GovtKnowledge

GHMC Election क्या है?

GHMC Election क्या है?

दोस्तों आजकल GHMC सुर्खियों में काफी बना हुआ है। बहुत से ऐसे लोग हैं जिन्हें GHMC के बारे में पता नहीं है। तो आज दोस्तों हम आपको बताएंगे कि GHMC Election क्या है?

GHMC क्या है?

असल मे दोस्तों GHMC Election से जुड़ा हुआ शब्द है। GHMC यानी ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव।

नगर निगम की जिम्मेदारी होती है भवन और सड़क निर्माण की, सरकारी स्कूल, स्ट्रीट लाइट, सड़को के रख रखाव, साफ सफाई तथा कूड़े का निपटारा करने की।

इस चुनाव के माध्यम से BJP अपनी पकड़ को तेलंगाना जैसे राज्य में मजबूत करना चाह रही है।

GHMC Election में अपनी पार्टी BJP को Promote करने के लिए बहुत सारे दिग्गज नेताओं ने तेलंगाना और ग्रेटर हैदराबाद में कदम रखा। यहां तक कि BJP के भगवा के Brand Ambassador के नाम से जाने जाने वाले UP के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी बढ़ चढ़ के चुनाव प्रचार किया। 

ग्रेटर हैदराबाद में हुए इन चुनावों का शंखनाद पूरे भारत में गूंजा। देश की राजधानी दिल्ली में भी GHMC के ही चर्चे थे। ग्रेटर हैदराबाद में नगर निगम का चुनाव 1 दिसंबर को हुआ तथा इसके साथ ही इस नगर निगम को देश के सबसे बड़े नगर निगमों में गिना जाता है। ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम में 4 जिले आते हैं- हैदराबाद, रंगारेड्डी, मेडचल-मलकजगिरी और संगारेड्डी

इसके साथ ही इसमें 24 विधानसभा क्षेत्र भी शामिल हैं।  इस नगर निगम चुनाव के लिए कुल 1,122 प्रत्याशी 150 वार्डों के लिए जंग में आगे आए। इस चुनाव में BJP ने अपने 149 प्रत्याशी मैदान में उतारे हैं वहीं TRS ने 150 सीटों पर अपने प्रत्याशियों को खड़ा कर दिया है।

अगर बात करें Congress की तो Congress ने  146 सीटों पर प्रत्याशी उतारे हैं, जबकि असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के सिर्फ 51 उम्मीदवार ही चुनाव लड़ रहे हैं। इसके अलावा, टीडीपी के 106, सीपीआई के 17, सीपीएम के 12, निर्दलीय के 415 और अन्य पार्टियों से 76 प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं।

अब अगर बात करें दोस्तों 2016 के ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव के आंकड़ों की तो 2016 में TRS ने 150 वार्डों में से 99 वार्डों पर जीत का बिगुल बजाया था। दूसरी ओर असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM ने 44 वार्डों पर जीत दर्ज की थी।

अगर 2016 के चुनाव में BJP की बात करें तो BJP ने मात्र 4 वार्डों पर ही अपनी पकड़ बनाई थी और Congress तो यहां BJP से भी नीचे गई गुजरी थी। Congress ने महज़ 2 ही सीट पर जीत दर्ज की थी। इसके अलावा TDP को सिंगल सीट से ही मन को संतोष करना पड़ा था।

अब इसके बाद अगर 2018 के ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम में विधानसभा चुनाव की बात करें तो BJP को अपनी 6 सीटों से हाथ धोना पड़ा था तथा BJP अपनी 1 ही सीट बचा पाने के कामयाब हो सकी थी। वहीं TRS ने 2018 के चुनाव में दो तिहाई बहुमत हासिल की थी और अपनी जीत का बिगुल बजाया था। 

हम लोग एक नज़र 2019 के लोकसभा चुनाव पर भी डाल लेते हैं। 2019 के लोकसभा चुनाव में तेलंगाना से BJP ने बीते कुछ सालों की तुलना में बेहतर प्रदर्शन किया था मगर BJP के इस प्रदर्शन का कोई असर दिखा नहीं क्योंकि BJP को TRS से आधी ही सीटें मिल पाई थी। वहीं Congress ने भी BJP की तरह ही 2019 लोकसभा चुनाव मे प्रदर्शन किया था। 

तेलंगाना में BJP अभी भी बहुत कमजोर दिखाई देती है। ऐसे में इस बार के नगर निगम चुनाव BJP के लिए एक बहुत बड़ी चुनौती भी साबित हुए हैं।

इस बार ग्रेटर हैदराबाद में हुए नगर निगम में ये चुनाव काफी रोमांचक रहे। यहां एक के बाद एक BJP के प्रमुख नेता चुनाव प्रचार के लिए आए। देश के गृहमंत्री अमित शाह, प्रकाश जावड़ेकर, स्मृति ईरानी तथा तेजस्वी सूर्या जैसे बड़े नाम यहां पर चुनाव प्रचार के लिए आए थे।


सम्बंधित लेख :


इस चुनाव की मतगणना के लिए भी काफी जोर शोर से तैयारी गई। 8,152 कर्मचारियों को मतगणना केंद्रों पे रखा गया था तथा 30 मतगणना केंद्र भी बनाए गए थे। इसके साथ ही मतगणना केंद्रों पर CCTV से निगरानी भी रखी गई। इस बार के GHMC चुनाव सच मे काफी दिलचस्प रहे।

About author

Articles

मैं अपने इस ब्लॉग पे इंटरनेट, मोबाइल, कंप्यूटर कैर्रिएर से रिलेटेड आर्टिकल पोस्ट करता हु और ये उम्मीद करता हूँ कि ये आपके लिए सहायक हो। अगर आपको मेरा आर्टिकल पसंद आये तो आप इसे लाइक ,कमेंट अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे और आपको मुझे कोई भी सुझाव देना है तो आप मुझे ईमेल भी कर सकते है। मेरा ईमेल एड्रेस है – hindipost.net@gmail.com.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!