discoverUncategorized

G20: क्या है और कैसे हुई इसकी शुरुआत? जानिए कौन-कौन से देश हैं इसमें शामिल है

g20 kya hai

G20:क्या है?

  या ग्रुप ऑफ 20 एक अंतरराष्ट्रीय आर्थिक सहयोग मंच है जिसमें दुनिया के 20 सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाले देश शामिल हैं। जी20 का उद्देश्य वैश्विक आर्थिक स्थिरता और समृद्धि को बढ़ावा देना है। G20 के सदस्य देश दुनिया की लगभग 90% अर्थव्यवस्था का प्रतिनिधित्व करते हैं।

G20 की शुरुआत कैसे हुई?

G20की शुरुआत 1999 में जर्मनी में हुई थी। उस समय एशिया में आर्थिक संकट चल रहा था। जी20 का उद्देश्य वैश्विक आर्थिक चुनौतियों का समाधान करने के लिए देशों के बीच सहयोग को बढ़ावा देना था।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

G20 में कौन-कौन से देश शामिल हैं?

G20 में शामिल देश इस प्रकार हैं:

  • भारत
  • अमेरिका
  • चीन
  • रूस
  • ब्राजील
  • कनाडा
  • अर्जेंटीना
  • ऑस्ट्रेलिया
  • फ्रांस
  • जर्मनी
  • इंडोनेशिया
  • इटली
  • जापान
  • मेक्सिको
  • कोरिया गणराज्य
  • सऊदी अरब
  • दक्षिण अफ्रीका
  • तुर्किये
  • यूनाइटेड किंगडम
  • यूरोपीय संघ

G20 summit कैसे काम करता है?

G20 दो तरह के समानांतर ट्रैक पर काम करता है:

  • वित्त ट्रैक: वित्त ट्रैक का नेतृत्व वित्त मंत्री और केंद्रीय बैंक के गवर्नर करते हैं। यह ट्रैक वैश्विक आर्थिक स्थिरता और वित्तीय प्रणाली के लिए नीतिगत सिफारिशों पर काम करता है।
  • शेरपा ट्रैक: शेरपा ट्रैक का नेतृत्व उच्च रैंक वाले सरकारी अधिकारियों और राजनयिकों द्वारा किया जाता है। यह ट्रैक जी20 शिखर सम्मेलन के लिए एजेंडा और कार्यसूची तैयार करता है।

G20 summit शिखर सम्मेलन

G20 शिखर सम्मेलन साल में एक बार होता है। इस सम्मेलन में जी20 के सभी सदस्य देशों के राष्ट्राध्यक्ष या प्रधान मंत्री भाग लेते हैं। जी20 शिखर सम्मेलन में वैश्विक आर्थिक और राजनीतिक मुद्दों पर चर्चा होती है।

G20 शिखर सम्मेलन कहां हो रहा है 2023 मैं

G20 शिखर सम्मेलन 9 और 10 सितंबर 2023 को भारत के नई दिल्ली में आयोजित होने वाला है। यह G20 का 18वां शिखर सम्मेलन होगा।

निष्कर्ष

जी20 एक महत्वपूर्ण अंतरराष्ट्रीय आर्थिक सहयोग मंच है। यह वैश्विक आर्थिक स्थिरता और समृद्धि को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है

  • G20 का महत्व: G20 एक महत्वपूर्ण अंतरराष्ट्रीय आर्थिक सहयोग मंच है क्योंकि यह वैश्विक आर्थिक स्थिरता और समृद्धि को बढ़ावा देने के लिए देशों के बीच सहयोग को बढ़ावा देता है। G20 के सदस्य देश दुनिया की लगभग 90% अर्थव्यवस्था का प्रतिनिधित्व करते हैं, इसलिए इस मंच पर किए गए निर्णयों का वैश्विक अर्थव्यवस्था पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है।
  • G20 के मुद्दे: G20 शिखर सम्मेलन में चर्चा किए जाने वाले मुद्दों में शामिल हैं:
    • वैश्विक आर्थिक स्थिरता
    • वित्तीय प्रणाली में सुधार
    • व्यापार और निवेश
    • जलवायु परिवर्तन
    • सतत विकास
    • स्वास्थ्य
    • आतंकवाद
    • साइबर सुरक्षा
  • जी20 का प्रभाव: जी20 ने वैश्विक आर्थिक स्थिरता और समृद्धि को बढ़ावा देने के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं। उदाहरण के लिए, जी20 ने 2008-2009 के वैश्विक वित्तीय संकट के बाद वैश्विक वित्तीय प्रणाली में सुधार के लिए कई कदम उठाए। जी20 ने जलवायु परिवर्तन और सतत विकास जैसे मुद्दों पर भी महत्वपूर्ण प्रगति की है।
  • जी20 का भविष्य: जी20 एक महत्वपूर्ण अंतरराष्ट्रीय आर्थिक सहयोग मंच है और इसका भविष्य उज्ज्वल है। जी20 सदस्य देश वैश्विक आर्थिक चुनौतियों का समाधान करने के लिए और अधिक सहयोग करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। जी20 का महत्व और प्रभाव भविष्य में और बढ़ने की उम्मीद है
  • क्या जी20 एक अंतरराष्ट्रीय संगठन है?

जी20 एक अंतरराष्ट्रीय संगठन नहीं है, बल्कि एक अंतर सरकारी मंच है। इसका मतलब है कि यह किसी भी तरह के औपचारिक संरचना या ढांचे के बिना काम करता है। जी20 के सदस्य देश अपने राष्ट्रीय एजेंडे के अनुसार निर्णय लेते हैं।

  • G20 का उद्देश्य क्या है?

G20 का उद्देश्य वैश्विक आर्थिक स्थिरता और समृद्धि को बढ़ावा देना है। यह वैश्विक आर्थिक चुनौतियों का समाधान करने के लिए देशों के बीच सहयोग को बढ़ावा देता है। जी20 के सदस्य देश दुनिया की लगभग 90% अर्थव्यवस्था का प्रतिनिधित्व करते हैं, इसलिए इस मंच पर किए गए निर्णयों का वैश्विक अर्थव्यवस्था पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है।

  • G20 में कौन-कौन से देश शामिल हैं?

G20 में शामिल देश इस प्रकार हैं:

  • भारत
  • अमेरिका
  • चीन
  • रूस
  • ब्राजील
  • कनाडा
  • अर्जेंटीना
  • ऑस्ट्रेलिया
  • फ्रांस
  • जर्मनी
  • इंडोनेशिया
  • इटली
  • जापान
  • मेक्सिको
  • कोरिया गणराज्य
  • सऊदी अरब
  • दक्षिण अफ्रीका
  • तुर्किये
  • यूनाइटेड किंगडम
  • यूरोपीय संघ
  • G20 कैसे काम करता है?

जी20 दो तरह के समानांतर ट्रैक पर काम करता है:

  • वित्त ट्रैक: वित्त ट्रैक का नेतृत्व वित्त मंत्री और केंद्रीय बैंक के गवर्नर करते हैं। यह ट्रैक वैश्विक आर्थिक स्थिरता और वित्तीय प्रणाली के लिए नीतिगत सिफारिशों पर काम करता है।
  • शेरपा ट्रैक: शेरपा ट्रैक का नेतृत्व उच्च रैंक वाले सरकारी अधिकारियों और राजनयिकों द्वारा किया जाता है। यह ट्रैक जी20 शिखर सम्मेलन के लिए एजेंडा और कार्यसूची तैयार करता है।
  • जी20 शिखर सम्मेलन क्या है?

G20 शिखर सम्मेलन साल में एक बार होता है। इस सम्मेलन में जी20 के सभी सदस्य देशों के राष्ट्राध्यक्ष या प्रधान मंत्री भाग लेते हैं। जी20 शिखर सम्मेलन में वैश्विक आर्थिक और राजनीतिक मुद्दों पर चर्चा होती है।

  • G20 शिखर सम्मेलन 2023 कहाँ होगा?

G20 शिखर सम्मेलन 2023 भारत के नई दिल्ली में आयोजित होगा। यह जी20 का 18वां शिखर सम्मेलन होगा

यह भी पढ़ें

Aadhar card को 14 सितंबर तक मुफ्त में अपडेट करें?

Jio Air fiber 5G: सभी फोनों में मुफ्त 5G कनेक्टिविटी का आनंद उठाएं

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
About author

Articles

मैं अपने इस ब्लॉग पे इंटरनेट, मोबाइल, कंप्यूटर कैर्रिएर से रिलेटेड आर्टिकल पोस्ट करता हु और ये उम्मीद करता हूँ कि ये आपके लिए सहायक हो। अगर आपको मेरा आर्टिकल पसंद आये तो आप इसे लाइक ,कमेंट अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे और आपको मुझे कोई भी सुझाव देना है तो आप मुझे ईमेल भी कर सकते है। मेरा ईमेल एड्रेस है – [email protected].
error: Content is protected !!