Credit Rating Agencies क्या हैं और इसका क्या महत्व हैं।





Credit Rating Agencies की जब हम बात करते हैं तो बहुत किसी को यह पता भी नहीं होता की यह Credit Rating Agencies क्या हैं और इसका क्या महत्व हैं। लेकिन आज इस आर्टिकल के द्वारा हम Credit Rating Agencies के बारे में विस्तार पूर्वक जानेंगे।

Credit Rating Agencies क्या हैं:

साधारणतः शब्दों में Credit Rating Agencies किसी भी ऋणी की उधार लेने तथा देने की छमता को दर्शाता हैं |यह किसी भी संस्था के क्रेडिट रिस्क का बखूबी आंकलन करता हैं।

भारत में Credit Rating Agencies, SEBI ( Securities and Exchange Board of India) Regulations के तहत 1999 में किया गया था।

भारत में कुल 6 Credit Rating Agencies हैं। जैसे CRISIL, CARE, ICRA, SMREA, Brickwork Rating तथा India rating and Research Pvt. Ltd.

Credit Rating Agencies क्यों आवश्यक हैं:

कोई भी investor अपने पैसे को invest करने से पहले यह जरूर देखेगा की उसके लिए वह सुरक्षित हैं या नहीं। और इसके लिए ही Credit Rating Agencies बनायीं गयी हैं जिसके rating द्वारा ही investor, risk का आंकलन कर लेते हैं और उसके बाद ही उसमें invest करना जरुरी समझते हैं।




Credit ratings एक Benchmark रखती हैं ताकि financial market regulate हो सके।

Credit Rating Agencies, Moody’s  Investors Services तथा Standard and Poor’s (S&P) द्वारा लाया गया।

Credit Rating Agencies :

  1. CRISIL
  2. ICRA
  3. CARE
  4. SMREA
  5. Brickwork Rating
  6. India rating and Research Pvt. Ltd.

CRISIL:

(Credit rating Information Services of India Limited) :

  • CRISIL भारत का सबसे पुराना Credit Rating Agency हैं जिसकी स्थापना 1987 में हुयी। लेकिन यह 1993 में public के सामने आयी। इसका Headquarter मुंबई में स्थित हैं।
  • CRISIL की स्थापना ICICI तथा UTI द्वारा किया गया।
  • CRISIL में share capital का contribution SBI, LIC, United India Insurance द्वारा किया गया हैं।
  • CRISIL, Debt Instruments जैसे की Debenture को rate करता हैं।
  • हाल में ही CRISIL की 51 % Stake US Rating Agency S&P –A McGraw hill Group of Companies द्वारा ले ली गयी।

ICRA:

(Investment Information and Credit Rating Agency of India Ltd.)

  • ICRA की स्थापना 1991 गुड़गांव में हुई थी।
  • Moody’s Investors Service, The Credit Rating Agency, ICRA’s की सबसे बड़ी shareholder हैं।
  • ICRA, corporate Debt, structured finance, mutual funds, Public Finance, Market Linked debentures के लिए रेटिंग करती हैं।
  • ICRA की स्थापना IFCI, LIC, SBI तथा अन्य financial institutions द्वारा की गयी।




CARE:

(Credit Analysis and Research Ltd.)

  • CARE की स्थापना 1993 मुंबई में की गयी।
  • IDBI तथा Nationalized bank के द्वारा CARE की स्थापना की गयी।
  • CARE, Corporate Governance, debt ratings, financial sector, bank loan ratings, issuer ratings, recovery ratings तथा infrastructure rating के लिए रेटिंग करती हैं।
  • CARE, Initial Public Offerings(IPOs), Financial Assessment of Shipyards, Energy Service Companies तथा Educational Institutions के लिए भी रेटिंग करती हैं।
  • विभिन्न तरह के debt instruments की rating CARE द्वारा की जाती हैं।

SMREA:

(Small and Medium Enterprises Rating Agency of India )

  • SMERA की स्थापना 2005 में की गयी।
  • SMERA, small तथा Medium enterprises को rating करती हैं | इसका मुख्य उद्देश्य investors को small तथा Medium enterprises के तरफ creditworthiness का बढ़ावा देना हैं।
  • SMERA, SIDBI(22%), SBI, ICICI Bank, Brad Street तथा अन्य Public Sector Bank का joint venture हैं।




Brickwork Rating :

  • Brickwork Rating की स्थापना 2007 कनारा बैंक (Canara Bank) द्वारा की गयी।
  • यह Bank Loans, SMEs, Corporate Governance rating, municipal corporation, capital Market, Instruments के लिए रेटिंग करती हैं।
  • Brickwork Rating को External Credit Assessment Agency (ECAI) की मान्यता Reserve bank of India द्वारा बाहर देश के rating के लिए दी गयी हैं।

India Rating and Research Pvt Ltd:

  • India Rating and Research Pvt. Ltd. की स्थापना Reserve bank of India तथा National Housing Bank द्वारा की गयी।
  • Insurance Companies, Bank, Corporate Issuers, Project Finance, Financial Institutions, Leasing Companies तथा managed funds की रेटिंग India Rating and Research Pvt. Ltd. द्वारा की जाती हैं।

 



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *