Android 9 Pie क्या है, इसमें नया फीचर क्या है?




Android 9 Pie क्या है:

Google ने अपने मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम (OS) एंड्राइड का नया संस्करण – Android 9 Pie पेश कर दिया है।

इससे पहले 2 वर्ष तक Android Pie का इस्तेमाल बीटा वर्जन के तौर पर किया किया गया था।

Android Pie बीटा टेस्ट के सफल होने के बाद ऑफिसियल वर्जन मार्किट में रिलीज़ इस वर्ष किया गया है।

Android 9 के नाम को लेकर सोशल मीडिया से लेकर न्यूज़ मीडिया तक में कई अटकले लगी हुई थी।

किसी ने कहा कि इसका नाम पेड़ा होगा, किसी ने पाइनएप्पल और किसी ने पीस्ताशिओ पर सभी को विस्मय में डालते हुए

इसका आधिकारिक नाम Google द्वारा “Pie” रखा गया जो कि एक वेस्टर्न स्वीट डिश का नाम है।

पिछले एंड्राइड वर्जन्स का नाम भी Cupcake, Eclairs, Frooyo, Gingerbread, Honeycomb, Ice Cream Sandwich, Jelly Bean, KitKat, Lollipop, Marshmallau and Naugatरखा था।

हर बार Google फीचर्स में बदलाव करते हुए इंटरफ़ेस बेहतर बनाते हुए यूज़र को अच्छे एक्सपीरियंस का तोहफा देता है।

Android 9 Pie में भी ऐसे बदलाव किये गए है।



Android 9 Pie में तीन मुख्य पहलुओं पर ध्यान दिया गया है।

यह तीन पहलू है – इंटेलिजेंस, सिम्पलिसिटी और डिजिटल वेल्बीइंग। आइये इन तीनों को डिटेल में समझे:-

इंटेलिजेंस (Intelligence):

वैसे तो इंटेलिजेंस का अर्थ हुआ बुद्धिमाक्ता लेकिन Android के सन्दर्भ में इसका कुछ अलग ही अर्थ है।

यहाँ पर कीत्रिम बुद्धिमत्ता यानी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की बात सामने आती है।

AI यानी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से आटोमेटिक ब्राइटनेस की बजाय अडाप्टिव ब्राइटनेस का उपयोग किया गया है।

जिसकी वजह से हमें खुद से स्क्रीन की ब्राइटनेस को एडजस्ट करने की आवश्यकता नहीं रह जाती है।

बल्कि स्मार्ट स्क्रीन होने के नाते एंड्राइड 9 पाई से लेस स्मार्टफोन अपनी गतिविधि से ही खुद स्क्रीन की लाइट को बढ़ा या घटा देता है।

अडाप्टिव स्क्रीन की तरह अडाप्टिव बैटरी फ़ोन की हाई या लो एक्टिविटी के चलते खुद ही न चलने वाले एप्स को रोक देता और इस तरह बैटरी बैकअप रह जाता है ताकि आप आपने फ़ोन को अधिक समय तक इस्तेमाल में रख सके।

App slices फीचर की तहत आपको सिर्फ सर्च सजेस्ट ही नहीं करेगा बल्कि आपको उस App में एक्शन भी दिखलाएगा।

सिम्पलिसिटी (Simplicity):





Android 9 Pie वास्तव में मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम्स में सबसे सबसे सिंपल OS माना गया है जो सिम्पलिसिटी के प्रिंसिपल पर काम करता है।

यह Rotation Confirmation feature सोते हुए फ़ोन चलाने वाले खासकर लेट नाईट वर्क करने वाले प्रोफेशनल्स के लिए है। यदि कोई सोकर फ़ोन चलाता है और फिर फ़ोन को Tilt करने की कोशिश करते है, तो Landscape mode से Portrait mode में तब्दील होगा ही नहीं क्योंकि तब auto-rotate ऑप्शन बंद रह जायेगा।

न्यू सिस्टम नेविगेशन फीचर आपको एक अलग ही तरह का अनुभव प्रदान करता है। 

इस फीचर के अंतगर्त आपको Gesture control का ऑप्शन मिलता है। जिसमे आपको एक होम बटन मिलता है multitasking हेतु।

नोटिफिकेशन पैनल सारे नोटिफिकेशन्स को एक सुचारु रूप में लाने का काम करता है

इसमें नए डिज़ाइन वाले पैनल सभी आइकन्स गोल आकार में देखने को मिलते है जिससे यूज़र को उन्हें पहचानना और भी आसान हो जायेगा

इसी प्रकार सेटिंग्स भी काफी कलरफुल है और यहाँ गोल और रंगीन डिज़ाइन की वजह से यूज़र को अच्छा आई टू स्क्रीन एक्सपीरियंस मिलता है

स्मार्ट टेक्स्ट सिलेक्शन  सिम्पलिसिटी पहलू का सबसे ज़रूरी फीचर है, जहाँ Android Oreio की तरह सर्च सुझाव सूची दिखाई देती है ताकि यूज़र की सहायता की जा सके।

जैसे – आपने टाइप किया “मूवी” तो सुझाव सूची में रिव्यू, थिएटर्स आदि अपने आप दिखाई देने लगते है।

डिजिटल वेल्बीइंग (Digital wellbeing):

Digital wellbeing यूज़र की समय की कदर करते हुए यह बतलाता है कि उसने एक विशेष ऐप को यूज़ करते हुए समय की कितनी खपत करी

इससे आप एक particular app में टाइम भी सेट कर सकते जिससे यदि आप एक विशेष अवधि के लिए ही उस ऐप को यूज़ करना चाहे तो बेहिचक कर सकते है

App का टाइम पूरा होते ही वह ऑटोमेटिकली डिसएबल हो जायेगा

Android dashboard फीचर में एक on-screen dashboard के ज़रिये आपको app management का आईडिया मिल जायेगा

जैसे कि आपने कितना Ram एक app पर लगाया, एक ऐप पर कितना टाइम बिताया

और साथ कितना इंटरनेट डाटा आपके पास इस्तेमाल करने के लिए बचा है

Do not disturb (DND),  Digital Wellbeing के सबसे भरोसेमंद फीचर के तौर पर खड़ा होता है




जो DND के होते हुए भी आपको बतला देता है कि आपको कोई डिस्टर्ब कर रहा है

कोई ऐसा शख्स या संस्था जिससे आप मैसेज या कॉल के ज़रिये जुड़ना न चाह रहे हो

आपके स्मार्टफोन की स्क्रीन लाइट अपने आप ऑन हो जाएगी जब भी आप डिस्टर्ब हो रहे होंगे तो

DND होने पर भी आप डिस्टर्ब नहीं होंगे क्यूंकि स्क्रीन लाइट नहीं चलेगी

शुरुआत में Android Pie को ठंडा रिस्पांस मिला लेकिन बाद में सोनी एक्सपेरिया, हुएवाई फ्लैगशिप फ़ोन्स के ज़रिये इसने हर यूज़र तक अपनी पहुँच बनाई है

6 मई को इसका लेटेस्ट वर्जन 9.0.0 रिलीज़ किया गया था

Google Android 9 Pie अगले दशक का नया एक्टिव  Android OS सिस्टम बनेगा |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *