BusinessEntrepreneurship

GST क्या होता है तथा इसके लिए कैसे Apply करें?

GST क्या होता है तथा इसके लिए कैसे Apply करें?

भारत मे पहले तमाम तरह के Indirect taxes लिए जाते थे। जिसकी वज़ह से ही भारत मे GST को लाने का फैसला लिया गया था। आज हम जानेंगे – GST क्या होता है तथा इसके लिए कैसे Apply करें?

आज इसने देश के उन तमान Indirect tax की जगह ले ली है। दोस्तों ये खुद भी एक Indirect tax ही है मगर इसके बाद आपको हज़ारों किस्म के Indirect tax नहीं देखने को मिलते हैं।

आपको बस एक ही Indirect tax देना होता है और उसे आप सब GST के नाम से जानते हैं। इसको 2017 में 1 जुलाई को भारत में लागू किया गया था।

इससे पूरे देश में किसी भी Product के क्रय और विक्रय मूल्य पर एक ही Tax लागू किया जाता है।

जो ऐसे Businessman हैं जिनका एक वित्त वर्ष में कारोबार 20 लाख या इससे अधिक का होता है, उन्हें GST के अंतर्गत Online registration करवाना ही होता है।

इसके साथ ही जो छोटे और मध्यम वर्गीय Businessman हैं उन्हें इसके अंतर्गत राहत प्रदान की गई है। छोटे और मध्यम Businessman से हमारा मतलब है जिनकी वार्षिक बिक्री 20 लाख रुपये से कम की होती है।

इनके द्वारा Supply की गई वस्तुओं और सेवाओं पर GST नहीं लगाया जाएगा।

जैसे कि जो उत्तरी पुर्व राज्य हैं Meghalaya, Assam, Manipur, Arunachal Pradesh, Mizoram, Nagaland, Sikkim, Tripura, Himachal Pradesh and Uttarakhand इनमें 10 लाख की छूट सीमा तय की गई है।

GST registration के लिए Time limit;-

इसके Registration की भी एक Time limit है। आइये देखते हैं कि वो क्या है –

◆ जिस दिन कोई भी Business 20 लाख के कारोबार तक पहुंच जाता है या फिर उसको पार कर लेता है, उस दिन से लेकर 30 दिनों के भीतर तक उसका GST registration करवा लेना बेहद ज़रूरी है।

◆ GST कानून के हिसाब से आपको इन 30 दिनों के अंदर Registration करवाना ही होगा।

◆ इसके अलावा जब भी कोई Business, GST registration की अनिवार्यता के अलावा और किसी अन्य परिस्थिति जैसे Inter state supply या फिर E commerce operators के द्वारा Supply करना आदि से Cover up होता है।

उसे भी उस दिन से लेकर 30 दिनों के अंदर तक Registration करवा लेना चाहिए।

GST registration में लगने वाले कुछ ज़रूरी Documents;-

अगर आप इसका Registration करवाने जाते हैं तो आपको कुछ Documents ज़रूर रखने पड़ेंगे। आइये हम आपको उन Documents के बारे में बताते हैं –

◆ आपकी कम्पनी की आरोसी की एक कॉपी

◆ Business से सम्बंधित Bank statement

◆ PAN card

◆ एओए या एमओए का Registration certificate

◆ Landline या फिर बिजली का Bill

◆ एक Passport size फ़ोटो की भी ज़रूरत पड़ती है।

◆ अगर आपकी Property किराए पर होती है तो आपको एनओसी या फिर Rent से जुड़े अनुबंध को लगाना होता है।

GST registration के Types;-

इनके भी दोस्तों कुछ Types होते हैं जो कि निम्नलिखित हैं –

◆ Regular registration- इसके अंतर्गत ऐसे Businessman आते हैं जो Normal तरीके से वस्तुओं और सेवाओं की Supply करते हैं।

इसके साथ ही इन Businessmen ने किसी भी विशेष Scheme जैसे Composition scheme या फिर Foreign NRI के तहत Registration नहीं करवाया है।

अगर आसान भाषा मे इसे समझें तो इसके अंतर्गत ऐसे Dealer आते हैं जो Goods and services की Supply किसी दूसरी गतिविधि से नहीं करते हैं।

इसमें आप Regular dealer के तौर पर आराम से Registration करवा सकते हैं। कोई भी Businessman या तो अपनी इच्छा से या फिर अनिवार्य रूप से इसके लिए आवेदन कर सकता है।

◆ Composition scheme- तय बिक्री तथा छोटे कारोबारियों के लिए ही इसको लाया गया है। इससे ये फायदा हुआ है कि GST प्रक्रिया को छोटे Business के लिए आसान बना दिया गया है।

इसके अंतर्गत ऐसे Businessman जिनकी वार्षिक बिक्री 1.5 करोड़ से कम है वो लोग इसके लिए Registration करवा सकते हैं।

Composition scheme के अंतर्गत GST rates –

अगर बात करें Normal scheme की तो इसमें Sale पर सामान्य तौर पर 18% GST लगाया जाता है। इसके बाद खरीदे हुए सामान पर Input credit भी मिल जाती है।

Compositon scheme में सीधे Sale पर 5% या फिर 1% का GST लगाया जाता है। इसके बाद आपको Input credit भी नहीं मिलता है।

  1. Restuarants-  5% GST (2.5% CGST + 2.5% IGST
  2. Manufacturer or Trader- 1% GST (0.5% CGST + 0.5% IGST)
  • Foreign non resident tax payer- इसके अंदर ऐसे लोग आते हैं जो भारत के निवासी नहीं है। भारत के निवासी न होने के बावजूद वो Goods और Services को भारत मे Supply करते रहते हैं। उनके Business का कोई निश्चित स्थान भी नहीं है। ऐसे लोगों की जो GST प्रक्रिया होती है वो एकदम अलग होती है। इसी को Foreign non resident tax payer कहते हैं।
  • E commerce operator
  • Tax deductor
  • Input service distributor- ये एक तरह से Business होता है। ये अपनी शाखाओं के द्वारा चालान प्राप्त करता है वो भी उपयोग की जाने वाली सेवाओं के लिए। इसके अंतर्गत Input tax credit को उन सभी शाखाओं में बांट दिया जाता है जहां पर सेवाओं का चालान काटा गया था।

◆ Government department and UN bodies

कैसे करें GST registration;-

GST registration की सारी प्रक्रिया Online है और ये बहुत आसान भी है। चलिये देखते हैं।

◆ Registration के लिए आपको सबसे पहले gst.gov.in/ registration पर जाना होगा। इस पर आप Log in कर लें।

◆ इसमें अब आपको Form A fill करना है जिसमें आपको अपनी कुछ Personal details डालनी है जैसे Email id, mobile number तथा PAN आदि।

◆ अब आपके मोबाइल पर एक OTP आएगा। आपको ये OTP enter करना है और फिर आपको Application number प्राप्त कर लेना है।

◆ जो Application number आपको मिला है। उसको Enter करने के बाद आपको अब Form B भरना होगा। इसके  अंदर आपको अपने Business के हिसाब से Details upload करनी होंगी।

◆ इसके बाद अगले 3 Working days के अंदर GST अधिकारी REG- 03 के दौरान आप से कुछ अन्य Documents की मांग भी की जा सकती है। तो इसके लिए आप तैयार रहें। इसकी पुष्टि आपको  GST- REG- 04 में करनी होती है।

◆ अगर  अधिकारी आपके Documents से सहमत नहीं होता है तो आपके Registration application को वो खारिज कर देता है। इसकी जानकारी आपको GST- REG- 05 में दे दी जाती है।

◆ अगर आपके द्वारा दी गयी सारी जानकारी सही होती है और अधिकारी भी सहमत हो जाता है तो आपके Registration application को Accept कर लिया जाता है। इसकी जानकारी आपको GST- REG- 06 के अंतर्गत दे दी जाती है। 

दोस्तों इस पूरे Process में लगभग 7 दिनों का समय लग ही जाता है।

GST registration का Status कैसे Check करें?

इसके लिए आपको निम्न Steps को Follow करना है –

Appication status –

◆ सबसे पहले आपको GST portal पर जाना होगा।

◆ फिर उसमें आपको Services में Registration से Track application status पर Click करना है।

◆ इसके बाद आपको Column में ANR यानी Application reference number enter करना है और साथ मे Captcha भी Fill करना होगा।

◆ अब बस आपको Search पर Click करना है। जैसे ही आप Search पर Click करेंगे आपके सामने आपका GST reg. Application status आपकी Screen पर होगा।

Existing status –

◆ इसमें भी सबसे पहले आपको GST portal पर जाना है।

◆ अब इसके बाद आपको Search tax payer में Search by GSTIN/UIN पर Click करना है।

◆ इसके बाद अब आपको अपना GSTIN Number भरना होगा। बस फिर आप Captcha enter करें।

◆ अब आप Search पर Click करिए। जैसे ही आप इस पर Click करेंगे आपके सामने GST number का Existing number मिल जाएगा।

GST certificate कैसे download करें –

◆ इसके लिए भी आपको सबसे पहले GST portal पर जाना है।

◆ इसके बाद आपको Services से User services में View/download certificate पे Click करना है।

◆ इसके बाद आपको Download पर Click करना है।

◆ बस अब आपका GST certificate REG- 6 download हो जाएगा।

GST registration के लिए Fees;

इसके लिए सरकार आप से कोई भी Charge नहीं लेती है। आप बिना कोई Fees दिए Portal gst.gov.in पर जाकर Online registration कर सकते हैं।

इसके साथ ही जो बड़े Business होते हैं उनका Registration CA के द्वारा किया जाता है तो इसके लिए CA कुछ अपना Charge लेते हैं।


दोस्तों तो ये थी पूरी प्रक्रिया कि आप किस तरह से GST के लिए Registration करवा सकते हैं।

ये पूरी Online प्रक्रिया है और इसमें ज्यादा कोई झंझट भी नहीं है। आप भी कभी भी Registration कर सकते हैं।

इससे आप ही को फायदा रहेगा। उम्मीद करते हैं कि आपको ये समझ आ गया होगा।

About author

Articles

मैं अपने इस ब्लॉग पे इंटरनेट, मोबाइल, कंप्यूटर कैर्रिएर से रिलेटेड आर्टिकल पोस्ट करता हु और ये उम्मीद करता हूँ कि ये आपके लिए सहायक हो। अगर आपको मेरा आर्टिकल पसंद आये तो आप इसे लाइक ,कमेंट अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे और आपको मुझे कोई भी सुझाव देना है तो आप मुझे ईमेल भी कर सकते है। मेरा ईमेल एड्रेस है – hindipost.net@gmail.com.
Related posts
GST

GST क्या होता है -पूरी जानकारी

दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे…
Read more
GST

What is GST and different rates of GST

Hello friends, In my today post I will discuss What is GST and different rates of GST in all the…
Read more

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!