डिजिटल मार्केटिंग क्या है, डिजिटल मार्केटिंग में करियर कैसे बनाये?

डिजिटल मार्केटिंग क्या है, डिजिटल मार्केटिंग में करियर कैसे बनाये?

आज सारा ज़माने में डिजिटल चीजों का दौर चल रहा है। हमें रोजमर्र्रा के गॅडजेट्स जैसे टीवी, मोबाइल, लैपटॉप्स सभी डिजिटल हो गए है।

डिजिटल मार्केटिंग क्या है:

इक्कीसवी सदी ने हमें दो अविष्कारों का मिलाप दिया और वह आविष्कार है-इंटरनेट और मोबाइल्स।

इंटरनेट क्रांति ने सारी दुनिया हो ही बदल दिया। आज सारा विश्व एक डिजिटल मार्केट के रूप में खड़ा है।

आज आप किसी भी देश में अपनी सर्विसेज या प्रोडक्ट्स को बेच कर पैसा काम सकते है, बशर्ते उस देश में इसकी इजाजत हो।

उसी प्रकार आप कोई भी पसंत आने वाली चीज या सर्विस को भी खरीद सकते है, अगर आपकी सरकार उस प्रोडक्ट या सर्विस को वैध मानती है और खरीदने की परमिशन देती है।

डिजिटल मार्केटिंग में ऐसे सभी मार्केटिंग प्रयास जिसमे इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस या इंटरनेट का उपयोग शामिल हैं।

इस मार्केटिंग में कोई कंपनी उसके वर्तमान ग्राहकों और संभावित ग्राहकों से जुड़ने के लिए सर्च इंजन, सोशल मीडिया, ईमेल, और उनकी वेबसाइट तथा अन्य वेबसाइटों के डिजिटल चैनलों का लाभ उठाते हैं।

इस मार्केटिंग के रूप को ऑनलाइन मार्केटिंग‘ , ‘इंटरनेट मार्केटिंगया वेब मार्केटिंगके रूप में भी जाना जा सकता है।

सरल शब्दों में, मार्केटिंग का कोई भी रूप जो ऑनलाइन मौजूद है उसे डिजिटल मार्केटिंग कहा जाता है।

डिजिटल मार्केटिंग प्रक्रिया में मोटे तौर पर निम्नलिखित चरण शामिल हैं:

  1. अनुसंधान (Research) 
  2. योजना और रणनीति (Planning and Strategize) 
  3. लागू (Implementation) 
  4. उपाय और ऑडिट (Measure and Audit) 
  5. सूधार (Optimize) 

वास्तव में देखा जाये तो आज सारी दुनिया का व्यापार लेन-देन पर निर्भर है, यानी बेचना और खरीदना।

किसी भी कंपनी को उसके प्रोडक्ट्स या सर्विसेज बेचने के लिए उपयुक्त ग्राहक की आवश्यकता होती है।

सरल भाषा में किसी भी कंपनी में बनाए जाने वाले वस्तुएँ और सेवाओं को डिजिटल साधनों से जैसे इंटरनेट, कंप्यूटर, मोबाइल फ़ोन, लैपटॉप, Website advertisements या किसी और applications द्वारा मार्केटिंग करने की प्रतिक्रिया को डिजिटल मार्केटिंग कहा जाता है।

हाँ कोई भी कंपनी इस प्रक्रिया को आप सिर्फ़ इंटरनेट के माध्यम से ही कर सकते है।

डिजिटल मार्केटिंग एक ऐसा जरिया है जिससे नये ग्राहकों तक आसानी से पहुंचा जा सकता है।

इसमें एक और विशेषता यह है कि आप डिजिटल मार्केटिंग के माध्यम से अपने ग्राहक तक पहुंचने के साथ ही साथ उनकी होने वाली खोज की गतिविधियों, तथा उनकी आवश्यकताओं पर भी नजर रख सकते है। 

जैसे कि आपके ग्राहकों का रुझान किस तरफ है, ग्राहक क्या चाह रहा है, और अपने प्रोडक्ट या सर्विस में कैसे इम्प्रूवमेंट किया जा सकता है, इन सभी पर चीजों डिजिटल मार्केटिंग के द्वारा बहुत ही आसानी से समझा जा सकता है।

डिजिटल मार्केटिंग आने वाले समय में क्यों ज़रूरी है?

किसी ने सच ही कहा है: “दुनिया में कोई भी चीज हमेशा एकसमान नहीं होती। समय सब कुछ बदल देता है या समय के साथ सब कुछ बदल ज्याता है।

अगर हम थोड़े पहले के ज़माने की बात करे तो उस वक्त ज्यादातर लोग टीवी, न्यूजपेपर, मैगजीन्स और रेडियो के माध्यम से किसी भी प्रोडक्ट या सर्विस को जान पाते थे।

समय ने जल्द ही करवट ली अभी उस समय के साथ कपड़े करे तो बहोत सारे बदलाव देखने को मिल रहे है।

आज सारी चीजों को स्मार्ट फ़ोन और इंटरनेट ने पूरी तरह से बदल डाला है।

सभी चीजे या तो बदल गयी है या फिर उनका प्लेटफार्म बदल गया है। आजकल लोगों का समय सोशल मीडिया साइट्स पर सबसे ज़्यादा व्यतीत हो रहा है।

आज के समय में लोग अपना ज़्यादा समय सोशल मीडिया साइट्स जैसे Facebook, WhatsApp, Instagram, Twitter पर बिताते है। वे इन साइट्स पर-पर अपने दोस्तों और परिवार वालो के साथ कनेक्ट होना पसंत करते है।

लोग अब टीवी की जगह वे YouTube पर  विडियो देखना ज़्यादा पसंद करते है और न्यूज पेपर पढ़ने की जगह वह ऑनलाइन Blog को फॉलो करते है।

रेडिओ की जगह मोबाइल अप्प्स से गाने सुनना ज़्यादा पसंत करते है।

इससे हमें यह पता चलता है कि आज दुनिया बदल रही है लोगों की रूचि बदल रही है।

और इससे यह पता चलता है कि आज के समय में डिजिटल मार्केटिंग का स्कोप बहोत ज़्यादा है।

क्योकि अगर लोगोंका रुझान डिजिटल चीजों की तरफ होगा तो निश्चित ही डिजिटल मार्केटिंग का दायरा और opportunities बढ़ेगी।

अब यह चीज समझनी होगी की हमें अपने प्रोडक्ट को advertise वही करना होगा जहाँ ज्यादातर लोग लगे है, जैसे कि Facebook, Instagram, Twitter, YouTube इत्यादि।

ऐसा भी देखा गया है कि आज के समय में लोग इंटरनेट के जरिये अपनी सुविधा के अनुसार अपना मनपसंद व आवश्यक सामान को आसानी से प्राप्त कर सकते है। इससे समय की बचत होती है इसलिए वे बाज़ार जाने से बचते है।

इस प्रकार digitally चीजों को बेचने का मौका बढ़ जाता है ऐसे में डिजिटल मार्केटिंग आपके बिज़नेस में बनाए गए products और services को लोगो तक पहुंचाने में बहुत मदद करती है।

डिजिटल मार्केटिंग से कंपनी द्वारा कम समय में उनके चीजों को कई प्रकार के एंगल से दिखा जा सकता है। और उपभोक्ता को जो पसंद आए वह चीज तुरंत ले सकता है।

इस तरह से किसी भी व्यक्ति को बाज़ार में जाकर वस्तु को पसंद करने आने जाने में जो समय लगता है वह और अन्य तरह की सभी परेशानियों से बचा जाता है और डिजिटल वर्ल्ड का फायदा उठाता है।

किसी भी क्षेत्र में करियर बनाने के लिए उस क्षेत्र के बारे में नॉलेज होना ज़रूरी है।

इस नॉलेज को प्राप्त करने के लिए आप को निम्नलिहित चीजें करनी होगी:

  • आप किसी मान्यता प्राप्त इंस्टिट्यूट से Digital Marketing Course (डिजिटल मार्केटिंग कोर्स) कर सकते है। आपको मार्केट में बहुत ही छोटे कोर्स के लिए 50000 से 75000 तक फीस भरनी पड़ सकती हैं।
  • आप खुद बहोत सारी चीजों की जानकारी इन्टरनेट से प्राप्त कर सकते है और इसको फिर डिजिटल मार्केटिंग के लिए इस्तेमाल कर सकते है। इसमें आपकी मदत करता है सर्च इंजन। आप कोई भी keyword डालिये. आपके सामने ढेर सारी इनफार्मेशन आ जाएगी।
  • आप अपने बाज़ार से कोई भी अच्छी-सी डिजिटल मार्केट की किताब खरीद लीजिये और थोड़ा-बहोत बेसिक सिख लीजिये। लेकिन इस किताब से आप ज़्यादा नहीं सिख सकते क्योंकि ये तेज़ी के साथ-साथ बदलाव वाली फील्ड भी है।

डिजिटल मार्केटिंग में करियर कैसे बनाये :

इस सवाल का जवाब बहुत बड़ा है लेकिन डिजिटल मार्केट को सिख कर आपको कई तरह के फायदे हो सकते हैं।

जैसे की:

  • डिजिटल मार्केट में धीरे-धीरे आपका नाम बनेगा।
  • आपको हर चीज़ की लोगों से नॉलेज होगी इस नॉलेज को आप पैसे में तब्दील कर सकते हो।
  • आप सोच भी नहीं सकते की आप कितने ज़्यादा पैसे डिजिटल मार्केट से कमा सकते हैं।
  • आपको आपकी अलग पहचान मिलेगी।

डिजिटल मार्केटिंग के top courses:

Search Engine Optimization (SEO) Course :

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (एस इ ओ) यह डिजिटल मार्केटिंग का महत्त्वपूर्ण अंग है। इससे यह जांचा जाता है कि किसी भी webpage को Google, Bing, Yahoo जैसे सर्च इंजन से कितना सर्च किया गया। या कितने लोगों ने कोई खास वेबसाइट देखी आदि।

 वास्तव में, यह डिजिटल मार्केटिंग का एक ऐसा हिस्सा है जिसका धीरे-धीरे महत्त्व काफी बढ़ रहा है।

जैसे-जैसे मार्केटिंग पर होने वाला खर्च अखबार और टीवी से वेबसाइट और सोशल मीडिया की तरफ मुड़ रहा है। वैसे-वैसे SEO expert की मांग लगातार बढ़ती ही जा रही है।

SEO expert का काम होता है कि वे ज़्यादा से ज़्यादा ट्रैफिक समझे। उसे अपनी अपने बिज़नेस की और खींचे और उस आखिर में ट्रैफिक को बिजनेस में बदल दें।

समय के साथ सर्च इंजन की ranking techniques और methods लगातार update होते जा रहे हैं।

और पुराने तरीके outdated और खत्म होते जा रहे हैं।

इस कोर्स में keywords search / research, site designs,  interlinking के साथ ही ऐसे कई अन्य स्किल सिखाये जाते हैं।

यह कोर्स करने के बाद फ्रेशर्स को शुरुआत में औसतन रु. 2 लाख-4 लाख रु. सालाना तक की सैलरी मिल सकती है।

SEO मार्केटिंग में कोर्स पूरा करने के बाद आप seo professional, website auditor analytics, business management / development, link building,  event management, social media analyst, web development management, web design, public relation, reputation management, paid search / ppc management, writing / blogging, offline marketing आदि में अपना करियर बना सकते है।

Certified Digital Marketing Master (CDMM) Couses:

सर्टिफाइड डिजिटल मार्केटिंग मास्टर (सीडीएमएम) कोर्स के अंतर्गत डिजिटल मार्केटिंग के प्रमुख विषयों और टॉपिक्स की study और training दी जाती है। ताकि आप अपने बिजनेस और करियर में लगातार तरक्की कर सके।

यह-यह भारत सरकार द्वारा सर्टिफाइड कोर्स है। इस कोर्स को करते समय आपको hands-on projectsऔर assignments की ट्रेनिंग दी जाती है।

इस कोर्स में आपको research-based internship करने मिलती हैं। और फ्रेशर्स तथा डिजिटल मार्केटिंग के लोगों को प्लेसमेंट असिस्टेंस भी उपलब्ध करवाई जाती है।

जिससे किसी entry-level के executive को average रु. 3-4 लाख सालाना और middle-level के मैनेजर को एवरेज रु. 4-5 लाख सालाना या अधिक सैलरी मिल सकती है।

यह कोर्स सेल्स और मार्केटिंग प्रोफेशनल्स entrepreneurs, digital marketing professionals स्टूडेंट्स और डिजिटल मार्केटिंग की फील्ड में अपना करियर शुरू करने के इच्छुक कैंडिडेट्स को अवश्य करना चाहिए।

Inbound Marketing Course:

इनबाउंड मार्केटिंग यह एक मार्केटिंग का नया तरीका है। इस कोर्स से content creation के द्वारा कस्टमर्स को attract करना सिखाया जाता है।

जिसे वह आपका प्रोडक्ट या सर्विस आसानी से खरीद सके। यह बिज़नेस को प्रमोट करने के सबसे अच्छे तरीको मे से एक है।

इस कोर्स में सम्मिलित है: attraction, conversion, closing, and delight.

Email Marketing Course:

ईमेल मार्केटिंग यह डिजिटल मार्केटिंग का सबसे पुराना माध्यम है।

इस मार्केटिंग के माध्यम से target customer को ईमेल भेजकर और उन ईमेल के जवाबों को को एनालाइज किया जाता है। और इससे डिजिटल मार्केटिंग प्रोफेशनल्स अपने दिए गया बिजनेस टारगेट्स अचीव करते हैं।

यह कोर्स करके आप ईमेल मैनेजर के तौर पर अपना करियर शुरू कर सकते हैं।

Social Media Marekting (SMM) Course

यह कोर्स एक इंटरनेट मार्केटिंग का एक हिस्सा है जिसमें social networking sites जैसे Facebook, YouTube, Twitter, Instagram, WhatsApp इत्यादि में विभिन्न मार्केटिंग टेक्निक्स अप्लाई करना सिखाया जाता है।

इस मार्केटिंग के माध्यम से सोशल मीडिया पर जुड़े हुये लोगों से-से संपर्क कायम किया जाता है। और writing, images, graphics, और videso के माध्यम से उन्हें विभिन्न प्रोडक्ट्स और सर्विसेज की जानकारी दी जा सके ताकि वे उन प्रोडक्ट्स और सर्विसेज को खरीद सकें।

सोशल मीडिया मार्केटिंग को आजकल सभी ऑनलाइन कोर्सेज में सिखाया जाता है।

Growth Hacking Course :

इस कोर्स के द्वारा अलग-अलग स्किल्स सिखाये जाती है जिसमे शामिल है: concepts related to finance, cost-effective management, basic web and app development आदि।

इस कोर्स के में स्टूडेंट्स को-को मार्केटिंग के नए-नए रूल्स और रेगुलेशंस की जानकारी दी जाती है।

इस कोर्स से आप अपने बिजनेस को प्रमोट और प्रोटेक्ट करना सीखते हैं।यह कोर्स स्टार्टर के लिए उपयुक्त नहीं है

अगर आप पेशेवर digital marketer, freelancers, consultants,  keen growth hackers है तो यह कोर्स आपके लिए बेस्ट ऑप्शन है।

Web Analytics Course :

आपको अगर ऑनलाइन बिजनेस में सफल होना है तो वेब एनालिटिक्स की अच्छी जानकारी होना आपके लिए काफी महत्त्वपूर्ण है इस कोर्स में एनालिटिक्स की सभी चीजे सिखाते है जैसे कि वेब एनालिटिक्स बेसिक्स और उनके टाइप्स

इस कोर्स में प्रोफेशनल्स को market segmentationऔर product benchmarking के साथ-साथ ज़रूरी मेज़रमेंट प्लान तैयार करने के लिए 5 ज़रूरी स्टेप्स की जानकारी दी जाती है

यह कोर्स decision making processके लिए ज़रूरी है

आप इस कोर्स से एक सफलत ऑनलाइन बिजेनस तैयार करना सीखते हैं

और विशेष रूप से Google analytics के आधार पर एनालिटिक्स को अप्लाई करना सीखते हैं

Mobile Marketing Course:

स्मार्टफोन्स के बढ़ते चलन से अब मार्केट कंप्यूटर इंटरनेट से मोबाइल इंटरनेट की तरफ शिफ्ट हो रहा हैयह अब एक विशेष मार्केटिंग चैनल बन गया है

Mobile Marketing Course के तहत digital marketing expert  को brand marketing और advertisement से सम्बद्ध मोबाइल मार्केटिंग के विभिन्न concepts जैसेकि apps messaging, mobile web & image recognitionआदि को पढ़ाया जाता है

यह कोर्स डिजिटल मार्केटिंग प्रोफेशनल्स, बिजनेसमेन, डिजिटल मार्केटिंग एजेंसीज, और स्टूडेंट्स के लिए एक बढ़िया विकल्प है

इसके आलावा आप freelancing के द्वारा भी अपना करियर बना सकते है

आप blogger, content writer, website developer, youtuber, counsellor, product reviewer, surveyor, data-entry operator, online tutor आदि के क्षेत्र में पार्ट-टाइम या फुल-टाइम सेवाएँ देकर अपना करियर बना सकते है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *