Connect with us

Essay

Artificial Intelligence पर Essay (1000 Words)

Published

on

Artificial Intelligence

इस बात से कोई भी इंकार नहीं कर सकता कि अब जैसी Life हम लोग जी रहे हैं वैसी Life की किसी ने अपेक्षा भी नहीं की थी। Science और Technology ने हर चीज़ को आसान बना दिया है।

अब बस आपके पास पैसे होने चाहिए और आपके सारे काम बैठे बैठे ही हो जाएंगे। नई नई Techniques ने हम सबकी बहुत मदद की है। Kitchen में जो हम Appliances इस्तेमाल करते हैं उसको लेकर जो हम Car से Travel करते हैं ये सब Technology की ही देन है। 

Science और Technology के क्षेत्र में एक सबसे बड़ा आविष्कार माना जाता है Artificial Intelligence का। Artificial Intelligence का मतलब होता है मशीनों मि बुद्धिमत्ता। अगर आसान भाषा मे Artificial Intelligence को समझना चाहें तो इसका मतलब Robots से है। Artificial Intelligence वैसे मनुष्यों और जानवरों की बुद्धि के विपरीत कार्य करता है।

Artificial Intelligence समस्या हल, मशीनें सीखने, तर्क, योजना जैसे काम करती है। Artificial Intelligence का सबसे सफल काम है मानव बुद्धि का अनुकरण। बहुत तेज़ी से इसका विकास हो रहा है और ऐसा माना जा रहा है कि Artificial Intelligence बड़ी चुनौतियों और संकट का सामना कर सकता है। 

क्या है Artificial Intelligence?

हम सभी मनुष्य हैं और हमारे अंदर सोचने और समझने की क्षमता है। उसी तरह अगर हम जानवरों को देखें तो जानवरों की Intelligence तथा React करने की क्षमता हम मानव से काफी भिन्न है।

असल में Intelligence जो होता है वो सीखने की, तर्कशक्ति तथा Problem solve करने मे एक Process है। फिर जब ये सारे ही काम मनुष्य या जानवरों के द्वारा न होकर मशीनों द्वारा किया जाता है तो इसी को Artificial Intelligence का नाम दे दिया जाता है।

कैसे हुई Artificial Intelligence की शुरुआत;-

इसकी शुरुआत तो 1950 में ही हो गई थी मगर असल मायने में इसकी जरूरत को 1970 में समझा गया था। ये तो हम सभी जानते ही हैं कि Artificial Intelligence के मामले में जापान सबसे आगे है और यहीं से इसकी शुरुआत भी हुई थी।

जापान ने 1981 में एक योजना की शुरुआत की थी जिसका नाम 5th generation था। इस योजना के अंतर्गत Super computers को महत्व दिया गया तथा Super computers के Development के लिए 10 वर्षीय एक कार्यक्रम को लाया गया। 

जापान के बाद फिर बाकी देश भी इस ओर अपना ध्यान आकर्षित करने लगे और इस Race में शामिल हुए। Britain ने Artificial Intelligence के लिए ही एल्वी नाम का एक Project launch किया था।

इसके अलावा यूरोपीय संघ के देशों ने भी एस्प्रिट नामक एक Project launch किया। अब तक Artificial Intelligence का काफी प्रचार प्रसार हो चुका था। 1983 में कुछ Private Institutes ने Very Large Scale Integrated Circuit के Development के लिए Micro Electronics and Computer Technology की स्थापना की। 

Artificial Intelligence के प्रकार;-

Artificial Intelligence के भी प्रकार होते हैं। मुख्यतः Artificial Intelligence के 4 प्रकार हैं-

◆ मन का सिद्धांत- इस तरह से आप दूसरों को समझ सकते हैं। अभी तक इस तरह के Artificial Intelligence आए नहीं है मगर इनसे आप दूसरों की मान्यताएं, इच्छाएं तथा राय समझ सकते हैं।

◆ Self awareness- सब्स बेहतरीन Artificial Intelligence का प्रकार यही है। इसके अंदर आप स्वयं को समझ सकते हैं। अभी तक इस तरह की Technique आई तो नहीं है मगर अगर इसका आविष्कार होता है तो निःसन्देह वो सबसे बड़े आविष्कार में शामिल होगा।

◆ सीमित मेमोरी- इए तरह की प्रणाली में पिछले अनुभवों का  उपयोग करके भविष्य में लोगों को सूचित किया जाता है। इसका एक बेहतरीन Example Car driving है।

◆ Reactive मशीनें- इस तरह की प्रणाली में पिछले अनुभवों का उपयोग करके भविष्य में लोगों को सूचित नहीं किया जाता है। ये पहले विकल्पों का विश्लेषण करता है और फिर जो Best होता है उसको Choose करता है। इस तरह की मशीनें मुख्यतः स्तिथियों पर Reaction दे सकती हैं। 

Artificial Intelligence के लाभ;-

Artificial Intelligence का लाभ निम्न हैं-

◆ व्यवसाय में लाभ- व्यवसायिक प्रदर्शन में इसका विशेष लाभ है। इसकी मदद से Chatbox तुरंत प्रतिक्रिया देते हैं तथा 24 घण्टे ग्राहकों की सेवा के लिए भी उपलब्ध रहते हैं। Artificial Intelligence की मदद से कोई भी सफल और Less time taking व्यवसाय कर सकता है। 

◆ स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में- स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में तो Artificial Intelligence ने गज़ब की पकड़ बना ली है। अब ऐसी ऐसी मशीनें Hospitals में आ गई हैं जो खुद ही आपका Checkup कर देती हैं। इसकी मदद से डॉक्टरों को डेटा संचालित समाधान मिल जाता है।

◆ शिक्षा के क्षेत्र में- शिक्षा के क्षेत्र में भी Artificial Intelligence अब अपनी पकड़ बना रहा है। इसकी मदद से शिक्षा को अधिक कुशल बनाया जा सकता है। इस Technique से छात्रों का काफी Time भी बचेगा।

◆ Manufacturing में- अगर कम समय मे ज्यादा उत्पादन करना है तो निश्चित ही Artificial Intelligence एक बेहतर विकल्प साबित होगा। 

Artificial Intelligence से हानि;-

अगर किसी चीज़ से लाभ होता है तो उससे कहीं न कहीं हानि भी होती है। Artificial Intelligence से भी नुकसान होता है जो कि निम्न है-

◆ सबसे बड़ी हानि तो इससे यही है कि ये Eco friendly नहीं है। Artificial Intelligence से E waste पैदा होता है और ये नष्ट नहीं हो पाता है जो कि काफी हानिकारक रहता है।

◆ हमारी Life जितनी आसान होती जा रही है हम उतने ही ज्यादा आलसी होते जा रहे हैं। यही कारण है कि लाखों तरह की बीमारियां अब हमारे शरीर मे अपना डेरा जमा लेती हैं। 

◆ जितना हम मशीनों पर निर्भर रहेंगे उतना ही हमारा नुकसान रहेगा। धीरे धीरे आलम ये होगा कि मशीनें हम से बेहतर हो जाएंगी।

◆ अगर हम सही तरीके से मशीनों का इस्तेमाल करते हैं तो वो ठीक रहता है वहीं अगर मशीन को Wrong Instructions देते हैं था Negative purpose के लिए इस्तेमाल करते हैं तो ये जन समुदाय को नुकसान पहुंचा सकती है।

◆ मशीनों ने अब इंसानों की जगह ले ली है। ऐसे में रोजगार में भी थोड़ी कमी आई है।

निष्कर्ष;-

हम सब इस बात को अनदेखा नहीं कर सकते कि मशीन के आने से हम सब एक आरामदायक जिंदगी जी रहे हैं। Science और Technology ने इसे ऐसे आविष्कार किए हैं जिनके बारे में कभी किसी ने सोचा नहीं था।

Artificial Intelligence ने हम सबके काम को काफी आसान बनाया है। अब बस आपको काम सोचने की देर रहती है और फटाक से काम हो जाता है। पलक झपकाते ही आप जो चाहते हैं वो हो जाता है। तो है न ये सब Science तथा Technology का कमाल।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!