Banking

NBFC क्या होती है और यह कैसे काम करती है?

NBFC क्या होती है और यह कैसे काम करती है

NBFC क्या होती है और यह कैसे काम करती है? अब तो आपके सारे काम घर बैठे बैठे ही हो जाते हैं। एक समय था कि आपको Cylinders के लिए भी लाइन लगानी पड़ती थी लेकिन अब तो बस एक Missed call देनी होती है और Cylinder आपके घर आ जाता है। ठीक ऐसा ही कुछ हमारे Banking sector में भी हुआ है।

अब आपको Bank में जाने की भी ज़रूरत नहीं होती है। Banks से जुड़े सारे काम आपके बिना Bank गए और बिना Bank में लाइन लगाए ही हो जाते हैं। 

पहले तो अगर आपको Bank से Loan भी चाहिए होता था, तो भी आपके लिए एक बड़ी समस्या हो जाती थी। रोज रोज आपको Bank के चक्कर लगाने पड़ते थे। Bank जा जाकर आपकी चप्पलें घिस जाती थीं लेकिन आपका Loan sanction नहीं होता था। अब वक़्त के साथ काफी बदलाव आ गया है। आजकल तो आपके पास बहुत सारी Private कंपनियां भी मौजूद हैं जो आपको Loan देने का काम करती हैं।

आज हम इन्हीं Private कंपनियों के बारे में आपसे बात करने जा रहे हैं। पहले लोगों को Loan लेने के लिए जिन दिक्कतों का सामना करना पड़ता था, उन्हें अब वो दिक्कतें नहीं झेलनी पड़ती हैं क्योंकि अब तमाम Private companies मौजूद हैं जो उचित ब्याज दरों पर आपको Loan देने का काम करती हैं।

अब बिना Bank की मार झेले ही आपका काम हो जाता है और इस तरह के Firms को ही NBFC बोला जाता है। ये कुछ और नहीं बल्कि Bank की तरह ही काम करने वाली Financial कंपनियां होती हैं। इन कंपनियों का काम होता है पैसों का लेन देन करना। लेकिन हां ये जो कंपनियां होती हैं ये Bank से बिल्कुल अलग होती हैं। एक तरह से आप इन्हें Bank का हिस्सा भी कह सकते हैं अगर चाहें तो।

NBFC दरअसल यूं ही आपको लोन नहीं दे देती है। बल्कि ये जमा योजना के तहत काम करती है और ये पहले ही लोगों से पैसा जमा करवा लेती है। इसके बाद ये लोगों को अलग अलग प्रकार के शरण प्रदान करने का काम करती है।

जिन लोगों को NBFC से लाभ लेना होता है, उन लोगों को सबसे पहले इसमें  Investment करना होता है। बिना Investment के आपको Loan नहीं मिलता है। जब आप इसमें निवेश कर देते हैं उसके बाद ये कंपनियां आपकी ज़रूरत के हिसाब से आपकी मदद करती है।

आज हम आप सभी को इन्हीं कंपनियों के बारे में बताने जा रहे हैं। इस Article में हम आपको बताएंगे कि NBFC होती क्या हैं और ये किस तरह से काम करती हैं।

इस Content को पढ़ने के बाद आप पूरी तरह से इन कंपनियों के बारे में समझ जाएंगे। तो फिर चलिए बिना देर किए इनके बारे में जानना शुरू करते हैं।

NBFC का Full form क्या होता है?

दोस्तों इसके बारे में जानने से पहले हमें इसके Full form को जान लेना चाहिए। NBFC का जो Full form होता है वो Non banking financial companies होता है। हिंदी में इन्हें गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनी के नाम से जाना जाता है। ये कोई Bank नहीं होती है बल्कि एक Private संस्था होती है। इसका काम होता है लोगों को वित्तीय सहायता प्रदान करना।

NBFC क्या होती है?

ये क्या होती हैं, इसको जानने से पहले हम ये जान लेते हैं कि ये क्या नहीं होती हैं। दोस्तों ये Bank नहीं होती है। ये दरअसल एक Private संस्था होती है। इनका काम होता है लोगों को छोटी छोटी आर्थिक सहायता प्रदान करना या फिर लोगों को Loan प्रदान करना।

इस तरह की कंपनियां उधार देकर अपना Business चलाती हैं। यानी कि पहले तो ये ज़रूरतमंद लोगों को उधार देती हैं और फिर उनसे दी गयी राशि को ब्याज लगाकर वापस वसूलती हैं। बस इसी तरह से इनका Loan देने का Process चलता रहता है। जो Loan देने के बाद पैसे कंपनी को वापस मिलते हैं, ये कंपनियां उन्हें फिर अलग अलग Fields में Invest कर देती हैं।

ये कंपनियां  Debentures, companies stocks, government bonds, other securities आदि में पैसों को Invest करती हैं। इसके बाद यहां से ये Returns प्राप्त करती हैं और अपनी संस्था को चलाती हैं।

हमने आपको पहले ही बताया है कि ये कोई Bank नहीं होती है। इसीलिए ये उन क्षेत्रों में अपना पैर पसारती है जहां पर Bank की पकड़ बहुत कमज़ोर होती है।

ये ज्यादातर उन क्षेत्रों में Established होती है जहां पर लोग Bank से Loan की सुविधा नहीं प्राप्त कर पाते है या फिर उन्हें किसी भी अन्य प्रकार की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। ऐसी जगहों पर NBFC अपना काम करना शुरू करती है।

ये लोगों की मदद करती है और उन्हें सुविधा प्रदान करने का काम करती है। हालांकि ऐसा नहीं है कि ये फ्री में ये काम करती है। बल्कि ये उचित ब्याज दर पर आप सभी को सुविधा मुहैया कराने का काम करती है।

NBFC companies act 1956 क्या है?

दोस्तों इसको भी जानना बहुत आवश्यक है। जितनी भी NBFC होती हैं उनका जो Registrstion है वो Company act 1956 के तहत ही किया जाता है। असल मे ये पूर्ण रूप से कोई Bank नहीं होता है।

ये केवल एक Private संस्था होती है जिसका उद्देश्य आगे चलकर के एक Bank बनने का होता है। अगर कोई भी Private कंपनी Bank के सभी Terms and conditions को Fulfil कर लेती है तो आगे चलकर वो किसी एक Bank के रूप में Establish भी हो सकती है। इसी मकसद को लेकर ही ये Private कंपनियां काम करती रहती हैं।

NBFC कंपनी के Types क्या क्या हैं?

आप सभी ने ये तो जान ही लिया कि ये होती क्या हैं, चलिए अब जानते हैं कि इनके Types क्या क्या हैं। दोस्तों ये अपनी Work capacity के हिसाब से अलग अलग तरह की होती हैं जिनमें से कुछ निम्न हैं-

◆ Micro finance कंपनी– ये ऐसी प्राइवेट कंपनियां होती हैं जो बहुत ही छोटे छोटे उद्योगों को Loan देने का काम करती हैं। इनके तहत एमएसएमई को Loan दिया जाता है। EMI के लिए ये आपकी मदद करती हैं और भी जो छोटे मोटे Finance आपको करने होते हैं, उसमें ये आपको सहायता प्रदान करने का काम करती हैं।

◆ Infrastructure NBFC कंपनी– इसके तो आप नाम से ही समझ सकते हैं कि ये किस तरीके का काम करती है। इसके तहत Infrastructure development के Loan प्रदान किया जाता है या फिर उधार के तौर पर आर्थिक तौर पर मदद प्रदान की जाती है।

◆ Investment NBFC कंपनी– अगर आप Investor हैं और आप किसी भी Bond अथवा Stock market में कोई भी आर्थिक सहायता की उम्मीद करते हैं, तो Investment NBFC कंपनी आपके सहायता प्रदान करने का काम कर सकती है। इस तरह की कंपनियां आपसे आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए थोड़ा सा ब्याज वसूलती हैं।

◆ Mortgage finance NBFC कंपनी– ये भी एक तरह से Investment NBFC कंपनी की तरह ही है। अगर आप किसी Bond में Invest करते हैं या फिर किसी Bond में Investment करने के लिए आप किसी भी प्रकार के Loan की उम्मीद रखते हैं तो ऐसी कंपनियां आपको Loan या Finance की सुविधा प्रदान करती हैं। इन कंपनियों की मदद से आपका काम आसान हो जाता है।

◆ Assets finance NBFC कंपनी– जो लोग कोई भी Asset लेते हैं जैसे कि कह लीजिए कोई जमीन, सोना चांदी इत्यादि, उन्हें पैसों को ज़रूरत तो होती ही है। बिना पैसों के कहां आप कुछ खरीद सकते हैं। ऐसे में Asset को लेने के लिए आपको Assets finance NBFC कंपनी Loan मुहैया करवाती है। या फिर आप EMI पर भी कंपनी की मदद से कोई भी सामान खरीद सकते हैं। बाद में धीरे धीरे आप उन्हें पैसे देते रहिए।

◆ Housing finance NBFC कंपनी- जो भी Housing finance कंपनियां होती हैं या फिर जो बीएससी कंपनी होती है, उन सभी का काम होता है घरेलू कार्यों के लिए Loan या फिर उधार प्रदान करना। जो लोग घर बनवा रहे होते हैं या फिर कुछ भी घर से सम्बन्धित कार्य कर रहे होते हैं, वो लोग Housing finance NBFC कंपनियों की मदद लेकर अपनी पैसों की Tension को कम करने का काम करते हैं।

NBFC कंपनियों का क्या महत्व है?

चलिए दोस्तों अब इसके महत्व के बारे में जान लेते हैं। ये जो NBFC कंपनियां होती हैं ये भले ही Bank न हों लेकिन ये पूरी तरह से Bank के पद चिन्हों पर चलती हैं। आखिर इनका उद्देश्य भी तो होता है न आगे चलकर खुद को एक Bank के रूप में स्थापित करना।

ये महज एक Private संस्था होती हैं जो सरकारी अधिनियम के अंतर्गत रहकर ही काम करती हैं। इसके साथ ही अगर ये Bank की सारी शर्तों को पूरा कर लेती हैं तो यह Bank भी बन सकती हैं। 

अगर बात की जाए इसके महत्व की तो Indian economy में और आज के समय मे छोटे छोटे लघु उद्योगों के लिए ये काफी ज्यादा महत्वपूर्ण है। ये जितनी भी NBFC है वो Banks से Fund लेती हैं और उसके बाद उन Funds से ही लोगों को Loan देने का काम करती हैं।

जो Loan ये प्रदान करती हैं, उसके बदले में ये लोगों से अच्छा खासा ब्याज वसूलती हैं। आज के समय में लोग Bank से Loan न लेकर इन्हीं कंपनियों पर निर्भर हैं। जिसकी वजह से Economy में ये काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही हैं।

NBFC के चलते ही Indian government ने छोटे छोटे लघु उद्यमी वर्ग को कम Guarantee के तहत अच्छा Loan प्रदान करने के लिए मुद्रा योजना को संचालित करने की व्यवस्था की है। इससे छोटे छोटे जो लघु उद्योग हैं वो अपने Business को आगे ले जा पाएंगे। इसीलिए धीरे धीरे Indian economy में सुधार होगा और सभी को लाभ मिल सकेगा।


इसे भी पढ़ें :

Popular Buy now and Pay Later apps


NBFC के क्या कार्य हैं?

यह पूरी तरह से Bank तो होती नहीं हैं इसीलिए ये Bank की कुछ ही Services आपको प्रदान करती हैं। इनके द्वारा जो काम किया जाता है वो निम्न है-

◆ Micro and MSME finance की सुविधा– अब कोई छोटे उद्योगों के लिए सरकारी Bank जाएगा तो ये भी तो सही नहीं होगा। और न ही सरकारी Bank छोटे उद्योगों को Loan देने का काम ही करते हैं। ऐसे में MSME और Micro sector को Loan देने का काम NBFC करती है। भारत की अर्थव्यवस्था में ये एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और NBFC इन्हें कम Guarantee के तहत Payment loan के रूप में देने का काम करते हैं। ये छोटे Business को आर्थिक सहायता प्रदान करने का काम करते हैं।

◆ Assets management company की सुविधा- इन कंपनियों की मदद से आप Share market में Investment कर सकते हैं। ये कंपनियां आपको Loan देने या ऋण देने का काम करती हैं। फिर आप उनको Share market में लगाकर अच्छे पैसे कमा सकते हैं। खुद भी ये जो कंपनियां होती हैं वो पैसों को Share market या Bond में लगाती है। इसके बाद ये उन्हें Manage करती हैं और उन पर जो लाभ इन्हें मिलता है ये उसे जमा राशि के ऊपर ब्याज के तौर पर लगा देती हैं।

◆ Infrastructure funding की सुविधा– NBFC के लिए ये एक विस्तार क्षेत्र है Investment करने के लिए। इसके नाम से ही आपको Clear हो जाता है कि ये Field infrastructure से जुड़ी हुई है। इसमें कंपनी सड़कों के निर्माण में या फिर Business में सहायता प्रदान करती है।

◆ Trade finance की सुविधा– ये जो Non banking कंपनियां होती हैं ये छोटे छोटे Distributors और Dealers के साथ में काम करती है। ये इसीलिए उनके साथ मे काम करती हैं ताकि Valuation और Working capital को बढ़ाया जा सके। इसके साथ ही ये अन्य Finance के लिए पूंजी जुटाने के लिए भी काम करती हैं।

◆ Retail finance functions की सुविधा– इसके तहत Assets आते हैं जैसे सोना चांदी, जमीन आदि। इनके लिए भी ये कंपनियां आर्थिक सहायता प्रदान करती हैं और लोगों को Loan देने का काम करती हैं।

◆ Hire purchasing finance की सुविधा- इसको आप EMI की तरह भी समझ सकते हैं। इसके तहत दरअसल इसमें होता क्या है कि वस्तु का मालिक आपकी किसी भी वस्तु की खरीद पर आपको उसका मालिकाना हक नहीं प्रदान करता है। बल्कि आपसे उसके लिए Installments लिए जाते हैं।

आप छोटे छोटे Installments में जब सारा Payment कर देते हैं तो उसके बाद वस्तु का मालिक आपको वस्तु का मालिकाना हक प्रदान कर देता है। 

NBFC कंपनियों के क्या फायदे हैं?

दोस्तों Bank से तो आप सभी परिचित ही हैं, जो ये NBFC होते हैं ये छोटी जगहों पर जैसे गांवों या कस्बों में Establish किये जाते हैं। ये वहां पर लोगों की मदद करते हैं। इनका काम Banks से थोड़ा सा Fast और आसान होता है। इसके जो फायदे हैं वो निम्न हैं-

◆ इससे ज़रूरतमंद लोगों को बहुत ज्यादा फायदा होता है क्योंकि ये कम Guarantee में बहुत ही आसानी से Loan प्रदान कर देते हैं।

◆ जिन लोगों का CIBIL score बहुत ज्यादा कम होता है, ऐसे लोगों को NBFC loan और Credit देने का काम करती है।

◆ NBFC मुख्यतः छोटी छोटी जगहों पर अपना Business start करती है जिससे ज्यादा से ज्यादा और छोटे Business वाले लाभान्वित हो सकें।

◆ आज अपने देश में Finance की जो स्थिति है वो इसी NBFC की वजह से काफी बेहतर हुई है वरना पहले कोई भी Loan और EMI लेने में ज्यादा विश्वास नहीं करता था।

◆ अब तो लगभग सभी NBFC कंपनियां आधुनिक Payments methods को Use करती हैं। सभी Online payment system को प्राथमिकता भी देते हैं। साथ ही साथ ये Digital payment को बढ़ावा भी देती हैं ताकि ये और भी Fast और Secure हो सकें।

◆ अब लगभग हर कोई इन कंपनियों के साथ जुड़ता जा रहा है और अपना पैसा इन कंपनियों में जमा कर रहा है। ये NBFC कंपनियां लोगों को बेहतर Payment service प्रदान करती हैं।

NBFC कंपनियों से क्या हानि है?

ये तो आप सभी को पता ही है कि हर चीज़ के दो पहलू होते हैं। पहला अच्छा और दूसरा बुरा। ऐसे ही NBFC से भी कुछ हानियां है जो कि निम्न हैं-

◆ अभी कुछ ही ऐसी NBFC कंपनियां हैं जो Users के द्वारा जमा राशि को स्वीकार करती हैं। बाकी NBFC कंपनियां जमा राशि को स्वीकार नहीं करती हैं।

◆ ये कोई Bank तो होते नहीं हैं, इसीलिए ये किसी भी तरह के Cheque या फिर Cheque बुक को जारी नहीं करते हैं।

 ◆ इनके Bank न होने की वजह से एक यह भी दिक्कत रहती है कि ये बस Payment को Regulate करते हैं। ये किसी भी तरह के Payment settlement का हिस्सा नहीं होते हैं।

 ◆ इनकी सारी Problem इनके Bank न होने को लेकर ही है। ये Bank नहीं होते हैं इसीलिए इनके Transactions में अक्सर दिक्कत आती रहती है। कई जगहों पर तो इनके द्वारा किए गए Transactions मान्य भी नहीं होते हैं।

 ◆ NBFC से लोगों को Loan तो बेहद आसानी से मिल ही जाता है। लेकिन अक्सर क्या होता है कि Loan पर लगने वाली जो ब्याज दर होती है वो सरकारी Bank से ज्यादा होती है। जिसकी वजह से यह आपके लिए फायदे का सौदा नहीं होता है।

NBFC कंपनी की क्या भूमिका है?

इसका काम तो आप सभी ने देख ही लिया कि ये किन क्षेत्रों में किस तरह से काम करती है। चलिए अब जानते हैं कि इसकी क्या भूमिका है। इसकी जो भूमिका है वो निम्न है-

◆ ये ऐसी कंपनियां हैं जो आपकी पूंजी को बढ़ाने में अपना सहयोग और योगदान देती हैं।

◆ NBFC कंपनियां Infrastructure और Transport को Develop करने में भी अपना सहयोग प्रदान करती हैं।

◆ ये ऐसी जगह में अपना Business start करती हैं जहां पर जल्दी कोई Bank loan नही देते हैं। आसान भाषा में कहें अगर तो के छोटी छोटी जगहों पर लोगों की मदद करती हैं। इससे छोटे कस्बों में रोजगार के अवसर बढ़ जाते हैं।

◆ इससे सरकारी आमदनी में भी इजाफा होता है। असल में ये आम लोगों को Loan प्रदान करती हैं फिर उनसे अच्छा खासा ब्याज वसूलती हैं। जिसके चलते फिर ये कंपनियां Tax भी समय पर Pay करते है। इससे सरकारी आमदनी भी बढ़ जाती है।

◆ जो भी Sector पैसों से बहुत ज्यादा कमज़ोर होते हैं। ये कंपनियां उन Sectors को Loan देने का काम करती हैं। उन Sectors को ये आर्थिक सहायता प्रदान करके उन्हें मजबूत बनाती हैं और इससे भारत के आर्थिक विकास को मदद मिलती है।

दोस्तों तो ये थी NBFC से जुड़ी सारी जानकारी। अब तो आप इस Non banking कंपनी के बारे में सब कुछ जान ही गए होंगे। साथ ही आप ये भी जान गए होंगे कि ये कंपनियां किस तरह से काम करती हैं।

ये Bank तो नहीं होती हैं लेकिन ये किसी Bank से कम नहीं होती हैं। ये लोगों को आर्थिक रूप से सहायता प्रदान करने का काम करती हैं।

ये इस उद्देश्य से काम करती हैं कि आगे चलकर ये Bank की सारी Terms and conditions को पूरा करके खुद को एक Bank के रूप में Convert कर लेंगी।

सम्बंधित लेख :

About author

Articles

मैं अपने इस ब्लॉग पे इंटरनेट, मोबाइल, कंप्यूटर कैर्रिएर से रिलेटेड आर्टिकल पोस्ट करता हु और ये उम्मीद करता हूँ कि ये आपके लिए सहायक हो। अगर आपको मेरा आर्टिकल पसंद आये तो आप इसे लाइक ,कमेंट अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे और आपको मुझे कोई भी सुझाव देना है तो आप मुझे ईमेल भी कर सकते है। मेरा ईमेल एड्रेस है – hindipost.net@gmail.com.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!