसी के साथ ही आपको Color customization भी देखने को मिलता है।

Privacy को भी इसमें ध्यान में रखा गया है। अधिक Security के लिए इसमें MACE ( Mobile AI compute engine फ्रेमवर्क का भी इस्तेमाल किया गया है।

App behaviour को भी इसमें शामिल किया गया है जो Users को और ज्यादा Privacy प्रदान करने का काम करती है और इससे Users apps को खुद से भी Handle कर सकते हैं।

◆ OnePlus oxygenOS –

OnePlus के सबसे Latest operating system का नाम है Oxygen OS 11, यह भी बाकी सारे Operating system की तरह ही Android 11 पर आधारित है। इसमें आपको एक बेहद आकर्षक फीचर देखने को मिलने वाला है जो कि Always on display का है। इसकी मदद से Users अपनी सहूलियत के हिसाब से अपने फोन को Design कर सकते हैं। इसके साथ ही One hand optimization, focus tracking और Gesture shelf जैसे फीचर मोबाइल यूज को आसान बनाते हैं और ये Interface काफी ज्यादा Friendly भी है।

दोस्तों तो ये थी User interface से जुड़ी सारी जानकारी। अब आप सब समझ ही गए होंगे कि यह होता क्या और इसका काम क्या होता है। आप फोन वगेरह जो भी इस्तेमाल कर रहे हैं, उन सबमें आपको UI ही देखने को मिलता है।

UI ही आपके और आपके Device के बीच में एक Communication create करता है। क्योंकि Device के लिए ये नामुमकिन है कि वो हमारी भाषा को समझे और हम सब के लिए ये संभव नहीं है कि हम Machine language को समझ पाएं। ऐसे में हमको Device का इस्तेमाल करने के लिए एक Medium की आवश्यकता होती ही है जो हमारी बात को Device तक और Device की बात हम तक पहुंचा सके। बस इसी काम को आसान करने में हम सबकी मदद UI करता है। वो हमारे और Device के बीच में Interaction बनाता है। UI की बदौलत ही तो ये सब संभव है। उम्मीद है कि आपको UI के बारे में सब समझ मे आ गया होगा।


इसे भी पढ़ें :

About author

Articles

मैं अपने इस ब्लॉग पे इंटरनेट, मोबाइल, कंप्यूटर कैर्रिएर से रिलेटेड आर्टिकल पोस्ट करता हु और ये उम्मीद करता हूँ कि ये आपके लिए सहायक हो। अगर आपको मेरा आर्टिकल पसंद आये तो आप इसे लाइक ,कमेंट अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे और आपको मुझे कोई भी सुझाव देना है तो आप मुझे ईमेल भी कर सकते है। मेरा ईमेल एड्रेस है – hindipost.net@gmail.com.
Related posts
AndroidGoogle

Android क्या है? Android के बारे में सारी जानकारी

दोस्तों आज हम सभी कितने ज्यादा आधुनिक…
Read more
AndroidiOS

E sim क्या है और ये काम कैसे करती है?

मोबाइल फोन आज की Generation के लिए सबसे पहल…
Read more
Androidकंप्यूटर

Bluetooth क्या होता है और कैसे काम करता है?

नमस्कार, मैं आपके साथ एक बहुत ह…
Read more
error: Content is protected !!