Internet

Internet आपको कौन कौन सी सुविधाएं देता है?

Internet आपको कौन कौन सी सुविधाएं देता है?

आज के समय की अगर बात की जाए तो बिना Internet के हम लोग का जीवन ही संभव नही  है। सब कुछ इसी से है। Internet आपको कौन कौन सी सुविधाएं देता है? आज हम बात करेंगे इन्ही सब के बारे में –

हम जितना ज्यादा Digital होते जाएंगे उतना ही ज्यादा हम इस पर निर्भर होते जाएंगे।

पहले एक जमाना था कि लोग Internet के बारे में बिल्कुल नहीं जानते थे और न ही इसका कोई इस्तेमाल करता था मगर आज तो घर घर Internet है मगर तब भी इसके बारे में बहुत ही कम लोग ढंग से जानते हैं।

बच्चे से लेकर बूढों तक आज शायद ही कोई ऐसा बचा हुआ हो जो इससे दूर हो। छोटा सा बच्चा जो मोबाइल में Cartoon देखता है न वो भी इसकी बदौलत ही ऐसा कर पाता है।

कोई बुजुर्ग व्यक्ति जो मोबाइल में किसी भी समय सत्संग या भजन सुन पाता है वो भी इसी की देन है।

अभी हम आपको एक ऐसा उदाहरण देंगे जिससे आप सब Relate करेंगे और आप सबको हंसी भी आएगी। अब हर घर डॉक्टर ज़रूर मिल जाएगा ये भी तो Internet की ही देन है दोस्तों।

लोगों ने Youtube खोला और तमाम तरह की दवाइयां और नुस्खे देखकर घर मे बताना शुरू कर दिया। इसी से तो हर घर डॉक्टर की कमी नहीं रही अब। अब हंसी मजाक से अलग हटकर बात करते हैं।

आप लोग ही ये बताइए कि आप मे से ऐसे कितने लोग हैं जिन्हें Internet के बारे में अच्छे से पता है कि ये क्या है इसकी उतपत्ति कैसे हुई वगेरह वगेरह। एक दो लोग मुश्किल से है न?

यही कारण है कि आज हमें ये Article लिखना पड़ा। इस Article से आज हम आप सबको बताएंगे कि क्या है आप सबका प्यारा Internet और इसकी वजह से आपकी ज़िंदगी मे कौन कौन सी चीज़ें आसान हो गयी हैं।

आइये फिर शुरू करते हैं जानना इसके बारे में और इसकी Services के बारे में।

क्या है Internet?

ये एक बहुत ही बड़ा Network का जाल है। ये एक Global computer network होता है। यहां पर बहुत सारे Network एक दूसरे से जुड़े हुए रहते हैं।

ये Global होता है इसीलिए इसमें सारी ही जानकारी होती है। ये एक तरह से Communication का काम करता है।

ये एक बहुत बड़ा Network का जाल होता है, ये सारे Interconnected networks एक दूसरे से जुड़े रहने के लिए Standardized communication protocols का इस्तेमाल करते हैं। 

ये जो Network का जाल होता है न इसे हम Media या फिर कभी कभी Transmission media भी कह देते हैं। ये जाल कुछ और नहीं बल्कि Wires होते हैं तथा इन से ही Information और जो भी Data होता है वो Globally घूमता रहता है।

अब आप सब सोच रहे होंगे कि ये Data और Information क्या होते हैं? जो भी कुछ आप किसी भी Browser में जाकर Search करते हैं फिर चाहे वो कोई Text हो, Audio file हो या फिर Video हो वो सब Data ही तो है।

जो Data और Information होते हैं ये Router और Server के जरिए ही Internet में आते जाते हैं। यही वो चीज़ है जो दुनिया के सारे Computers को आपस मे Connect करके रखती है।

दोस्तों जब कोई भी Information एक Computer से दूसरे Computer में जाती है तो वहां पर एक Protocol काम कर रहा होता है। इसी Protocol को हम लोग Internet protocol के नाम से भी जानते हैं।

अगर बात करें Protocol की तो इसका मतलब होता है Internet को चलाने के नियम से तथा इनको Programming language में लिखा जाता है।

Internet की Full form क्या है? 

दोस्तों इसकी Full form है Interconnected networks, अब इसके नाम से आप इसको आसानी से समझ सकते हैं।

ये World wide सभी Web servers का एक बहुत ही बड़ा Network होता है। इसीलिए कई जगहों पर इसको Web या फिर World wide web के नाम से भी जाना जाता है।

इसको Network of networks भी कहते हैं। इसमें दुनियाभर के तमाम Private और Public organizations के, Schools एवं कॉलेज के, Hospital एवं Research centers आदि के Servers शामिल होते हैं।

Internet की खोज किसने की?

अब आप सब इसके बारे में तो जान ही चुके हैं। तो इतने बड़े Network को Create करना क्या किसी एक इंसान के बस के बात है? बिल्कुल भी नहीं।

इसको किसी व्यक्ति ने Develop नहीं किया है। बल्कि इसे बनाने में तमाम वैज्ञानिकों तथा Engineers का दिमाग लगा था।

1957 में जब Cold war हो रहा था उस समय अमेरिका ने ARPA (Advanced research projects agency) की स्थापना की थी।

इस Agency का Aim ही था एक ऐसी Technology को लाना जिससे एक Computer को दूसरे Computer के साथ आसानी से Connect किया जा सके।

इसी Agency ने अपनी स्थापना होने के 12 साल बाद 1969 में ARPANET की स्थापना की थी। इससे किसी भी Computer को दूसरे Computer के साथ Connect किया जा सकता था।

फिर धीरे धीरे वक़्त बीतता गया और 1980 तक आते आते इसी का नाम Internet में परिवर्तित हो गया। इसी बीच 1970 मे Vinton cerf तथा Robert kahn ने TCP/IP protocol को Invent किया था। तथा 1972 में Ray tomlinson ने Email network को विकसित किया।

Internet की शुरुआत कब हुई? 

इसकी शुरुआत दोस्तों तब से मानी जाती है जब इसको ARPANET ने Adopt किया था।

ARPANET ने TCP/IP को 1 जनवरी, 1983 में Adopt किया था और तभी से Internet की शुरुआत मानी जाती है। उस समय इसको Network of networks के नाम से जाना जाता था।

भारत मे Internet की शुरुआत कब हुई?

भारत में तो इसको आने में काफी समय लग गया। भारत मे ये  14 अगस्त 1995 को Launch किया गया और तब से ये लोगों के इस्तेमाल करने लायक बनाया गया। इसको Videsh sanchar nigam limited द्वारा Launch किया गया था।

Internet के फायदे क्या हैं?

ये जानना हम सभी के लिए बहुत ज्यादा जरूरी है क्योंकि किसी भी चीज़ को इस्तेमाल करने से पहले उसके फायदों के बारे में हमें ज़रूर पता होना चाहिए।

इसके जो फायदे हैं वो निम्न हैं –

◆ इसकी वजह से आज जमाना Paperless हो गया। आज अगर आप कोई भी Document publish करना चाहते हैं तो आपको Paper work नहीं करना पड़ता है। बस एक Click की देरी रहती है और काम चुटकियों में हो जाता है।

◆ आप कहीं भी किसी से भी आसानी से Contact कर सकते हैं। फिर चाहे आप दुनिया के किसी भी कोने में क्यों न रह रहे हों।

◆ आज Banking sector में Low cost high internet की speed की वजह से इसका बहुत ज्यादा इस्तेमाल होने लगा है तथा ये काम को बहुत आसान भी कर देता है।

◆ ये Companies के लिए एक Resource के तौर पर काम करता है। इससे बड़ी बड़ी कम्पनियां Online transaction तथा Business advertisement करती हैं।

◆ आज लगभग हर कोई Video call कर पा रहा है। ये सब आपके Net के बदौलत ही तो है। अगर व्यक्ति सामने न हो फिर भी आप Video call के जरिए उसके सामने होने का अनुभव कर रहे हैं।

◆ पढ़ाई लिखाई सब कुछ आज बहुत ज्यादा आसान हो गया है तथा हर आदमी की पहुंच में है।

Internet के नुकसान क्या हैं?

जहां एक ओर इसके अनगिनत फायदे हैं वहीं दूसरी ओर इसके काफी सारे नुकसान भी हैं।

आइये एम नज़र उन पर भी डाल लेते हैं –

◆ इस पर जो भी जानकारी होती है ज़रूरी नहीं है कि सारी जानकारी सही हो। इस पर बहुत सारी Information होती है जिसकी वजह से कौन सी सही है कौन सी नहीं इसको Check नहीं किया जाता है।

◆ जो भी Message इसके जरिए आप भेजते हैं उन्हें आसानी से कोई भी चोरी कर सकता है। कभी कभी ये देश की आर्थिक स्तिथि को नुकसान पहुंचा देता है।

◆ इसकी वजह से Crime भी काफी बढ़ गया है। पहले तो Offline ही Crime होते थे लेकिन अब Crime online भी होने लगे हैं तथा लोगों के Bank details से जुड़ी चीजों को नुकसान होने लगा है।

◆ कभी कभी इस पर गलत संगठनों द्वारा जैसे आतंकवादियों द्वारा Inappropriate documents का इस्तेमाल भी किया जाता है।

◆ Computer में जो Virus आ जाते हैं उनके लिए ये सबसे ज्यादा जिम्मेदार होता है।

Internet कौन कौन सी Services हमें देता है?

आज के समय मे हर काम आप इसी की मदद से ही तो कर रहे हैं। इससे आप बहुत सारे लाभ उठा सकते हैं जैसे कि –

◆ Video conferencing – आजकल इसी के लिए तो Internet का सबसे ज्यादा इस्तेमाल हो रहा है।

Office meetings हो या फिर College seminar हर जगह Video conferencing की मदद से ही लोगों को Connect करने की कोशिश की जा रही है।

ये सच मे एक बेहतरीन सुविधा है जो हमें Net की वजह से मिल पा रही है और बहुत ही आसानी से हम दूर बैठे लोगों से Connect हो पा रहे हैं।

◆ E learning की सुविधा – जब से कोरोना आया है तब से Online classes की मांग भी बढ़ गयी है।

इसके जरिये आज Students कहीं से भी कभी भी Class ले पा रहे हैं। जहां भी किसी भी Student को Doubt रहता है वो तुरंत Net के जरिये अपने Doubt को Clear कर लेता है। ये सच मे बहुत ही ही बेहतरीन Service है।

◆ E banking – इसके माध्यम से अब आप दुनियाभर में कहीं भी हों अपने Bank account को बहुत ही आसानी से Manage कर सकते हैं।

आप किसी भी Electronic device का इस्तेमाल करके किसी भी व्यक्ति को पैसे Transfer कर सकते हैं, मोबाइल Recharge कर सकते हैं, Shopping आदि कुछ भी कर सकते हैं।

◆ E shopping – Online shopping को ही दोस्तों E shopping कहा जाता है।

आज लगभग हर कोई Online shopping कर रहा है। इससे फायदा भी है कि आपको कहीं दूर Market में नहीं जाना होता है और न ही दुकानदारों से झिकझिक करनी होती है।

घर बैठे सामान आ जाता है और अगर न पसंद आए तो आप जितनी दफा चाहें उतनी दफा उसे Return और exchange कर सकते हैं।

◆ E reservation – अब तो कहीं भी जाना हो आपको तो Station पर घण्टों लाइन में लगकर Reservation नहीं करवाना होता है बल्कि आप खुद ही घर बैठे Online booking कर सकते हैं।

आप चाहें तो Movie tickets वगेरह कुछ भी Internet की मदद से बहुत ही आसानी से Book कर सकते हैं।

◆ E commerce – E commerce को Online business या फिर Internet business के नाम से जाना जाता है।

इसमें भी Fund transfer आता है। इसमें आप कैसे Business को Maintain करते हैं तथा Business relation बनाए रखते हैं ये भी आता है।

◆ Social networking – आजकल इसी के लिए तो Internet सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जा रहा है।

इसके बिना तो मानो Net ही अधूरा है। ये एक समय मे कई लोगों को एक साथ जोड़ने का काम करता है। बहुत ही आसानी से आप यहां पर अन्य व्यक्तियों के साथ Connect हो सकते हैं।

आज तो ढेर सारे Social media apps मौजूद हैं जिनके इस्तेमाल से आप दूसरों से आसानी से जुड़ सकते हैं।

◆ Chatting – भला इसकी क्या ही बात करनी। आज के समय मे Chatting कौन नहीं जान रहा है।

छोटे छोटे बच्चे भी आजकल Chatting को अच्छे से जान रहे हैं। किसी से बात करने के लिए जो आप Messaging का इस्तेमाल करते हैं न उसी को Chatting कहा जाता है जिसे आजकल हर कोई इस्तेमाल कर रहा है।

◆ Email – इसकी मदद से आप बहुत ही आसानी से किसी को भी Electronic message कर सकते हैं। मगर हां इसके लिए ज़रूरी है कि आपके पास एक Email address हो।

Email address आप किसी भी Platform से आसानी से बना सकते हैं। इसकी मदद से आप किसी से भी Mail प्राप्त कर सकते हैं और भेज भी सकते हैं।

Internet की विशेषता;-

ये बहुत सारे छोटे छोटे टुकड़ों से मिलकर बना हुआ है। जैसे –

World wide web 13 मार्च 1989 में इसको Develop किया गया था। इसमें जो भी Documents होते हैं वो HTML में Formatted होते हैं।

इसके साथ ही ये Audio, video तथा Graphics file को भी Support करते हैं।

Web page Web page बहुत सारे Computer documents से मिलकर बना हुआ होता है। ये जो Documents होते हैं ये HTML में लिखे हुए होते हैं।

इन्हें Web browser द्वारा प्रदर्शित किया जाता है। Web page भी 2 तरह के होते हैं। पहला Static web page तथा दूसरा Dynamic web page

Website Website अनेक Web page का Collection होता है। इसमें सभी Web page एक दूसरे से Hyperlink द्वारा जुड़े रहते हैं। किसी भी Blog का जो पहला Page होता है वो Home page कहलाता है।

Web browser ये एक Software application है। इसका इस्तेमाल मुख्यतः WWW content को खोजने के लिए किया जाता है।

Web browser भी 2 तरह के होते हैं। पहला Text web browser और दूसरा Graphical web browser

Blogs इसका मतलब एक Web page या Website होता है। इसमें किसी एक  व्यक्ति विशेष की राय दूसरी Site की Link नियमित रूप आए Record होती है। इसमें Image, text, audio से जुड़े Media links होते हैं।

Search engine ये Internet पर किसी भी विषय के बारे में जानकारी लेने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। एक तरह से ये Website का ही काम करती है।

इसमें आप Search bar में उस Topic को लिखते हैं जिसको आपको Search करना होता है। इसके बाद आपके सामने उस Topic से जुड़ी सारी चीजें आ जाती हैं जो Net पर रहती हैं।

हम आपकी जानकारी के लिए आपको बता दें कि जो सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला Search engine है वो कोई और नहीं बल्कि हमारा आपका फेवरेट Google है।

इसके बाद नंबर आता है Yahoo search engine का। इसका भी खूब इस्तेमाल किया जाता है।

◆ Domain name – इसे User’s group से Allocate किया जाता है तथा ये Network resources का एक Group होता है।

ये Internet से जुड़े हुए Computers को पहचानने और उन्हें Locate करने में मदद करता है। ये हमेशा Unique name वाला होता है।

◆ Domain name system – ये Domain name system IP address को Translate करने का काम करता है।

Domain name system का इस्तेमाल Servers को पहचानने के लिए किया जाता है। Server की जो Addressing होती है वो Numbers based भी होती है।


इसे भी पढ़ें…


दोस्तों तो आप सब समझ ही चुके हैं कि आज के समय मे Internet हम सभी के लिए किसी भी वरदान से कम नहीं है। जो भी कुछ आज हम मोबाइल पर या फिर Computer पर करते हैं वो सब Internet की ही बदौलत है।

आज हमारे हर एक काम को इस ने बहुत ज्यादा आसान बना दिया है। कहां पहले कभी किसी ने सोचा था कि सारे काम घर बैठे ही हो जाएंगे जैसे Money transfer, reservation, classes, gaming, shopping आदि।

आज बस एक Click की देर रहती है और सारे काम झट से बहुत जल्दी आसानी से हो जाते हैं। ये बहुत ही बेहतरीन माध्यम है Communication का।

आज दुनियाभर में Internet का इस्तेमाल हो रहा है और हम विदेशों में रह रहे लोगों से भी बड़ी आसानी से इसके जरिए Connect हो पा रहे हैं।

अब अगर आपको बिना Net के ज़िंदगी की कल्पना करने को कहा जाए तो शायद आप जीने के बारे में सोच ही न सके।

एक बार को व्यक्ति खाना पीना भूल सकता है मगर मोबाइल के Internet के लिए Recharge करवाना बिल्कुल भी नहीं भूल सकता। तो अब आप समझ ही सकते हैं कि इसकी क्या एहमियत है हम सबके जीवन में।

About author

Articles

मैं अपने इस ब्लॉग पे इंटरनेट, मोबाइल, कंप्यूटर कैर्रिएर से रिलेटेड आर्टिकल पोस्ट करता हु और ये उम्मीद करता हूँ कि ये आपके लिए सहायक हो। अगर आपको मेरा आर्टिकल पसंद आये तो आप इसे लाइक ,कमेंट अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे और आपको मुझे कोई भी सुझाव देना है तो आप मुझे ईमेल भी कर सकते है। मेरा ईमेल एड्रेस है – hindipost.net@gmail.com.
Related posts
Android

WiFi क्या होता है, WiFi कैसे काम करता है?

WiFi क्या होता है, WiFi कैसे काम करता है? किस…
Read more
AndroidComputerComputer Securityकंप्यूटर

VPN क्या है और VPN कैसे काम करता है?

दोस्तों क्या आपने पहले कभी VPN के बारे…
Read more
AndroidComputerInternet

IP Address क्या होता है, IP Address का क्या यूज होता है

दोस्तों क्या आप जानते है की IP Address क्या…
Read more

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!