Connect with us

Android

Bluetooth क्या होता है, Bluetooth कैसे काम करता है?

Published

on

नमस्कार, मैं आपके साथ एक बहुत ही ज्ञानवर्धक विषय साझा करने जा रहा हूँ। आपको इसके बारे में तो जरूर पता होगा, लेकिन आपको बहुत ज्यादा जानकारी नहीं होगी।

तो दोस्तों, यह ब्लूटूथ के बारे में है। ब्लूटूथ एकमात्र ऐसी तकनीक है जिसका उपयोग करने के लिए कोई भी शुल्क नहीं देना पड़ता है।

यह आपको एक मोबाइल से दूसरे मोबाइल में कुछ भी ट्रांसफर करने की सुविधा प्रदान करता है, बशर्ते दोनों मोबाइल में ब्लूटूथ होना चाहिए। हां, यह काम नहीं करेगा अगर किसी भी मोबाइल में ब्लूटूथ नहीं है। यहां तक ​​कि आप कंप्यूटर से कंप्यूटर में डेटा ट्रांसफर कर सकते हैं।

मोबाइल के सभी फीचर के साथ आपको Bluetooth का ऑप्शन भी दिखाई देता है। इसका क्या उपयोग होता है शायद आप जानते होंगे। लेकिन क्या आप  जानते है की ब्लूटूथ का उपयोग केवल मोबाइल ही नहीं और भी कई जगह होता है। तो आइये आइये  जानते है Bluetooth क्या होता है, Bluetooth कैसे काम करता है।

आज के समय में किसी भी डाटा को ट्रांसफर करने के लिए ब्लूटूथ का उपयोग किया जाता है, इससे डाटा आसानी से ट्रांसफर हो जाता है और आप बिना वायर के अपना डाटा दूसरे मोबाइल में आसानी से भेज पाते है।

लेकिन डाटा ट्रांसफर के साथ ही ब्लूटूथ 2 गैजेट को जोड़ने का भी काम करता है। तो आइये आइये  जानते है Bluetooth क्या होता है।

Bluetooth क्या होता है:

ब्लूटूथ एक वायरलेस तकनीक है, जो आपको बिना भुगतान किए एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस में डेटा ट्रांसफर करने की सुविधा प्रदान करती है। डेटा का मतलब है, आप छवि, वीडियो, मूवी, पीडीएफ़, और डुक्यूमेंट या फ़ाइल को स्थानांतरित कर सकते हैं।

यहां तक ​​कि आप ब्लूटूथ के माध्यम से इंटरनेट कनेक्टिविटी साझा कर सकते हैं। बाजार में ब्लूटूथ एक बहुत ही उच्च मांग वाली तकनीक है। मेरी राय में, यह कई समस्या को हल करता है। यदि आप स्मार्ट बैंड या स्मार्ट घड़ी पहनते हैं, तो यह आपके मोबाइल पर डेटा स्थानांतरित करने के लिए ब्लूटूथ के साथ काम करता है।

यदि आपके पास कोई भी वायरलेस स्पीकर है, जो ब्लूटूथ के साथ काम करता है। आपका स्पीकर ब्लूटूथ के माध्यम से आपके मोबाइल या लैपटॉप से ​​जुड़ता है, और जो भी आप अपने डिवाइस पर गाने प्ले करते हैं, वह स्पीकर पर सुनाई देता है।


Related posts:


इसके लिए किसी भी तरह के तार या एडेप्टर की जरुरत नहीं पड़ती है। लेकिन इसके लिए जरुरी है की दोनों इलेक्ट्रॉनिक गैजेट में Bluetooth सुविधा हो। इसके लिए मौजूद उपकरण रेडियो तरंगो का उपयोग करते है।

Bluetooth की स्पीड और रेंज

Bluetooth के द्वारा डाटा 10 से लेकर 50 मीटर की रेंज तक भेजा जा सकता है। अधिक दुरी पर यह काम  नहीं कर पाता है।इसकी रेंज सिमित होती है।

इसकी डाटा ट्रांसफर स्पीड 24  MB तक हो सकती है जो की एक अच्छी स्पीड है। इसमें डाटा ट्रांसफर के लिए FHSS टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाता है। यही वजह है की यह एक सिक्योर डाटा ट्रांसफर टेक्नोलॉजी है।

Bluetooth का इतिहास:

Bluetooth टेक्नोलॉजी का विकास सबसे पहले Ericsson Radio System पर काम कर रहे हार्टसन ने 1994 में  किया था।

इसके बाद Ericsson, IBM, Ericsson Sony, Toshiba जैसी कम्पनियो ने मिलकर 1999 में एस आई जी का गठन किया।

इसे औपचारिक रूप से काम करने के योग्य बनाया।और इसके लिए नियम और निर्देश जारी किये।

Bluetooth का उपयोग:

Bluetooth टेक्नोलॉजी के विकास ने आज जीवन को आरामदायक बनाया है। और इस टेक्नोलॉजी ने तारों के जंजाल से मुक्ति दिलाई है।

आज Bluetooth के जरिये आप बिना वायर के अपना कीबोर्ड और माउस को जोड़ सकते है। इसके साथ ही Bluetooth हेडफ़ोन से बिना वायर के आप अपने फोन को जेब में रखे रखे ही किसी से भी बातें कर सकते है।

Bluetooth स्पीकर से आप बिना तार के अपने स्पीकर को कमरे के किसी भी कोने में रखकर गाने सुन सकते है। इसके अलावा आप बिना वायर से जोड़े प्रिंटर से प्रिंट आउट निकाल सकते है।

डेस्कटॉप से जोड़े Bluetooth डिवाइस

आपके मोबाइल और लैपटॉप में Bluetooth सुविधा होती है, जबकि अगर आप अपने डेस्कटॉप से किसी भी गैजेट को कनेक्ट करना चाहते है तो उसके लिए आप ब्लूटूथ डिवाइस की जरुरत होगी।

ये बेहद मामूली कीमत में बाजार में आपको मिल जायेंगे और इसकी मदद से आप अपने डेस्कटॉप कंप्यूटर को प्रिंटर, माउस, कीबोर्ड और स्पीकर से जोड़ सकते है।

लेकिन इसके लिए इन सभी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में भी Bluetooth की सुविधा होनी चाहिए। आपको यह जानकारी Bluetooth क्या होता है, Bluetooth कैसे काम करता है, कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे लाइक और शेयर जरूर करें, धन्यवाद।

error: Content is protected !!