खुद से बिज़नेस प्लान कैसे बनाये- How to plan your own business?





खुद से बिज़नेस प्लान कैसे बनाये- How to plan your own business?

खुद का बिज़नेस कर रहे हैं तो उसके लिए एक उचित योजना का होना भी अत्यंत आवश्यक हैं। बहुत से लोग बिज़नेस करने में तो सक्षम हैं लेकिन कैसे उसे एक योजना के अनुसार चलाना हैं तथा उसके लिए क्या करना होता हैं यह पता नहीं होता। इसके लिए हम इस आर्टिकल के द्वारा आपको बताएँगे की खुद से बिज़नेस प्लान कैसे बनाये- How to plan your own business.

खुद से बिज़नेस प्लान कैसे बनाये:

तो आइये जानते हैं ऐसा क्या-क्या होना चाहिए आपके प्लान में जिससे आप अपने बिज़नेस को आसानी से run कर सकते हैं।

Related posts:

एक सफल बिज़नसमैन कैसे बने?

अपना बिज़नेस कैसे स्टार्ट करें

बिज़नेस फ्रैंचाइज़ क्या होता है, बिज़नेस फ्रैंचाइज़ कैसे लें?

Executive Summary:





बिज़नेस प्लान बनाने का पहला स्टेप यह हैं की आप अपने पुरे बिज़नेस का संक्षेप में वर्णन करे जिसे “Executive Summary” कहा जाता हैं।

इसमें आप लिखे की आपका पूरा बिज़नेस क्या हैं, आप अपने बिज़नेस से अपने customers के लिए क्या करने वाले हैं।

आपके बिज़नेस का मूल उद्देश्य क्या हैं,आपका बिज़नेस किस तरह ओरो से अलग हैं यह भी आप इसमें लिख सकते हैं ।

इसमें आप अपने बिज़नेस के बारे में लिख सकते हैं साथ ही साथ यह भी वर्णन कर सकते हैं की आप अपने इस व्यापार से लोगों को कैसी सर्विस देना चाहते हैं, प्रोडक्ट्स में क्या-क्या मौजूद हैं और आपके प्रोडक्ट्स की खासियत क्या-क्या हैं।

Company Description :

बिज़नेस प्लान बनाते समय अपने कंपनी को विस्तार से बताना सबसे अहम् बात हैं।

इसमें आप अपने कंपनी का नाम, आपकी Business Entity कैसी हैं यह भी आपको लिखना आवश्यक हैं अथवा कंपनी organized हैं या unorganized.




इसमें आप लिख सकते हैं की आपके कंपनी का Mission statement, vision statement, कंपनी का tag line क्या हैं।

इसके अलावा आप कंपनी से जुड़े कई अन्य बातों को भी यहाँ विस्तार रूप से वर्णन कर सकते हैं |

Industry Analysis:

बिज़नेस प्लान लिखने का अगला स्टेप हैं Industry Analysis जिसमें आप अपने बिज़नेस में किस इंडस्ट्री से जुड़े हुए हैं उसके बारे में लिखना हैं।

जैसे की आपके इंडस्ट्री का विवरण, आपके इंडस्ट्री का आकार एवं क्षेत्र, आपके इंडस्ट्री की प्रवृति अब तक क्या थी और अभी क्या हैं ये सब वर्णन आप इसमें कर सकते हैं।

Industry Analysis में Porter’s Five Force Analysis आप कर सकते हैं जोकि एक framework हैं जिसमें आप अपने कंपनी के competitive environment को जान सकेंगे।

Target Market:





इसमें आपको लिखना हैं की आपके बिज़नेस के लिए target customers कौन- कौन हैं?

उदहारण के तौर पर हो सकता हैं आपने अपने बिज़नेस के लिए सभी तरह के customers को target किया हो।

अगर आपने सभी उम्र के customers को target किया हैं तो आपके सभी उम्र के customers के लिए strategy अलग-अलग होनी चाहिए जोकि आप इसमें लिख सकते हैं।

Competition:

आप जिस भी इंडस्ट्री में आपने बिज़नेस की शुरुवात करना चाह रहे हैं उस स्थान पर उस इंडस्ट्री से जुड़े और कई लोग आपके competition में होंगे जिसे आप analysis कर सकते हैं।

इस analysis को करने से आप अपने competitor’s के strength तथा weakness को आसानी से जान पाएंगे जोकि आपके लिए जानना जरुरी हैं।

SWOT Analysis:

बिज़नेस प्लान बनाते वक़्त SWOT Analysis करना बेहद जरुरी हैं क्योकि इस analysis से कंपनी के strength, weakness, opportunities तथा threats के बारे में पता चलता हैं।

SWOT Analysis एक Tool हैं जिसके रहने से आप कंपनी के चार महत्वपूर्ण हिस्सों को आसानी से जान पाएंगे और उसके ही आधार पर अपने कंपनी का growth कर पाएंगे।

Market Plan and Sales Strategy:





किस भी बिज़नेस का मुख्य आधार होता हैं sales, जिसके लिए आपकी strategy भी वैसे ही होनी चाहिएगे।

इसमें आप उन sales strategy को लिखेंगे जिससे आपके बिज़नेस में sales की बढ़ोतरी होगे।

यह प्लान पहले से ही इसलिए आवश्यक हैं क्योकि समय-समय पर आपके बिज़नेस का ग्रोथ होना अति आवश्यक हैं जोकि आपके sales strategy के ऊपर निर्भर करता हैंगे। और यह सारे strategies आपके customers पर ही आधारित होंगे गे।

Operation :

इसमें आप अपने बिज़नेस के production planning को लिखेंगे जैसे की आपका operational objectives क्या हैं, day to day production planning क्या हैं, आप किस प्रकार अपने manufacturing process को देखना चाहते हैं, इसका एक flow chart भी इस प्लान में आप दिखा सकते है।

अगर आपके बिज़नेस में किसी equipment’s का उपयोग हो रहा हैं तो आप इस प्लान में एक लिस्ट जरूर दिखा सकते हैंगे।

साथ ही साथ अपने inventory control का तथा R & D Department का विवरण भी कर सकते हैंगे।

यहाँ आप यह भी लिख सकते हैं की आप अपने बिज़नेस में quality control कैसे करेंगे, health and safety का ध्यान कैसे रखेंगे। साथ ही साथ इसके जरिये आप यह भी बता सकते हैं की main suppliers आपके कौन-कौन हैंगे।

Financial Plan:

Sales strategy तो महत्वपूर्ण हैं ही उसके साथ ही financial plan भी एक बिज़नेस में उतना ही महत्व रखता हैंगे।जरुरत पड़े तो आप अपने इस plan के लिए Chartered Accounted को जरूर रखेगे।

फिर भी मैं आपको बता दू की एक Financial Plan में Forecasted Income Statement, Forecasted Cash flow & Out Flow, Break Even Analysis तथा Forecasted Balance Sheet की जरुरत पड़ती हैं।

Management and organization :

बिज़नेस प्लानिंग में यह भी आवश्यक हैं की आपके बिज़नेस में कितने मैनेजमेंट के लोग काम करते हैं। तथा किसकी क्या पद हैं इसका विस्तार में वर्णन कर एक hierarchy भी दिखाना आवश्यक हैं।

इसके अलावा आपके organization का क्या culture हैं वह भी आप एक chart के द्वारा अपने प्लान में दिखा सकते हैं।

Developments and Milestones:

इसमें आपके भविष्य में अपने बिज़नेस को लेके क्या उदेश्य क्या रणनीतियाँ रहने वाली हैं, वह आप अपने प्लान में बता सकते हैं इसके अलावा Milestones, Future opportunities क्या-क्या हैं यह भी लिख सकते हैं |

तो यह था की आपको अपना बिज़नेस प्लान किस आधार पर बनांना हैं लेकिन इससे भी महत्वपूर्ण बात की एक प्लान को बनाने के लिए आपके बिज़नेस से सम्बंधित ही questioner तैयार करना आवश्यक हैं जिसके आधार पर ही आप अपने प्लान का analysis कर पाएंगे।

यह आर्टिकल आपको आपके बिज़नेस प्लान को लिखने में जरूर सहायक होगा जिससे आप बहुत आसानी से ही खुद का प्लान तैयार कर पाएंगे।

दोस्तों आपको यह आर्टिकल खुद से बिज़नेस प्लान कैसे बनाये- How to plan your own business, कैसा लगा आप मुझे कमेंट करके जरूर बतायें।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *