Connect with us

Govt Schemes

दिल्ली सरकार के टॉप 10 स्कीम

Published

on

Delhi sarkar ke top 10 schemes
delhi sarkar ke top 10 scheme

2020 के विधानसभा के चुनाव को भी अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी ने बडे आराम से लगातार तिसरी बार में जिता। इसका श्रेय जाता है उनके शिक्षा एवम स्वास्थ्य के क्षेत्र के किये गये उनके काम को। इसके अलावा अब जब पूरी दुनिया कोरोना संक्रमण के कारण घर में बैठे पडी है, तो दिल्ली में आम आदमी पार्टी ने अपने अलग-अलग योजना के द्वारा आम लोगों तक सेवा पाहुचाने का हर-संभव प्रयास किया है। तो चलो देखते है कि दिल्ली सरकार की टॉप 10 योजनाये

1. लाड़ली योजना
अगर आप देश की राजधानी, दिल्ली में रहते है और आपको अगर बेटी होती है तो यह योजना आपके लिए है। जैसे कि सब जानते है कि हमारे पुरुषप्रधान समाज में महिलाओंको दुय्यम स्थान दिया जाता है और ऐसी मानसिकता के कारण समाज में महिलाओंके साथ भेदभाव होता है। उन्हें लगता है कि पुरुष ही उनके वंश को आगे बढ़ाता है। बहोतसी फैमिलीज़ में अभीभी अगर गर्भ में स्त्री भ्रूण है, तो गर्भपात किया जाता है। इस चीज को ठीक करने के लिए दिल्ली सरकार ने बेटियों के जन्म, उनकी पढ़ाई और पुरुष-महिला लिंगानुपात को ठीक करने के लिए एक योजना शुरू की है जिसका नाम है, लाडली (Ladli) योजना।

अगर आप दिल्ली के नागरिक है तो आप अपनी दो बेटियों के लिए दिल्ली सरकार की लाडली (Ladli) योजना कि मदद ले सकते हैं।

इस योजना के अंतर्गत आपके बच्चियों के जन्म और पढ़ाई के विभिन्न चरणों में सरकार उनके बैंक खाते में रकम जमा करती है जो बच्ची के 18 साल के होने के बाद उनकी ज़रूरत के हिसाब से निकाली जा सकती है। दिल्ली सरकार की लाडली (Ladli) योजना के अंतर्गत वहाँ के अस्पताल में जन्म लेने वाली बच्चियों को कुल 35-36, 000 रुपये की सरकारी मदद चरणबद्ध तरीके से मिलती है।
इसके पहले चरण में लड़की को जन्म के समय 11, 000, पहली कक्षा में दाखिले पर 5000, छठी, नौंवी, दसवीं व फिर 12वीं कक्षा में जाने पर 5-5 000 रुपये की रकम मिलती है जो बच्ची के 18 साल का होने तक बैंक में जमा रहती है।

2. CBSE Exam में अच्छे नंबर लाने वाले छात्रों को टैबलेट
सबको पता है कि दिल्ली सरकार शिक्षा के प्रति कितनी संजीदा है। छात्रों को पढाई के लिए प्रेरित करने के लिए दिल्ली सरकार ने टैबलेट के सरकारी स्कूलों के 15000 कुशाग्र छात्रों को टैबलेट बांटने की शुरुआत कर दी है। इसके अंतर्गत दिल्ली के सरकार के जो 22 प्रतिभा विकास विद्यालय (RPVVs) हैं, इन स्कूलों के 11वीं और 12वीं के छात्रों को सरकार डिजिटल लर्निंग स्कीम के तहत टैबलेट देगी। साथ में जो छात्र अन्य सीबीएसई के सरकारी स्कूलों में पढ़ते हैं और 10वीं में 80 फीसदी से ज़्यादा नंबर लाए हैं उन्हें भी सरकार टैबलेट देगी।

इन टैबलेट का उद्देश्य छात्रों के लिए डिजिटल लाइब्रेरी का काम करना है। इसके आलावा इन्हें और ज़्यादा उपयोगी भी बनाया जा सकता है। जैसे कि छात्रों के पास खुद का टैबलेट होने से अब उन्हें शेयर्ड कम्प्यूटर के इस्तेमाल से मुक्ति मिलेगी। इसके अलावा यह भी सच है कि मोबाइल स्क्रीन काफी छोटी होती है और उसमें स्पेस भी कम होता है जिससे ठीक से काम नहीं हो पाता और आँखों की परेशानी भी बढ़ती है।

स्कूलों के प्रिंसिपल्स भी इस कदम को काफी सकारात्मक बता रहे हैं। उनका कहना है कि आज के डिजिटल युग में अगर आगे बढ़ना है तो परंपरागत अभ्यास के अलावा डिजिटल वस्तुओं का भी इस्तेमाल आवश्यक है और इससे में छात्रों को पढ़ाई की सुविधा बढ़ जाएँगी। इससे सीबीएसई के सिलेबस के पढाई के मटेरियल के साथ में अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे IIT / नीट की सामग्री भी की मिलेगी। इसके अलावा दिल्ली सरकार डिजिटल लर्निंग स्कीम के तहत पिछले साल 60000 स्कूल शिक्षकों को टैबलेट बांट चुकी है। इसकी मदद से शिक्षक क्लास की अटेंडेंस भी लेते हैं और शैक्षिक योजनाएँ बनाने के साथ ही अन्य रिसर्च वर्क के काम भी करते हैं।

3. फरिश्ते दिल्ली के
दिल्ली सरकार ने & फरिश्ते दिल्ली के” योजना शुरू की, जिसे कि 8 अक्टूबर 2019 को शुरू किया गया। इस योजना को पहले पायलट प्रोजेक्ट के अंतर्गत 2017 में लॉन्च किया गया था, जिसे &अच्छा नेक आदमी & योजना का नाम दिया गया था। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के पहल द्वारा शुरू की गई इस योजना के परीक्षण ने तक़रीबन 3, 000 लोगों की जान बचाई। दिल्ली पुलिस ने भी इस योजना का स्वागत एवं समर्थन किया।

“फ़रिश्ते दिल्ली के” योजना का मुख्य उद्देश्य उन लोगों को सम्मानित और पुरस्कृत करना है जो दुर्घटना पीड़ितों, घरेलु हिंसा पीड़ितों और एसिड अटैक पीड़ितों की मदद करते है और उन्हें अस्पतालों में ले जाकर हरसंभव सहायता करते है। इस योजना ते तहत, दिल्ली सरकार ऐसी किसीभी दुर्घटना के सभी पीड़ितों को मुफ्त इलाज प्रदान करती है, चाहे उनके इलाज में कितने भी पैसे लगे। जो भी व्यक्ति इन दुर्घटना पीड़ितों की अस्पताल ले जाने के लिए मदद करता है, उसे 2, 000 रुपये का इनाम और एक प्रमाण पत्र भी प्रदान करता है। इसके अलावा, दुर्घटना पीड़ितों की मदद करने वाले पुलिस के किसी भी प्रश्न के लिए उत्तरदायी नहीं होंगे।

4 “दिल्ली ड्राइवर योजना”
आज दुनिया में कोरोना (COVID 19) के कारन लॉकडाउन में फसी हुई है। इस बिच गरीब तबके के लोगोंको रहत देने वाली एक अच्छी खबर है और यह खबर है कि दिल्ली के ऑटो रिक्शा / टैक्सी / टैक्सी चालकों के लिए दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने हाल ही में 13 अप्रैल 2020 “दिल्ली ड्राइवर योजना” नामक एक योजना कि घोषणा की। इस योजना के तहत हर माह रु 5000 दिल्ली के पंजीकृत ड्राइवरों को दिया जाएगा, जबतक देश में स्थिति सामान्य नहीं हो जाती। यह राशि डीबीटी (डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर) के माध्यम से सीधे लिंक किए गए बैंक खातों में स्थानांतरित की जाएगी।

इस योजना में सभी पात्र ऑटो रिक्शा / टैक्सी / टैक्सी आवेदक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं और पंजीकरण फॉर्म भर सकते हैं। लेकिन लाभ केवल उन्ही चालकों को मिलेगा जो NCT Delhi में रजिस्टर्ड होंगे। इसकी पंजीकरण की आखरी तारीख 27 अप्रैल 2020 है। इसलिए सभी पात्र आवेदक जल्द-से-जल्द अपना ऑनलाइन आवदेन पत्र भर दे।

5. अस्थाई या टेम्पररी राशन कार्ड कूपन
दिल्ली सरकार ने आम आदमी को इस कोरोना महामारी के संकट में मदद देने के लिए अस्थाई या टेम्पररी राशन कार्ड कूपन की व्यवस्था कि है, जिससे लोगों को कुछ रहत मिले। अगर आप दिल्ली के रहिवासी है तो आप अस्थाई राशन कार्ड के लिए ऑनलाइन फॉर्म भरकर अप्लाई कर सकते है। जिससे आपको इ-कूपन मिलता है। जिसके माध्यम से आप सस्ते राशन की सरकारी दुकानों पर सरकार द्वारा चलाई गई योजना के अनुसार दूसरे लोगों की तरह राशन ले पाएंगे।

आपको आवेदन करते समय तीन चीजों की ज़रूरत होती है:
1. आपका आधार कार्ड
2. आधार संख्या के साथ परिवार के अन्य सदस्यों का विवरण
3. आपका सक्रिय मोबाइल नंबर, जो आधार कार्ड से लिंक है
आपको सिर्फ़ निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके फॉर्म भरना होगा:
https: / / ration. jantasamvad. org / ration /

6. डोर स्टेप योजना
दिल्ली सरकार ने डोर स्टेप योजना शुरू कर दी है जिसके जरिए अब आपको सरकारी दफ्तरों के बार-बार चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। जो घर बैठे ही आपके हो जाएंगे। यह दिल्ली सरकार की बहुत अच्छी पहल है। सरकार ने ऐसे बहोत सारे काम की लिस्ट बनाई है जिसके तहत है आपको आपके घर में ही वह सारी सुविधाएँ मिलेगी जिसके लिए आपको दफ़्तरोंके चक्कर काटने पड़ते है।

दिल्ली डोर स्टेप योजना कि विशेषताएँ:

  • यह दुनिया में अपनी तरह की पहली योजना है और इससे लोगों के ऑफिस का चक्कर काटने की परेशानी हमेशा के लिए खत्म हो जाएगी।
  • इस सुविधा को 40 विभागों से जोड़ दिया है जिससे आप घर बैठे एक फोन कॉल के जरिए आप दिल्ली सरकार के उन 40 विभागों की सुविधाओं का लाभ घर बैठे उठा सकेंगे।
  • इस योजना के अगले चरण में बाद 30-30 सर्विसेज को शामिल किया जाएगा। जिससे की उसके अगले दो से तीन महीने में 100 से ज़्यादा सर्विसेज की होम डिलिवरी शुरू हो जाएगी।
  • इस योजना का फायदा यह है कि सामान्य लोगों का समय बचेगा, टेंशन काम होगा, दलालों से मुक्ति मिलेगी और इस योजना से करप्शन पर भी लगाम लगेगी।

फ़िलहाल डोर स्टेप्स के अंतर्गत आपको निम्नलिखित सुविधाएँ मिलेगी:
जाति प्रमाण पत्र, निवास प्रमाण पत्र, इनकम सर्टिफिकेट, मैरिज सर्टिफिकेट, जाति प्रमाण पत्र, वाहनों की आरसी, आरसी में पता का बदलना, ऑनरशिप ट्रांसफर, ड्राइविंग लाइसेंस, वृद्धावस्था पेंशन स्कीम से जुड़ी योजनाएँ, पानी और सीवर के कनेक्शन, खाद्य विभाग, दिल्ली जल बोर्ड, श्रम विभाग की सेवाओं के साथ-साथ, ई-डिस्ट्रिक्ट, ट्रांसपोर्ट और खाद्य विभाग से जुड़ी सर्विसेज इत्यादि|

7. कर्फ्यू इ-पास
कोरोना के संक्रमण के चलते हुए सारे देशभर में लॉकडाउन की स्थिति है। ऐसे में देश की राजधानी में भी लोगोंको भी लॉकडाउन का सामना करना पड़ रहा है। ऐसी हालात में दिल्ली के वह लोग जो जनता के लिए रोजमर्रा कि ज़रूरी सुविधाएँ मुहैया कराने का काम कर रहे हैं, उन्हें किसी तरह की कोई दिक्कत न हो, इसके लिए दिल्ली सरकार ने ई-पास की सुविधा शूरू की है।
यह इसलिए ज़रूरी है कि इन लोगों को एक अलग आइडेंटिटी मिले और अन्य लोगों से इनकी पहचान हो। ऐसे में ई-पास के जरिए उन्हे काम करने में किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं आएगी। इस ई-पास के जरिए ज़रूरी खाद्य सामग्री मुहैया कराने वाले लोग, मीडिया और उन लोगों को इसका लाभ मिलेगा जिन्हे काम पर जाना ज़रूरी है, जैसे बैंक, पानी, डॉक्टर्स, सफाईकर्मी आदि। यह लोग कर्फ्यू ई-पास के जरिए अपने कामों पर आसानी जा पाएंगे और ज़रूरी सुविधाएँ एंव सेवाएँ लोगों को दे पाएंगे।

दिल्ली कर्फ्यू ई-पास के लिए कौन आवेदन कर सकता है?

  • ई-पास के लिए ज़रूरी सुविधाओं के उत्पादक हैं या ज़रूरी सुविधा या सेवा से जुड़े हैं वे लोग रजिस्ट्रेशन कर सकते है।
  • किराना दुकान, दूध, फल और सब्जी बेचने वाले लोग रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।
  • ऐसे वाहन या ड्राइवर जो ज़रूरी सामग्री लाने ले जाने का काम करते हैं।
  • मीडिया, हेल्थ और बैंकों के कर्मचारी भी पास के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

ज़रूरी कागजात:

  • आधार कार्ड
  • विजिटिंग कार्ड
  • बिजनेस लाइसेंस
  • शॉप लाइसेंस

अगरआप बताई गई किसी भी सेवा से जुड़े हैं तो आपको पास के रजिस्ट्रेशन के लिए आपको निचे दी गयी आधिकारिक साइट पर जाना होगा:

Website (https://epass.jantasamvad.org/epass/application)

8. जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना
जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना पिछड़े वर्ग के बच्चो के लिए पढ़ने की मुफ्त और अच्छी सुविधाएँ प्रदान करने के लिए बनाई गई है। हमारे देश के पिछड़े वर्ग SC / ST के बच्चो को एक बेहतर ज़िन्दगी और अच्छी शिक्षा व्यवस्था मुहैया कराना ही जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना का एक मात्र लक्ष्य है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने दिल्ली के SC / ST छात्रों के लिए सभी UPSC की परीक्षाएँ जैसे IAS, IPS, IRS आदि परीक्षाओं के लिए निःशुल्क शिक्षा व्यवस्था का शुभारंभ किया है।

योजना के अंतर्गत निशुल्क कोचिंग की कुछ विशेषताएँ:

  • सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए दिल्ली सरकार बच्चो को कोचिंग और छात्रवृत्ति प्रदान करेगी।
  • इसमें अनुसूचित जाति, पिछड़े वर्ग, विकलांग और अल्पसंख्यक छात्र छात्रवृत्ति में शामिल है।
  • सरकर अलग से ₹2500 रूपये प्रतिमाह भी छात्रों में वितरण करेगी।

9. दिल्ली प्राइवेट अस्पताल फ्री सर्जरी

प्राइवेट अस्पताल फ्री सर्जरी योजना दिल्ली सरकार हेल्प फॉर ऑल के स्किम के तहत शुरू कर रही है। इस योजना का लाभ सरकार सड़क दुर्घटना में घायल हुए लोगों को देगी। इस योजना के अनुसार यदि किसी व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती किया जाता है और उसके सर्जरी की तिथि 1 महीने के बाद से ज़्यादा कि है तो उस मरीज का फ्री इलाज प्राइवेट अस्पताल में किया जाएगा।

इस योजना का लाभ सभी तबके के लोगों को मिलेगा। बहुत से ऐसे गरीब व्यक्ति भी होते हैं जो एक्सीडेंट हो जाने के बाद पैसे के अभाव में अपना इलाज नहीं करवा पाते हैं और भी बीमारी से मर जाते हैं इसयोजना इसके ट्रायल भी शुरू कर दिए गए हैंऔर प्राइवेट अस्पतालों में अभी तक 230 लोगों की सर्जरी भी की जा चुकी है।
यही नहीं, अगर वह लोग जो पैसे के अभाव में प्राइवेट हॉस्पिटल नहीं जा पाते थे अपनी ज़रूरी सर्जरी टालते, और बीमारी से जूझते रहते थे वह भी अब अपना इलाज अच्छे अस्पताल में फ्री में कर सकेंगे। यही नहीं, अगर वह लोग जो पैसे के अभाव में प्राइवेट हॉस्पिटल नहीं जा पाते थे अपनी जरुरी सर्जरी टालते,और बीमारी से जूझते रहते थे वह भी अब अपना इलाज अच्छे अस्पताल में फ्री में कर सकेंगे। इस योजना में सभी दिल्ली वासियोंको को लाभ मिलेगा इसमें जाती-पाती, धर्म या गरीबी-अमीरी का भेदभाव नहीं होगा।

मुफ्त सर्जरी योजना दिल्ली अस्पताल सूची निचे दी गयी है।

  • Action Cancer Hospital, Paschim Vihar
  • Bansal Hospital, New Friends Colony
  • Batra Hospital and Medical Research Centre, Tughlakabad Instt Area
  • Bhagwati Hospital, Rohini
  • Bharti Eye Foundation, 1 / 3 East Patel Nagar
  • Deepak Memorial Hospital, Vikas MArg Ext II
  • Delhi Heart and Lung Institute, Panchkuian Road
  • Dharamashila Hospital and Research Centre, Vasundhara Enclave
  • Dr BL Kapur Memorial Hospital, Pusa Road
  • Dr Kapur’ s The Healing Touch Eye Centre, Vikas Puri
  • Dr Pattnaik’ s Laser eye Institue, Lajpat Nagar III
  • Escorts Heart Institute and Research Centre, Okhla
  • Goyal Hospital and Urology Centre, Krishna Nagar
  • Indian Spinal Injury Centre, Vasant Kunj
  • Jain Hospital, Jagriti Enclave
  • Jeevan Anmol Hospital, Mayur Vuhar Phase I
  • Jeewan Mala Hospital, New Rohtak Road
  • Jeewan Nursing Home and Hospital, Pusa Road
  • Khandelwal Hospital and Urology Centre, East Krishna Nagar
  • Maharaja Agrasen Hospital, Punjabi Bagh
  • Mata Channan Devi Hospital, Janak Puri
  • Max Multispeciality Centre, Panchsheel Park
  • Max Smart Superspeciality Hospital, Saket
  • Max Superspeciality Hospital, Shalimar Bagh
  • Metro Hospital and Cancer Institute, Preet Vihar
  • Metro Hospital and Heart Institute, Lajpat Nagar IV
  • MGS Hospital, Punjabi Bagh
  • National Heart Institute, East of Kailash
  • Panchasheel Hospital, Yamuna Vihar
  • Park Hospital, Chowkhandi
  • PC Stone, East of Kailash
  • Primus Superspeciality Hospital, Chanakya Puri
  • RLKC Hospital Metro Heart Institute, Shadipur Depot
  • Rockland Hospital, Qutub Instt Area
  • Saroj Hospital and Heart Institute, Rohini
  • Shroff Eye Centre, Kailash Colony
  • Sri Balaji Action Medical Institute, Pashchim Vihar
  • Tirath Ram Shah Charitable Hospital, Rajpur Road
  • Venu Eye Institute and Research Institute, Sheikh Sarai, Institutional Area Ph II
  • Visitech Eye Care, South Extn Part II

10. मोहल्ला क्लिनिक
मोहल्ला क्लिनिक, भारत में नई दिल्ली के केंद्र शासित प्रदेश में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हैं, जो दवाओं, निदान और परामर्श सहित आवश्यक स्वास्थ्य सेवाओं का एक बुनियादी पैकेज प्रदान करते हैं। मोहल्ला क्लीनिक की स्थापना 2015 में आम आदमी पार्टी सरकार द्वारा कि गई थी और 2018 तक, इस तरह के क्लीनिक शहर भर में स्थापित किए गए हैं और 20 लाख से अधिक निवासियों को सेवा प्रदान की गई है।

केजरीवाल सरकार ने 2020 दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले शहर में 1000 ऐसे क्लीनिक स्थापित करने का लक्ष्य रखा था, जिसे लगभग पूरा किया गया।
दुनिया के सबसे बड़े आउट-ऑफ-पॉकेट स्वास्थ्य व्यय और स्वास्थ्य बीमा के कम से कम कवरेज वाले देश में, मोहल्ला क्लीनिक द्वारा दी जाने वाली मुफ्त स्वास्थ्य सेवाएँ यात्रा कि लागत और खो जाने से कम आय वाले परिवारों पर वित्तीय बोझ को कम करने में मदद करती हैं। यह एक आप के सरकार द्वारा कि गयी अनोखी पहल है, जिससे दिल्ली के लोगों द्वारा काफी पसंद किया गया। जिससे आम आदमी पार्टी को 2020 के चुनाव जितने में मदद मिली।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!