Connect with us

Banking

जानिए सेविंग और करंट बैंक अकाउंट में क्या अंतर है

Published

on

दोस्तों आज की तारीख में लगभग हम सभी के पास बैंक अकाउंट है।

आज के इस पोस्ट में मैं आपको सेविंग और करंट बैंक अकाउंट के सुबिधाओ के बारे में बात करने वाला हु।

सेविंग अकाउंट (Saving Account)

दोस्तों सेविंग बैंक अकाउंट को बिशेष रूप से पैसे सेव करने के लिए बनाया गया है।

जिसमे आप अपनी सेविंग को जमा करके उन पैसो पे 4-6% ब्याज भी कमा सकते है।

यह सेविंग कोई भी ओपन कर सकता है, लेकिन इसकी कुछ शर्ते है:

Transaction limitation

सेविंग बैंक अकाउंट में आपको कुछ फ्री ट्रांजक्शन की लिमिट मिलता है, जिसके बाद बैंक आपसे हर ट्रांजक्शन पे कुछ चार्ज लगाया जायेगा।

अगर आप एक सेविंग बैंक अकाउंट होल्डर है, तो बार बार बैंक में जाके पैसे नहीं निकाल सकते।

इसके लिए आप ATM (एटीएम) या Debit Card (डेबिट कार्ड) क्या यूज कर सकते है।

Account maintenance

इस अकाउंट में आपको कुछ Minimum Balance (मिनिमम बैलेंस) रखना पड़ता है जोकि हर बैंक का अलग होता है।

Minimum Balance अकाउंट में नहीं रखने पर इसका चार्ज लगता है। जोकि पैसा जमा करने पर काट लिया जाता है।

जैसेकि अगर मैं Private Banks (प्राइवेट बैंको) की बात करू तो इसमें Minimum balance 5000 से लेकर 10000 रुपए तक होता है।

लेकिन Cooperative और Government Banks में Minimum balance 500 से लेकर 3000 तक ही होता है।

ये बैलेंस मेन्टेन न करने पर आपके बैंक अकाउंट में इसका चार्ज लगता है।

Account opeing fee

दोस्तों अगर आप सेविंग अकाउंट किसी भी Private Banks में ओपन कर रहे हो, तो इसका फीस 5000 से 10000 तक हो सकती है। वही Cooperative और Government Banks में 1000 से लेकर 3000 तक होता है।

Document

पैन कार्ड, आधार कार्ड,  फोटो।

करंट अकाउंट ( Current Account):

करंट अकाउंट ओपन करने के लिए आपके पास कोई बिज़नेस होना जरूरी है।

इसलिए इस अकाउंट को बिज़नेस अकाउंट के नाम से भी जाना जाता है।

इस अकाउंट में आपको कोई भी ब्याज नहीं मिलता है।

Transaction limitation

करंट अकाउंट में  आप महीने में कितनी बार भी Transaction कर सकते है।

Account maintenance

करंट अकाउंट में Minimum Balance maintainace का कोई भी शर्त नहीं होता।

इसलिए जीरो बैलेंस में ये अकाउंट एक्टिव रहता है।

Account Opening Fee

अगर आप करंट अकाउंट Private Banks में ओपन करते है, तो इसका चार्ज 10000 से लेकर 30000 तक या ज्यादा भी हो सकता है और में करंट अकाउंट Cooperative और Government Banks में ओपन करने का चार्ज 5000 से लेकर 20000 या ज्यादा भी हो सकता है।

Doument

  •   पैन कार्ड
  •   अगर पार्टनरशिप कंपनी है, तो पार्टनरशिप डीड।
  •   अगर कोई प्राइवेट लिमिटेड कंपनी है, तो फिर इनकारपोरेशन सर्टिफिकेट।
  •    बैंक चेक
  •    कंपनी के सभी पार्टनर/या डायरेक्टर के एड्रेस प्रूफ, आईडी प्रूफ, फोटो।
  •    और कंपनी का एड्रेस प्रूफ जैसेकि रेंट एग्रीमेंट इत्यादि।

Related posts:

NEFT, RTGS और IMPS Transaction क्या होते है, और इनके Charges क्या है

 

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!