अपना बिज़नेस कैसे स्टार्ट करें – Business startup guide in Hindi




अपना बिज़नेस कैसे स्टार्ट करें- Business startup guide in Hindi ?

नमस्कार दोस्तों, हिंदी पोस्ट में फिर से एक बार आपका स्वागत है। क्या आप बिज़नेस स्टार्ट करने के लिए प्लान कर रहे है। दोस्तों वैसे तो आज की तारीख में हर कोई बिजनेसमैन ही बनना चाहता है। 

लेकिन सफलता उसी को मिलती है, जो अपने बिज़नेस को सही तरीके से प्लान करके उसे चलायें।

आपने अपने आस पास या जान पहचान को लोगो बिज़नेस स्टार्ट करके फेल होते हुए जरूर देखा होगा। 

दोस्तों कई लोगो को ऐसा भी लगता है, कि वो बिज़नेस स्टार्ट करते है कि करोड़पति हो जाएंगे। लेकिन वो लोग सच्चाई से बहुत दूर होते है।

दोस्तों अगर मैं सर्वे की बात करू तो ज्यादातर बिज़नेस 2 शाल या लगभग 90 परसेंट बिज़नेस 5 शाल के अंदर हो बंद हो जाते है।



इसीलिए दोस्तों ऐसा कहा जाता है कि बिज़नेस करना सबके बस की बात नहीं।

लेकिन दोस्तों इसका ये मतलब नहीं है कि आप कोई बिज़नेस स्टार्ट ही न करें।

बल्कि आपको उन लोगो के बारे के सोच कर प्रेरित होना चाहिए जिन्होंने बिज़नेस में सफलता हासिल की है। 

Business startup guide in Hindi (अपना बिज़नेस कैसे स्टार्ट करें) :

आइये आज के इस पोस्ट में हम कुछ ऐसे ही बिज़नेस स्टार्टअप टिप्स के बारे में बताएँगे जो आपके बिज़नेस स्टार्ट के लिए बहुत जरूरी है और आपके बिज़नेस के सफल होने के सम्भावना ज्यादा होगा। 

मार्किट रिसर्च :




दोस्तों अगर आप बिज़नेस स्टार्ट करने ले लिए सोच रहे है, तो आपके पास अच्छे बिज़नेस प्लान की जरूरत है। अगर आपने कुछ यूनिक आईडिया सोच रखा है। तो अब आपको अपने आईडिया के ऊपर बहुत सी मार्किट रिसर्च करने की जरूरत है।

मार्किट रिसर्च से आपको ये पता चलेगा कि आपके प्रोडक्ट या सर्विस को लोग कितना पसंद करने वाले है।

अगर आप चाहे तो लोगो को अपने प्रोडक्ट या सर्विस का एक डेमो भी देकर या free trial देकर मार्किट वैल्यू जान सकते है। इस मार्किट रिसर्च में आपको कुछ सवालों के जवाब चाहिए।

जैसेकि – आपके प्रोडक्ट/सर्विस की आज की मार्किट में क्या वैल्यू है, आपके कस्टमर कौन लोग होंगे, क्या आपके जैसा कोई और भी प्रोडक्ट/सर्विस मार्किट में है, आपके बिज़नेस को स्टार्ट करने के लिए कितने investment की जरूरत है। 

अगर आपके पास इन सवालों का जवाब है, तो अब आगे बढ़ सकते है। 

फाइनेंसियल प्लानिंग :




दोस्तों फाइनेंसियल प्लानिंग बिज़नेस स्टार्टअप का बहुत ही अहम् हिस्सा है।

अगर आपने बिज़नेस की फाइनेंसियल प्लानिंग सही तरीके से नहीं किया, तो हो सकता है कि आप बिज़नेस को बीच में बंद भी करना पद सकता है। 

दोस्तों जब आप बिज़नेस स्टार्टअप करते है, तो हमें बिज़नेस के हिसाब उतने ही फाइनेंस की जरूरत पड़ती है।

जैसेकि ऑफिस, वेयरहाउस, स्पेस, एम्प्लोयी सैलरी, खुद की सैलरी इत्यादि। 

आपको ये सोच के चलना होगा कि आपका बिज़नेस को कम से कम एक शाल तक कोई प्रॉफिट नहीं होगा और बिज़नेस को चलाने के लिए जो भी एक्सपेंस आएंगे वो आपको ही उठाने होंगे। 

बिज़नेस रजिस्ट्रेशन:




दोस्तों जब आपने एक बार फैसला ले लिया कि आपको बिज़नेस करना है, तो आपको अपना बिज़नेस रजिस्टर करना पड़ेगा। लेकिन दोस्तों उससे पहले आपको ये फैसला लेना पड़ेगा कि आप ये बिज़नेस को sole proprietorship, partnership या private limited company रेजिटेर करवाना चाहते है।

और आपको अपने बिज़नेस का एक नाम भी रजिस्टर करवाना पड़ता है, ताकि कोई और उस नाम से बिज़नेस से न कर सके। 

दोस्तों जैसाकि आप जानते है कि आजकल हर कोई बिज़नेस का एक ऑनलाइन प्रोफाइल होना जरूरी है।

क्योकि हर कोई आपके बिज़नेस को ऑनलाइन जरूर देखना चाहेगा। जिससे कोई भी आपके प्रोडक्ट या सर्विस के बारे में ऑनलाइन चेक कर सके और आपको contact कर सके।

इसीलिए जब आपने आपके बिज़नेस का नाम रख लिए तो उसी नाम से domain name बुक करना न भूलें। 

बिज़नेस प्रमोशन :

दोस्तों एक बार आप बिज़नेस में उतर गए और आपने बिज़नेस करना स्टार्ट कर दिया, तो फिर आपको कस्टमर/क्लाइंट चाहिए। जो आपसे आपकी प्रोडक्ट या सर्विस खरीदें।

लेकिन फिर सवाल उठता है कि ऐसे लोग कहा से आएंगे।

दोस्तों इसके लिए आपको अपने बिज़नेस को प्रमोट करना होगा और एक मार्केटिंग टीम बनानी होगी।

ये मार्केटिंग टीम ज्यादा से ज्यादा लोगो तक आपके प्रोडक्ट और सर्विस को प्रमोट करेगी।

इसके आलावा दोस्तों आप सोशल मीडिया जैसेकि Facebook, YouTube, Twitter, Instagram, WhatsApp के जरिये अपने बिज़नेस प्रमोट कर सकते है।

Google adword पे भी आप अपने बिज़नेस का कैंपेन रन कर सकते है। 

बिज़नेस अकाउंट :

दोस्तों किसी भी छोटे या बड़े बिज़नेस के सफल होने के पीछे उसके अकाउंट सिस्टम का बहुत बड़ा योगदान होता है।

अगर आपका एकाउंटिंग सिस्टम में कुछ भी गड़बड़ी होती है, तो आपके बिज़नेस का भविष्य अच्छा नहीं होगा।

दोस्तों अगर आपने बिज़नेस अकाउंट को सही से हैंडल किया तो आपको आईडिया होगा कि आगे आपके बिज़नेस में क्या profit या loss हो रहा है।

या आगे आपको कैसे बिज़नेस फाइनेंस प्लान करना है। प्रोडक्ट या सर्विस का क्या response है और आगे इन प्राइस में क्या चेंज करना है इत्यादि। 

इसीलिए आप अपने बिज़नेस के लिए प्रोफेशनल अकाउंटेंट अगर फुल टाइम नहीं afford कर सकते है,तो पार्ट टाइम ले लिए जरूर हायर करें। 

दोस्तों आज के इस पोस्ट में हमने जाना कि अपना बिज़नेस कैसे स्टार्ट करें – Business startup guide in Hindi.

ये पोस्ट आपको कितना पसंद आया आप मुझे कमेंट करके जरूर बतायें। 

Related posts:

एक सफल बिज़नसमैन कैसे बने? -How to become a Successful Businessman

बिज़नेस फ्रैंचाइज़ क्या होता है, बिज़नेस फ्रैंचाइज़ कैसे लें?

नेटवर्क मार्केटिंग क्या होता है, नेटवर्क मार्केटिंग कैसे काम करता है?

12वीं के बाद टॉप 10 करियर ऑप्शन



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *