Banking

बैंक लोन मोरेटोरियम क्या है तथा इसका फायदा कैसे ले सकते हैं?

जिस तरह से कोरोना हम सबकी Life पर हावी हुआ है उसे देखकर अब हम सबमें एक खौफ जग गया है। लोगों ने एक दूसरे से मिलना, घरों से फिजूल बाहर निकलना छोड़ दिया है।

पिछले साल जब कोरोना ने भारत मे Entry ली ही थी तब कोई भी इसको लेकर इतना Serious नहीं था और सबको कोरोना एक हवा ही लग रहा था।

आज कोरोना भारत मे आए एक साल से भी ज्यादा हो चुका है और इसका जो प्रकोप है वो बहुत ज्यादा भयानक है। पिछले कुछ दिनों में इसने जितने लोगों को अपनी चपेट में लिया है न वो सच मे एक बुरी खबर ही है।

कोरोना की जब पहली लहर आई थी तब Lockdown लगाकर उसको रोकने की कोशिश की गई थी।

इस बार भी लोग ऐसा ही कुछ चाह रहे हैं। कई जगहों पर Lockdown धीरे धीरे लगाया भी जा रहा है। ऐसे में Court भी इसी के पक्ष में हैं। मगर दोस्तों ये एक सही विकल्प नहीं है।

Lockdown से ये समझ लीजिए कि वक़्त सा थम जाता है। ऐसे में हम कैसे उम्मीद कर सकते हैं कि ये एक बेहतर विकल्प है।

बहुत से लोगों का कहना है कि ‘जान है तो जहां है’। मगर जान तभी तो रहेगी न जब आपको वक़्त पर भोजन पानी मिलेगा।

Lockdown के चलते लाखों लोग सड़कों पर आ जाते हैं, जिनके पास खाने को दो वक्त की रोटी भी नहीं होती है। ऐसे में इसकी अपेक्षा करना ठीक नहीं होगा।

अभी बाद हमने मज़दूरों की। वहीं अगर बात करें एक Middle class family की तो उनको भी ऐसी स्तिथि में बहुत दिक्कत उठानी पड़ती है।

काम धंधा सब चौपट हो जाता है जिसकी वजह से Middle class family पहले की गई Savings से 2 वक़्त की रोटी पाने में तो सफल हो जाती है मगर जो Loan उसने किसी काम के लिए लिया था उसको अदा करने में वो असफल हो जाती है।

ऐसे में Loan मोरेटोरियम जैसी चीज़ें ही उनकी मदद कर सकती हैं। पिछले साल Lockdown के दौरान Laon मोरेटोरियम को लेकर बहुत बड़ा फैसला लिया गया था जिसने बहुत सारे परिवारों को राहत पहुंचाई थी।

अब बहुत से लोगों के मन मे ये सवाल उठ रहा होगा कि आखिर हम किसकी बात कर रहे हैं और ये Loan मोरेटोरियम क्या होता है? आज हम दोस्तों इसी के बारे में बात करेंगे।

हम आपको बताएंगे कि ये होता क्या है और आप सब इसका फायदा कैसे ले सकते हैं।

बैंक लोन मोरेटोरियम क्या है?

Loan मोरेटोरियम जानने के लिए सबसे पहले हम मोरेटोरियम का मतलब जान लेते हैं।

मोरेटोरियम का मतलब होता है कि अगर आप किसी चीज़ का भुगतान कर रहे हैं तो उसको एक Fixed time तक के लिए रोक दिया जाएगा।

उदाहरण के तौर पर मान लीजिए कि आपने कोई Loan लिया है । और हर महीने आप उसकी EMI भर रहे हैं तो इसके तहत आपकी EMI को कुछ महीने या फिर किसी भी Fixed time तक के लिए रोक दिया जाएगा।

अब आप सब इसका गलत मतलब नहीं समझ लीजिएगा कि इसका मतलब है आपके Loan को माफ कर दिया गया या ऐसा कुछ भी।

इससे आपके Loan को माफ नहीं किया जाता है बल्कि स्तिथि को देखते हुए आपको कुछ राहत प्रदान कर दी जाती है। फिर जब स्तिथि सामान्य होती है आपको फिर से वहीं निश्चित EMI पहले की तरह ही भरनी होती है।

कोरोना की वज़ह से जो नुकसान दुनियाभर को उठाना पड़ा उसकी भरपाई तो नहीं ही की जा सकती है। इसका असर देश की Economy पर भी देखने को मिलता है।

Lockdown के चलते लाखों लोगों से उनकी रोजी रोटी छिन गई। वहीं बहुत से लोगों की Salary में भी कटौती की गई।

जिसके चलते पिछले साल RBI ने मॉनिटरी पॉलिसी को देखते हुए  ये फैसला लिया था कि Loan मोरेटोरियम को तीन महीने के लिए बढ़ा दिया जाएगा।इसको बढ़ाने का एलान शुरू के तीन महीनों के लिए ही था।

बैंक लोन मोरेटोरियम कैसे काम करता है तथा क्या है इसका फायदा?

अभी हमने आप सबको ये बता ही दिया है कि इसका मतलब क्या होता है। इसका अर्थ है कि कुछ समय के लिए आपकी EMI को रोक दिया जाए।

मगर दोस्तों एक ज़रूरी चीज़ जो यहां ध्यान देने योग्य है वो ये है कि आपकी EMI पर जो ब्याज दर तय है उस पर आपको कोई छूट नहीं मिलती है।

इसका मतलब ये हुआ दोस्तों कि अगर आप तीन महीने के बाद Loan की EMI भरना शुरू करते हैं तो आपको इसमें पिछले तीन महीनों के ब्याज भी देना ही पड़ेगा।

ऐसे में आप सबको अब यही लग रहा होगा कि ये तो घाटे का सौदा है। इसका फायदा क्या हुआ?

दोस्तों तो अगर सामान्य तौर पर देखा जाए तो अगर आप EMI नहीं भर पाते हैं तो उस पर ब्याज तो लगता ही है। इसके साथ मे EMI न भर पाने की वजह से Credit ranking भी खराब हो जाती है।

अगर आप मोरेटोरियम के तहत EMI नहीं भरते हैं तो इससे ब्याज तो आपको देना पड़ता है मगर आपकी Credit ranking पर कोई भी असर नहीं पड़ता है। आपकी Ranking जो है वही रहेगी उससे नीचे नहीं जाएगी।

इसे भी पढ़ें…

किसे मिलता है मोरेटोरियम का सबसे ज्यादा फायदा?

ये तो हम सभी को पता है कि Lockdown की वजह से सब चौपट हो गया है। ऐसे में नुकसान तो सभी को ही।

काम धंधे सबके बंद हुए हैं तो दिक्कत भी सभी को। लेकिन अगर इस मोरेटोरियम से किसी को फायदा होगा तो वो उद्योग धंधों को होगा।

क्योंकि अभो तो माना कि बिजनेस रुका हुआ है इसीलिए Loan देने में दिक्कत है मगर जब फिर से स्तिथि सामान्य होगी और बिजनेस फिर से चढ़ाई करेगा तो फायदा तो होगा ही।

ऐसे में कम्पनियां बहुत ही आसानी से अपने Loan की EMI भर पाएंगी।

कौन कौन Loan मोनोटोरियम के लिए कर सकता है Apply?

अब बहुत से लोगों के मन मे ये सवाल होगा कि इसके लिए कौन Apply कर सकता है? तो दोस्तों हम आपको बता दें कि कोई भी इसके लिए Apply कर सकता है।

फिर चाहे कोई कम्पनी हो या हम आप जैसा कोई व्यक्ति। इसके तहत आप किसी भी Loan के मोरेटोरियम के लिए आसानी से Apply कर सकते हैं।

इसके तहत आप Credit card के Bill को भी रोक सकते हैं। एक तरह से वो भी तो Loan ही होता है।

अगर बात करें पिछले साल की तो मोरेटोरियम के तहत कुछ Bank में 30 प्रतिशत लोगों ने इसका फायदा उठाया था और कुछ छोटे Bank में 70 प्रतिशत तक लोगों ने इसका फायदा लिया था।

Loan मोरेटोरियम का मामला सुप्रीम कोर्ट में क्यों पहुंचा?

एक बहुत बड़ी संख्या में लोगों ने मार्च से अगस्त तक इसका फायदा उठाया था। फिर जब Loan चुकाने की बारी आई तो उन्हें पिछले तीन महीनों के भी ब्याज देना पड़ा।

जिसके बाद लोगों ने ये कहा कि Bank बकाया राशि पर अतिरिक्त ब्याज यानी कि ब्याज के ऊपर ब्याज ले रहा है। इसीलिए ये मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया था।

फिर सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से सवाल करना शुरू लर दिया कि भाई क्यों ब्याज के ऊपर ब्याज लोगों से लिया जा रहाहै।

ऐसे में सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया है कि 2 करोड़ रुपए तक के कर्ज के लिए बकाया किश्तों के लिए ब्याज पर ब्याज नहीं लगाया जाएगा।

सरकार ने इसे मध्यम और लघु उद्योगों पर ब्याज पर ब्याज न लेने की घोषणा की है जो 2 करोड़ रुपये तक के हैं।

इनमें होम Loan, Personal loan, Education loan, Credit card bill, Car या फिर 2 wheeler loan, बिजनेस Loan, उपभोक्ता सामग्री के लिए Loan आदि।

सुप्रीम कोर्ट का ये कहना है कि Bank मूल धन और ब्याज वसूलने के अधिकार रखते हैं मगर ब्याज के ऊपर ब्याज वसूलने के Bank को कोई भी अधिकार प्राप्त नहीं है।

मोरेटोरियम के सरकार के लिए क्या मायने हैं?

इसमें सरकार क्या करती है कि Loan को माफ करने का भार अपने ऊपर न लेकर Bank के ऊपर छोड़ देती है।

ऐसे में Bank के लिए ये बहुत बड़ी मुसीबत हो जाती है। उन्हें एक बहुत बड़ी रकम चुकानी पड़ती है। इससे देश के Banking system पर बहुत बुरा असर पड़ता है।

इसका केवल यही समाधान है कि सरकार भी इसमें भार संभाले। अगर Bank पर पूरी जिम्मेदारी छोड़ दी जाती है तो इसे में उनके Net worth का एक बहुत बड़ा हिस्सा गायब हो जाएगा।

फिर एक बहुत बड़ी मुश्किल आ जाएगी। इसीलिए सरकार को ये भार उठाना आवश्यक है।

सरकार के 6000 से 7000 करोड़ तक Loan मोरेटोरियम पर होंगे खर्च;-

अब जब सरकार इसका भार उठाएगी तो खर्च भी सरकार को करना पड़ेगा। ऐसे में 2 करोड़ रुपये तक के Loan की EMI सरकार को भरनी होगी।

सरकार ने इस पर 6000 से लेकर 7000 करोड़ रुपये तक खर्च किए हैं। सरकार का इसको लेकर यह भी कहना था कि इस खर्चे की वजह से कोरोना के खिलाफ छिड़ी जंग भी प्रभावित हो सकती है।

दोस्तों तो है थी मोरेटोरियम से जुड़ी जानकारी। अब आप सब समझ ही गए होंगे कि इसका मतलब क्या होता है। किस तरह से आप इसके लिए Apply कर सकते हैं और ये किसके लिए फायदेमंद है।

ऐसा नहीं है कि इस पर आपको ब्याज पर ब्याज देना होता है। इससे आप सबको राहत प्रदान करने की कोशिश की जाती है और आपकी EMI को एक निश्चित समय तक के लिए टाल दिया जाता है।

जब आप EMI भरना शुरू कर देते हैं तो आपको पिछले तीन महीनों का ब्याज भी देना पड़ता है। इससे एक ये बहुत बड़ा फायदा है कि जब आप EMI नहीं भर पाते हैं तो आपका Credit score नही नहीं गिरता है।

इसे भी पढ़ें….

About author

Articles

मैं अपने इस ब्लॉग पे इंटरनेट, मोबाइल, कंप्यूटर कैर्रिएर से रिलेटेड आर्टिकल पोस्ट करता हु और ये उम्मीद करता हूँ कि ये आपके लिए सहायक हो। अगर आपको मेरा आर्टिकल पसंद आये तो आप इसे लाइक ,कमेंट अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे और आपको मुझे कोई भी सुझाव देना है तो आप मुझे ईमेल भी कर सकते है। मेरा ईमेल एड्रेस है – hindipost.net@gmail.com.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!