Terms and Conditions क्या होता है, और इसका का क्या महत्त्व होता है?

दोस्तों क्या आपने terms and conditions शब्द का नाम पहले सुना है। दोस्तों जब भी कोई भी सर्विस या प्रोडक्ट कही से खरीदते है, तो सर्विस या प्रोडक्ट बेचने वाला उस सर्विस या प्रोडक्ट के ऊपर terms and conditions रखता है। जैसेकि एक बार सेल किया प्रोडक्ट वापिस नहीं लिया जायेगा इत्यादि। आइये इस पोस्ट के जरिये डिटेल्स में जानते है कि Terms and Conditions क्या होता है, और Terms and Conditions का क्या महत्त्व होता है?

Terms and Conditions क्या होता है:

Terms and Conditions या शर्तों और नियमों को सेवा की शर्तों के रूप में भी जाना जाता है, ओर इसका आमतौर संक्षिप्त रूप है, TOS or ToS, ToU or T&C। सेवा की शर्तें यह सर्विस प्रोवायडर (a service provider) और उस व्यक्ति (युजर / ग्राहक) के बीच कानूनी समझौते हैं जो उस सेवा का उपयोग करना चाहते हैं।

दिये जाने वाली या प्रस्तावित सेवा का उपयोग करणे के लिए उस व्यक्ति (युजर) को सेवा की शर्तों का पालन करने के लिए सहमत होना चाहिए।

सेवा की शर्तें भी केवल एक अस्वीकरण (disclaimer) हो सकती हैं, खासकर वेबसाइटों के उपयोग के बारे में।

कोई भी ऐसी एक सेवा या सर्विस जो वैध सेवा का अनुबंध कानूनी रूप से बाध्यकारी है, उसमे समय-समय पर परिवर्तन हो सकता है, जिसे वेब साईट पर अपलोड करते रहना पडता है।

कभी-कभी कंपनियाँ सेवा से इनकार करके एक तरफा शर्तों को लागू कर सकती हैं। इससे ग्राहक को नुकसान हो सकता है। उस स्थिति में ग्राहक मुकदमा या मध्यस्थता का मामला दर्ज कर सकते हैं, यदि वे यह सिद्ध कर सकते हैं कि शर्तों का उल्लंघन करके वास्तव में उन्हें नुकसान पहुंचाया गया था।

कॉर्पोरेट परिवर्तनों के दौरान डेटा अनुचित तरीके से स्थानांतरित किए होने का खतरा बढ़ जाता है, जिससे कॉरपोरेट परिवर्तन, खरीद, डाउनसाइज़िंग आदि हो सकता है।

Affidavit क्या होता है और Affidavit का क्या महत्त्व होता है?

हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में क्या अंतर होता है?

सेवा अनुबंध की शर्तों के मुद्दे (Issues of Terms of Service Agreement):

सेवा अनुबंध की शर्तों में आमतौर पर निम्नलिखित विषयों में से एक या अधिक से सम्बंधित मुद्दे होते हैं:

  • मुख्य शब्दों और वाक्यों की स्पष्ट रूप से परिभाषा
  • उपभोक्ता के अधिकार और जिम्मेदारियाँ
  • उचित या अपेक्षित उपयोग; दुरुपयोग की परिभाषा
  • ऑनलाइन कार्य, व्यवहार और आचरण के लिए जवाबदेही
  • पर्सनल डाटा के उपयोग की रूपरेखा के गोपनीयता की संदर्भ नीति
  • सदस्यता या सदस्यता शुल्क इत्यादि का भुगतान विवरण
  • Account समाप्ति की सुनियोजित प्रक्रिया का वर्णन करने वाली ऑप्ट-आउट नीति (opt-out policy) 
  • विवाद के समाधान की प्रक्रिया का विवरण देना और अदालत में दावा करने के लिए सीमित अधिकार
  • उपभोक्ता द्वारा किए गए नुकसान के लिए कानूनी देयता(liability) को स्पष्ट करने की/ देयता की अस्वीकृति / का सीमा का वेबसाईट पर स्पष्ट रूप से वर्णन
  • यदि किसी टर्म को संशोधित / बदल दिया गया है तो है, तो शब्दों के संशोधन पर यूजर नोटिफिकेशन

सार्वजनिक जागरूकता (Public awareness):

सेवा की शर्तें परिवर्तनशील हैं और हर सेवा के स्वरूप में वह अलग-अलग होती है। इसलिए इस तरह के भिन्न टर्म्स को स्पष्ट करने हेतू सार्वजनिक जागरूकता बढ़ाने के लिए कई चीजे की जाती है, जिसमे शामिल है:

    • पिछली शर्तों की उपलब्धता
    • उपयोगकर्ता / ग्राहक द्वारा खाता या सेवा को रद्द करना
    • उपयोगकर्ता सामग्री पर कॉपीराइट लाइसेंस की उपलब्धता
    • डेटा ट्रैकिंग की पॉलिसी और ऑप्ट-आउट उपलब्धता
    • अकाउंट या कंटेंट के खिलाफ दावों के लिए क्षतिपूर्ति(compensation) या क्षतिपूर्ति का करार(Compensation agreement)
    • अगर दिए गए शर्तों में बदलाव करना है तो उसके पहले ग्राहक को नोटिफिकेशन देना और उससे फीडबैक लेना
    • व्यक्तिगत डेटा को सरकार या तीसरे पक्ष को साझा करने की अनुरोधों की नोटिफिकेशन
    • कंपनी के विलय (merger) या अधिग्रहण (acquisition) की स्थिति में सूचना हस्तांतरण (information transfer) से पहले की नोटिफिकेशन
    • छद्म नाम भत्ता (Pseudonym allowance) 
    • सहजता से पढ़े जाने वाली भाषा का इस्तेमाल
    • अस्थायी जतन किये गए (temporary shelves) पहले और तीसरे पार्टी कुकीज़ (cookies) 
    • सुरक्षा मामलों में पारदर्शिता
    • सरकार या कानून प्रवर्तन अनुरोधों पर सामग्री हटाने के लिए पारदर्शिता

Terms and Conditions क्या महत्त्व है:

आज के कॉम्पुटर के युग में सभी कामकाज वेबसाईट के द्वारा किये जा रहे है। ज्यादातर ऑनलाइन सेर्विसेस सेवा अनुबंध (Service Agreement) की शर्तें मुख्य रूप से उन कंपनियों द्वारा कानूनी उद्देश्यों के लिए उपयोग की जाती हैं। जो सॉफ्टवेयर या सेवाएँ प्रदान करती हैं, जैसे web browser, e-commerce, web search engine, social media and transport services आदि।

वेबसाईट मे Terms and Conditions का  महत्त्व निम्नलिखित है:

आपत्तिजनक भाषा के प्रयोग को रोखना:

नियम और शर्तें आपके और आपके users के बीच में कानूनी रूप से बाध्य अनुबंध के रूप में कार्य करती हैं।

यह वह समझौता है जो उन नियमों और दिशानिर्देशों को निर्धारित करता है जिन्हें उपयोगकर्ताओं को आपकी वेबसाइट या मोबाइल ऐप का सही तरह से उपयोग करने के लिए सहमत करता है।

इसमें दी गयी शर्तो में गोपनीयता नीति अनुबंध users को सूचित करता है कि आप किस प्रकार का डेटा एकत्र करते हैं। और आप उस डेटा का उपयोग कैसे कर रहे हैं।

इसमें आप उन नियमों और दिशानिर्देशों को निर्धारित और सूचित कर सकते है कि यदि-यदि ग्राहक आपकी वेबसाइट या मोबाइल ऐप का दुरुपयोग कर रहे हों, तो उसका अंजाम क्या होता है।

आप अस्थाई तोर पर ऐसे यूजर का अकाउंट प्रतिबंधित (account restricted) भी कर सकते है।

उदहारण के तौर पर कोई यूजर अन्य यूजर को स्पैम करता है, या ऐसी सामग्री पोस्ट करता है। जिससे किसी की मानहानि हो, तो आप उसपर क़ानूनी करवाई कर सकते है, ये शर्त रख सकते है।

यदि आपकी वेबसाइट या मोबाइल ऐप user द्वारा बनाई गई सामग्री को होस्ट करता है, तो आप उस user को सूचित करने के लिए नियम और शर्तों में एक खंड शामिल कर सकते हैं कि हानिकारक या अपमानकारक भाषा को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

अपनी खुद की सामग्री का स्वामित्व:

आप अपने वेबसाइट के प्रतीक, चिन्ह, लिखी गयी सामग्री के स्वामी, वेबसाइट का डिज़ाइन उपयोगकर्ता-रचित सामग्री को छोड़कर(excluding user-created content)  वेबसाइट का डिज़ाइन आदि के पूर्ण रूप से मालिक होते है।

नियम और शर्तों में, यह आप ही आपके उपयोगकर्ताओं को सूचित कर सकते हैं कि आप ऐसी सामग्री के मालिक हैं (जैसा कि ऊपर उल्लेख किया गया है) और यह सामग्री अंतर्राष्ट्रीय कॉपीराइट कानूनों द्वारा सुरक्षित है।

ऐसी धारा (clause) को ही बौद्धिक संपदा अधिकार (intellectual property right) कहते है।

एकाउंट्स बर्खास्तगी (Accounts dismissal):

अगर कोई यूजर आपत्तिजनक भाषा का लगातार प्रयोग करता है। और बार-बार समझाने पर भी मानता नहीं तो यह clause आपको यह अधिकार देता है कि आप उस यूजर का अकाउंट हमेशा के लिए बर्खास्त कर सकते है।

और भविष्य में उसे आपकी सर्विस देने से भी आप मना कर सकते है।

जिम्मेदारी की सीमा तय करना (Set limits of responsibility):

नियमों और शर्तों के समझौतों में आमतौर पर एक वारंटी अस्वीकरण (warranty disclaimer) शामिल होता है जो वेबसाइट के मामलों में त्रुटियों(errors) को वेबसाइट पर प्रस्तुत सामग्री में पाए जाने की सीमा को एक हद तक सीमित करता है।

इस तरह का क्लॉज users को सूचित करता है कि प्रस्तुत सामग्री में किसी भी त्रुटि के लिए, या किसी भी उद्देश्य के लिए सटीक, पूर्ण या उपयुक्त होने के लिए वेबसाइट के मालिक को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *