सोशल मीडिया क्या है, सोशल मीडिया के फायदे और नुकसान





आइये विस्तार में जानते है कि सोशल मीडिया क्या है, सोशल मीडिया के फायदे और नुकसान क्या है ?

इस दुनिया के केवल कुछ प्रतिशत लोग ही हैं जो सोशल मीडिया के बारे में कुछ नहीं जानते।

उसके अलावा कुछ जानते तो हैं पर सोशल मीडिया साइट्स का ज़्यादा उपयोग नहीं करते।

पर ज़्यादा जनसंख्या उन लोगों की है जो सोशल मीडिया के बारे में जानते भी हैं और उसका प्रयोग भी करते हैं।

सोशल मीडिया साइट्स का उपयोग जहाँ आज एक तरफ दोस्तों और जानकारों से जुड़े रहने के लिए होता है, वहीं दूसरी तरफ इसका उपयोग मार्केटिंग और व्यापार बढ़ाने के लिए भी किया जाता है।

सोशल मीडिया उपयोग के अपने फायदे और नुकसान है।



इसका उपयोग किस प्रकार किया जाता है इस बात पर ही इसके फायदे और नुकसान निर्भर करते हैं।

जहाँ एक तरफ इसकी वजह से लोगों का मन बहलाना आसान हो रहा है, वहीं दूसरी ओर उनके मन से खेलना भी आसान हो रहा है।

सोशल मीडिया का इस्तेमाल अगर सावधानी और सतर्कता से हो तो ये एक वरदान है और अगर मूर्खता पूर्वक हो तो अभिशाप।

आइये जानते हैं सोशल मीडिया से जुड़े कुछ फायदे और नुकसान के बारे में।

इससे आपको ये स्पष्ट हो जाएगा की इससे जुड़े कौन से पहलू हैं जिनका प्रयोग आप अपनी बेहतरी के लिए कर सकते हैं।

और ऐसे कौन से पहलू हैं जिनके प्रति आपको सतर्क रहना ज़रूरी है।

सोशल मीडिया के फायदे और नुकसान:

सूचना का प्रसारण:





फायदा: सोशल मीडिया सूचना का प्रसार बहुत ही त्वरित गति से करता है।

जितनी तेजी से, सोशल मीडिया पर किसी सूचना का विस्तार करना संभव है, उतना किसी भी और माध्यम के द्वारा संभव नहीं।

यहाँ तक कि कुछ अन्य साधन तो ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए सोशल मीडिया पर ही निर्भर करते हैं।

नुकसान: सोशल मीडिया के द्वारा झूठी और ग़लत सूचना का प्रचार भी बहुत त्वरित गति से होता है, जिससे की लोगों को भ्रमित और गुमराह करना बहुत आसान होता है।

इसके कारण कईं बार लोगों को अपने जीवन में एक बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ी है।

निजता और सुरक्षा:

फायदा: मुजरिमों और षड्यंत्रकारियों को पकड़ने के लिए क़ानून सम्बंधित संस्थाएँ और भारतीय सुरक्षा एजेंसीज सोशल मीडिया का बखूबी उपयोग करती हैं।

ऐसा माना जाता है कि सोशल मीडिया साईट जुर्म को साबित करने में बहुत मददगार होती हैं और केस का जल्द निपटारा करने में भी मदद करती है।

नुकसान: सोशल मीडिया निजता का उल्लंघन करती है और उपयोगकर्ताओं की निजी सूचनाओं को, अनैतिक रूप से, सरकारी संस्थाओं तथा अन्य कॉर्पोरेट संस्थाओं को उपलब्ध कराती है।

सोशल मीडिया साइट्स की प्राइवेसी सेटिंग को जांचना बहुत अनिवार्य है।

पर कुछ लोग अपनी अज्ञानता की कारण, अपनी सभी सूचनाओं को सुरक्षित नहीं रख पाते जिसके कारण उसका ग़लत प्रयोग भी किया जा सकता।

सोशल मीडिया साइट्स निजता का ध्यान पूर्ण रूप से नहीं रख पाती।

पढ़ाई और सफलता के लिए:





फायदा: सोशल मीडिया साइट्स बच्चों की मदद करती हैं ताकि वे स्कूल या कॉलेज में बेहतर प्रदर्शन कर सकें।

आज बहुत से बच्चे सोशल मीडिया का उपयोग किसी टॉपिक को समझने में या उस पर चर्चा करने के लिए करते हैं।

सोशल मीडिया साइट्स पर पढ़ाई से जुड़ा एक बहुत बड़ा डाटाबेस मौजूद है जो की विद्यार्थियों द्वारा कभी भी प्रयोग में लिया जा सकता है।

इस डेटाबेस में लिखित, ऑडियो, विडियो आदि बहुत-सी सामग्री मौजूद है जिसके द्वारा किसी भी टॉपिक को बहुत अच्छे से समझा जा सकता है।

सोशल मीडिया साइट्स विद्यार्थियों को एक दूसरे से जुड़े रहने में, तथा सूचनाओं और सामग्री के आदान-प्रदान में बहुत मदद करती है।

नुकसान: विद्यार्थी अगर सोशल मीडिया का उपयोग उचित तरीके से नहीं करते तो उनका प्रदर्शन खराब भी हो सकता है।

ऐसा देखा गया है कि जो सोशल मीडिया का बहुत उपयोग करते हैं उनके परीक्षा में कम अंक आते हैं।

ऐसा इसलिए नहीं की सोशल मीडिया पर ग़लत सामग्री है, बल्कि ऐसा इसलिए है कि वह सोशल मीडिया का उपयोग सही तरीके से नहीं करते और दोस्तों से बात-चीत या अन्य बेकार की चीज़ों में उलझ कर अपना समय व्यर्थ कर देते हैं।

सामजिक सम्बंधन बनाने और सुधारने के लिए:





फायदा: सोशल मीडिया साइट्स सामाजिक सम्बंधों को स्थापित करने के क्षेत्र में अव्वल है।

सोशल मीडिया साइट्स जहाँ एक और नए सम्बन्ध स्थापित करने में मदद करती है, वहीं दूसरी और सम्बंधों को सुधारने में भी सहयोग देता है।

आज फेसबुक और व्हाट्सअप्प के द्वारा कितने पुराने दोस्तों से लोगों को जुड़ने में मदद मिली है।

आजकल लोग सोशल मीडिया के द्वारा ही एक दूसरे से बातचीत करते हैं।

इससे खर्चा भी कम होता है और आदमी अपनी सहूलियत के अनुसार बात कर पाता है।

इसके कारण सब आपस में एक दूसरे से ज़्यादा जुड़े हुए महसूस करते हैं और ये भी जान पाते हैं कि एक दूसरे की ज़िन्दगी में क्या चल रहा है, वह भी बिना उन्हें परेशान किये।

नुकसान: सोशल मीडिया के कारण लोग तनाव का सामना कर रहे हैं और वास्तव सम्बंधों में दूरियाँ भी महसूस कर रहे हैं।

सोशल मीडिया की कारण कईं दोस्तों और रिश्तेदारों के बीच झगडा हो जाता है। ऐसा देखा गया है कि जो लोग सोशल मीडिया पर अच्छे सम्बन्ध बनाते हैं वह वास्तव में सम्बन्ध अच्छे से नहीं बना पाते।

ऐसा इसलिए है कि वह उन गुणों को जान और समझ नहीं पाते जिनकी आवश्यकता वास्तव में सम्बंधों को बनाये रखने के लिए होती है।

लोग सोशल मीडिया साइट्स पर आने वाली फोटोज और वीडियोज़ को देख ऐसा महसूस करने लगते हैं, जैसे उनकी ज़िन्दगी इतनी बेहतर नहीं है जितनी की दूसरों की या उनके दोस्त और रिश्तेदारों की है।

इसके कारण वह अपरोक्ष रूप से अपने जीवन में तनाव महसूस करते हैं।

उन्हें एक हताशा और निराशा-सी घेर लेती है और उन्हें पता भी नहीं चलता।

नौकरी ढूँढने के लिए:





फायदा: आजकल बहुत-सी कंपनियाँ उचित कर्मचारी ढूँढने के लिए सोशल मीडिया साइट्स का उपयोग करती हैं।

LinkedIn, फेसबुक और ट्विटर, सोशल साइट्स में नौकरी ढूँढने के सन्दर्भ में, शीर्ष स्थान पर हैं।

सोशल मीडिया साइट्स, नौकरी-प्रदाता कंपनी और नौकरी खोजने वाले व्यक्तियों दोनों के लिए ही बहुत उपयोगी है।

अगर आपकी सोशल मीडिया साइट्स पर अच्छी प्रोफाइल है तो आपको अच्छी नौकरी मिलने की संभावना और बढ़ जाती है।

नुकसान: सोशल मीडिया का उपयोग नौकरी की स्थिरता पर भी विपरीत प्रभाव डाल सकता है और किसी व्यक्ति की रोज़गार की संभावनाओं को भी कम कर सकता है।

नौकरी-प्रदाता कंपनियाँ आजकल अपने भावी-कर्मचारी की प्रोफाइल को बहुत गंभीरता से जांचते हैं।

आपकी गालियाँ बकने की आदत, आपकी लेखन पर पकड़, आपका रुझान आदि सभी चीज़ें कंपनी आपको जॉब देने से पहले ही जांच लेती है।

अगर आपकी सोशल मीडिया साईट पर प्रोफाइल खराब है या आपकी ग़लत छवि है, तो कंपनी आपको नौकरी देने से इनकार भी कर सकती है।

और भविष्य में नौकरी मिलने की संभावना पर भी विपरीत प्रभाव डाल सकती है।



उपरोक्त चर्चित बिंदु सोशल मीडिया से जुड़े केवल कुछ चुनिन्दा पहलुओं पर ही प्रकाश डाल रहे हैं।

बहुत से पहलू हैं जिनको समझना और जानना अनिवार्य है (अगर आप सोशल मीडिया का उपयोग करते हैं) ।

उनके बारे में हम बाद में चर्चा करेंगे। बस आप इतना समझ लें की सोशल मीडिया के फायदे और नुक्सान, उसे उपयोग में लेने के तरीके पर निर्भर करते हैं।

इसी के चलते, किसी के लिए सोशल मीडिया वरदान बना तो किसी के लिए अभिशाप।

इसका इस्तेमाल थोड़ी सतर्कता से और ज़िम्मेदारी से करें तो आप को सोशल मीडिया से बहुत फायदा हो सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *