अटल पेंशन योजना क्या है, अटल पेंशन योजना के लिए आवेदन कैसे करें?




अटल पेंशन योजना क्या है:

अटल पेंशन योजना भारतीय नागरिकों की लिए बनाई गयी गारंटी कृत पेंशन योजना है। जो की पेंशन फण्ड नियामक और विकास प्राधिकरण (Pension Fund Regulatory and Development Authority (PFRDA)) द्वारा संचालित की जाती है।

ICICI बैंक ने PFRDA से गठबंधन कर सभी पेंशन संबंधित सेवाएं प्रदान करने का जिम्मा उठाया है।

इस योजना का सबसे बड़ा लाभ असंगठित क्षेत्रों में काम करने वालों को मिलेगा। इस योजना के अंतर्गत निवेश करने पर रिटायरमेंट के बाद आपको एक नियमित आय मिलने लगती है। यह योजना 2015 में शुरू हुई थी।

इस योजना का सबसे बड़ा फायदा ये है की अगर आपकी असामयिक मृत्यु हो जाती है तो आपके निवेश का फायदा आपके परिवार को मिलता।

अगर पति/पत्नी की मृत्यु भी हो जाए तो भी तो भी पेंशन योजना का लाभ उनके बच्चों को मिलता है।

आपको केवल कुछ सालों तक ही इस योजना में निवेश करना होता है।

अटल पेंशन योजना क्या है, आइये इस योजना के बारे में हम विस्तार से जानते हैं:

अटल पेंशन योजना किस के लिए है तथा क्या इसके लिए क्या पात्रता होना आवश्यक है:



यह योजना हर भारतीय के लिए है। इसमें कोई भी वह भारतीय नागरिक निवेश कर सकता है जो की इनकम टैक्स के स्लैब से बाहर हैं।

सरल शब्दों में कहें तो ये योजना उन भारतीय नागरिकों के लिए है जिनकी तनख्वाह कम है और जो आयकर नहीं भरते हैं।

इसमें निवेश प्रारम्भ करने के लिए सबसे बड़ी ज़रूरत है एक बैंक-खाते की।

इस योजना का लाभ लेने के लिए यह आवश्यक है कि आपके पास एक बैंक खाता हो। खाते का आधार कार्ड से जुड़ा होना भी अनिवार्य है।

अटल पेंशन योजना(APY) में निवेश करने के प्रक्रिया सरल है।

निम्न पात्रता होना आवश्यक है:

  • इस योजना के लिए आयु सीमा है 18 से 40 साल।
  • इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए आपको कम से कम 20 साल तक निवेश करना होता है।
  • आपके पास एक वैध मोबाइल नंबर होना चाहिए।
  • भारतीय नागरिक होना चाहिए।
  • बैंक खाता होना चाहिए तथा बैंक खाता आधार से भी जुदा होना चाहिए।




नोट: अगर कोई पहले से ही स्वावलंबन योजना का फायदा उठा रहा है तो उसे स्वचालित रूप से अटल पेंशन योजना का लाभ मिलने लगेगा।

अटल पेंशन योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

APY का लाभ प्राप्त करने के लिए निम्नलिखित बिन्दुओं का ध्यान रखें:

  • भारत के सभी राष्ट्रीय कृत बैंक इस योजना के अंतर्गत पंजीकरण करने के लिए मदद करते हैं। अटल पेंशन योजना अकाउंट खोने के लिए आप किसी भी बैंक में जा कर वहां आवेदन कर सकते हैं।
  • अटल पेंशन योजना का फॉर्म ऑनलाइन और सभी बैंकों में मौजूद रहता है। आप इसे इन दोनों ही स्तोत्रों से प्राप्त कर सकते हैं।
  • अटल पेंशन योजना का फॉर्म बहुत सी भाषाओं में उपलब्ध रहता है जैसे – बँगला, गुजरती, कन्नड़, मराठी, हिंदी, ओडिया, तमिल आदि।
  • फॉर्म भरकर आपको बैंक में जमा कराना होता है।
  • अगर आपने पहले से ही बैंक में एक वैध मोबाइल नंबर रजिस्टर नहीं करा रखा हो तो आपको एक मोबाइल नंबर भी रजिस्टर कराना होता है।
  • अपने आधार कार्ड की फोटो भी जमा करानी होती है।




जब आपका आवेदन-पात्र सरका द्वारा पारित हो जाता है तो आपको अपने मोबाइल पर एक पुष्टीकरण सन्देश मिल जाता है।

इस प्रकार पुष्टीकरण होने के पश्चात आप इस योजना में निवेश करना प्रारम्भ कर सकते हैं।

अटल पेंशन योजना में कितना निवेश करना होगा?

मासिक रूप से आपको इस योजना में उतना निवेश करना होता है जितनी राशि आप रिटायरमेंट के बाद हर महीने चाहते हैं।

निवेश का मासिक मूल्य इस बात पर निर्भर करता है कि आपने किस उम्र में निवेश करना प्रारम्भ किया है।

आपको यह स्पष्ट रूप से बता दें की इस योजना में निवेश करने के बाद आपको 1000 से 5000 रूपए हर महीने तक की ही पेंशन प्राप्त हो सकती है और इससे ज्यादा नहीं।

उदाहरण के लिए, अगर आप 18 साल की उम्र में निवेश प्रारम्भ करते हैं और करीबन 3000 रुपए की मासिक पेंशन चाहिए

और जब आप 42 साल तक निवेश कर रहें हैं तो आपको हर मास में करीबन 126 रुपए जमा कराने होंगे।

इसी प्रकार अगर आप 25 साल की उम्र में निवेश करना प्रारम्भ करते हैं तो आपको 226 रूपए प्रति माह निवेश करना होगा।

अटल पेंशन योजना से जुड़े कुछ मुख्य बिंदु:

क्योंकि आपको सामयिक भुगतान करना होता है इसलिए आपके खाते से एक निश्चित समय पर निश्चित राशि काट ली जाती है और ये प्रक्रिया स्वचालित ही होती है।

बस आपको यह सुनिश्चित करना होता है कि आपके खाते में एक निश्चित राशि उपलब्ध रहे ताकि समय पर किश्त का भुगतान हो सके।

अगर आप चाहें तो कभी भी आप किश्तों की राशि बढ़ा और घटा सकते हैं।

आपको इसके लिए बैंक में जा कर बैंक मैनेजर से बात करनी होती है।और फिर जो वो कहे उस अनुसार करना होता है।

अगर आप अपनी मासिक राशि का भुगतान समय पर नहीं करते हैं तो आप पर एक निश्चित राशि के दंड का भुगतान भी करना होता है।

अगर आप लगातार छ: महीने तक किश्त नहीं देते हैं तो आपके खाते को पर रोक लगा दी जाती है।

अगर 12 महीने तक आप किश्त नहीं भरते हैं तो खाता बंद कर दिया जाता है और बची हुई राशि का भुगतान ग्राहक को कर दिया जाता है।

किसी भी कारण आप समय से पहले आप अपना पैसा इस योजना से नहीं निकाल सकते हैं

दो ही कारण हैं जिसके कारण ग्राहक को पैसा पहले मिल सकता है और वो कारण है या तो मृत्यु या कोई जानलेवा बीमारी।

अगर आप किसी भी कारण से 60 की उम्र से पहले योजना बंद कर देते हैं, तो आपको अपनी भुगतान की हुई राशि और उस पर कमाया गया ब्याज ही वापस मिल सकता है, पर किसी प्रकार की पेंशन नहीं

किसी भी प्रकार के सरकारी लाभ या ब्याज की हिस्सेदारी आपको नहीं मिलती

अब आपको स्पष्ट हो ही गया होगा की यह योजना सिर्फ उन लोगों के लिए है जो आयकर के दायरे में नहीं आते हैं।

इस योजना का ज़्यादा से ज्यादा लाभ उठाने के लिए आपको इस योजना में जल्द-से-जल्द निवेश प्रारम्भ कर देना चाहिए।



18 साल की ही उम्र में अगर कोई निवेश प्रारम्भ कर देता है तो उसे कम राशि का भुगतान करके ज़्यादा फायदा प्राप्त होता है।

हमारी आपको यही सलाह है की इसमें जल्द-से-जल्द निवेश कर इसका ज़्यादा से ज्यादा लाभ उठाएं।

आयकर भरने वाले लोग यह याद रखें की ये योजना उनके लिए नहीं है।

दोस्तों आज के इस पोस्ट में मैंने आपको बताया कि अटल पेंशन योजना क्या है, अटल पेंशन योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

आपको ये पोस्ट कैसा लगा आप मुझे कमेंट करके जरूर बतायें।

Related posts:

आयुष्मान भारत योजना क्या है, आयुष्मान भारत योजना का लाभ कैसे लें ?

डिजिटल इंडिया प्रोग्राम क्या है, डिजिटल इंडिया प्रोग्राम का क्या उद्देश्य है?

प्रधानमंत्री आवास योजना से साकार करें अपना घर का सपना

जानिए प्रधानमंत्री कुशल विकास योजना क्या है -पूरी जानकारी

प्रधानमंत्री की टॉप 10 योजना



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *