कंप्यूटर ड्राइवर क्या होता है, और ये क्यों जरूरी होता है?

कंप्यूटर ड्राइवर क्या होता है, और ये क्यों जरूरी होता है?

जैसा की आप जानते है की किसी भी वाहन को चलाने के लिए एक ड्राइवर की जरूरत होती है।

उसी तरह कंप्यूटर में भी सॉफ्टवेयर सही तरह से काम करें इसके लिए कंप्यूटर ड्राइवर की जरुरत होगी है।

कंप्यूटर में ड्राइवर के बिना आप ना तो म्यूजिक सुन सकते है और ना ही आप कम्प्यूटर में इंटरनेट चला सकते है।

इसके अलावा भी ऐसे बहुत सारे काम है जो सही तरह काम कर सके इसके लिए कंप्यूटर ड्राइवर की जरुरत पड़ती है।

आज की इस पोस्ट में हम कंप्यूटर ड्राइवर क्या होता है, वे कैसे काम करते है इसके बारे में जानेगें।

कंप्यूटर ड्राइवर क्या होता है:

किसी भी कंप्यूटर में  computer driver एक तरह से सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर के बीच एक सेतु की तरह काम करता है।हमारे कंप्यूटर में कई तरह के हार्डवेयर होते है।

इसके अलावा कई तरह की चिप भी हमारे कंप्यूटर के मदरबोर्ड में लगी हुई होती है।

ये हार्डवेयर और चिप हमारे कंप्यूटर में उससे सबंधित सॉफ्टवेयर को चलाने के लिए लगाई जाती है।

लेकिन हमारे कंप्यूटर का ऑपरेटिंग सिस्टम उसको समझ सके इसके लिए उस हार्डवेयर का ड्राइवर उसमें इंस्टॉल करना पड़ता है | जिससे की वह कंप्यूटर में काम कर पाती है।

जैसे की हमारे कंप्यूटर में  म्यूजिक चल सके या किसी भी तरह की आवाज आ सके इसलिए लिए मदरबोर्ड में ऑडियो आई सी लगी होती है।

लेकिन केवल आई सी लगने से ही काम पूरा नहीं हो जाता।

बिना इसके ड्राइवर को डाले ऑपरेटिंग सिस्टम इसे समझ नहीं पाता है।

और ऑडियो ड्राइवर डालने के बाद ही हमारे कंप्यूटर में आवाज आ पाती है।

इसी तरह दूसरे हार्डवेयर के लिए भी ड्राइवर डालने की जरुरत पड़ती है।

आइये जानते है की कंप्यूटर ड्राइवर क्यों जरूरी होता है

  • कंप्यूटर में ऑडियो ड्राइवर नहीं है तो आपके कंप्यूटर में आवाज नहीं आएगी |
  • कंप्यूटर में ब्लूटूथ ड्राइवर इंस्टाल नहीं है तो ब्लूटूथ काम नहीं करेगा |
  • बायोस ड्राइवर के इंस्टाल नहीं होने पर आपके कंप्यूटर में माउस और कीबोर्ड काम नहीं करेंगे |
  • अगर कंप्यूटर में wlan ड्राइवर इंस्टाल नहीं है तो कंप्यूटर में इंटरनेट नहीं चल पायेगा |
  • कंप्यूटर में प्रिंटर का ड्राइवर इंस्टाल नहीं है तो प्रिंटर से प्रिंट नहीं निकाल पाएंगे |
  • कंप्यूटर में USB ड्राइवर इंस्टाल नहीं है तो आपका USB पोर्ट काम नहीं करेगा और आप पेन ड्राइव या USB माउस और कीबोर्ड का उपयोग नहीं कर पाएंगे |

 कंप्यूटर में ड्राइवर की जरुरत कब पड़ती है

अलग अलग कंप्यूटर में अलग अलग हार्डवेयर का उपयोग होता है।

इसलिए उन्हें चलाने के लिए ड्राइवर भी अलग अलग ही होते है।

जब भी आप कंप्यूटर खरीदते है तो उस समय दुकानदार आपके कंप्यूटर में ऑपरेटिंग सिस्टम को डालने के साथ ही सभी तरह के ड्राइवर भी उसमें डालकर देता है।

लेकिन अगर आपके कंप्यूटर में कोई दिक्कत आ जाये या वो क्रैश हो जाये, तो आपको ऑपरेटिंग सिस्टम को वापस से डालने की जरुरत होती है।

ऐसे में ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ भी कंप्यूटर में ड्राइवर को भी वापस से डालना पड़ता है क्युकी ऑपरेटिंग सिस्टम के क्रेश होने के साथ ही कंप्यूटर के सभी ड्राइवर भी अनइंस्टाल हो जाते है।

तो ऐसे में यह समझ नहीं आता की विंडो के साथ ही उन ड्राइवर को कैसे इंस्टाल करें।

क्युकी विंडो जैसे ऑपरेटिंग सिस्टम तो आसानी से मिल जाते है लेकिन कंप्यूटर के ड्राइवर आसानी से मिल नहीं पाते है।

कंप्यूटर ड्राइवर कहा से इनस्टॉल करें:

लेकिन आज हम आपको कुछ ऐसी वेबसाइट के नाम बता रहे है जिससे आप अपने कंप्यूटर के ड्राइवर को आसानी से वहां से डाउनलोड कर पाएंगे।

 SOFTPEDIA.COM
 DRIVERZONE.COM
 DRIVERGUIDE.COM
 TECHPOST.COM

कंप्यूटर ड्राइवर इंस्टाल करते वक्त ध्यान रखें ये बातें:

ऊपर दी गयी सभी वेबसाइट पर आपको सभी तरह के ड्राइवर मिल जायेंगे।

लेकिन ड्राइवर इंस्टाल करने से पहले इस बात का ध्यान रखना जरुरी है की आपके कंप्यूटर में कोनसा मदरबोर्ड और हार्डवेयर लगा हुआ है।

क्युकी उस हार्डवेयर और चिप से सबंधित ड्राइवर के डालने पर ही वह आपके कंप्यूटर में काम कर पायेगा।

और इसके साथ ही कंप्यूटर कितने बिट का है यानि की अगर 32 बिट वाला कंप्यूटर है तो 32 बिट वाला ड्राइवर इंस्टाल करें

और अगर 64 बिट वाला कंप्यूटर है तो 64 बिट वाला ड्राइवर इंस्टाल करें।

आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

और अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी तो इसे लाइक और शेयर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *