3० दिन में इंग्लिश बोलना कैसे सीखें? इंग्लिश सिखने के 5 आसान तरीके




दोस्तों आज की तारीख में इंग्लिश का क्या महत्व है, ये मुझे आपको बताने की जरूरत नहीं है। हर कोई जानना चाहता है की वो इंग्लिश बोलना कैसे सीखें।

यह आर्टिकल उन लोगों के लिए है जिन्हे इंग्लिश सिखने में बेहद दिलचस्पी हैं। जब बात इंग्लिश सिखने की आती हैं तो लोगों को लगता हैं की किसी कोचिंग क्लास में जाने से या फिर सिर्फ  इंग्लिश स्पीकिंग कोर्स कर लेने से उन्हें इंग्लिश बोलना आ जायेगा लेकिन वास्तव में ऐसा बिलकुल मुमकिन नहीं हैं।

दोस्तों आज यहाँ पे मैं आपको न ही सिर्फ बताऊंगा की आप इंग्लिश बोलना कैसे सीखें बल्कि आपको इंग्लिश सिखने के 5 आसान तरीके भी बताऊंगा जिससे फॉलो करके आप आसानी से इंग्लिश बोलना सीख सकते है।

इंग्लिश बोलना कैसे सीखें:

इंग्लिश अन्य भाषा की तरह ही हैं जिसमे कुछ साधारणतः ध्यान देने से ही आपको भी इंग्लिश बोलना आ जायेगा। इंग्लिश भाषा हो या फिर कोई अन्य भाषा आपको थोड़ी मेहनत करने की जरुरत हैं। आपको अपने दिनचर्या में उन चीजों को शामिल करने की जरुरत हैं जिससे आपको इंग्लिश जल्द सिखने में सहायता मिलेगी।

इंग्लिश सिखने के चार ध्यान देने वाले तरीक़े हैं जैसे पढ़ना,बोलना, सुनना और लिखना। आप जिस भी भाषा में बहुत अच्छे हैं उस भाषा के बारे में सोचिये की आपने अपने इस भाषा को कैसे सीखा तो आपका किसी भी नयी भाषा को सीखना उतना ही सरल हो जायेगा।

इंग्लिश सिखने के 5 आसान तरीके:

आइये जानते हैं कुछ ऐसे तरीकों के बारे में जिससे आपको इंग्लिश भाषा सिखने में मदद मिलेगी।

इंग्लिश सिनेमा देखना :





इंग्लिश सिनेमा आपको देखने की आदत डालनी चाहिए। फिल्म देखने के कुछ तरीक़े हैं जिसे आपको करना होगा। जब भी आप इंग्लिश फिल्म देखेंगे आपको पहली बार लगएगा की आपको कुछ भी समझ नहीं आ रहा हैं। सबसे पहले आप इंग्लिश sub stile के साथ फिल्म देखे तथा उसे समझने की कोशिश करे, अगर किसी जगह आपको समझ नहीं आ रहा तो घबराने वाली कोई बात नहीं हैं। आप देखे की फिल्म में वो कैसे-कैसे words प्रयोग कर रहे हैं ,अगर आप चाहे तो उस words को कही लिख ले, ऐसे करते हुए पहली बार उस फिल्म को देखे।

अब उस words के meaning को देखना शुरू करे और इस बार दुबारा उसी फिल्म को देखे। दूसरी बार आपको उनके words जो उन्होंने प्रयोग किये हैं वो समझ आने लगएंगे, ऐसे करके उन words के साथ धीरे-धीरे पुरे sentences को समझने की कोशिश करे। तीसरी बार उसी फिल्म को बिना subs tile के देखे आपको फिल्म अब समझ आने लगेगी।

इस तरह आप हर बार नयी नयी movies देखके अपनी इंग्लिश के साथ- साथ अपनी vocabulary भी मजबूत कर लेंगे।

इंग्लिश में सोचना :





आपको इंग्लिश सिखने के लिए इंग्लिश में सोचने की जरुरत हैं। कुछ लोग जब इंग्लिश सीखते हैं तो उनकी कोशिश ये रहती हैं की वो एक भाषा से दूसरी भाषा में इंग्लिश को translate करके सोचते हैं और फिर बोलने की कोशिश करते हैं। ये बिलकुल गलत तरीका हैं अगर आपको इंग्लिश बोलना सीखना हैं तो इंग्लिश में ही सोचे और फिर बोले ,भले ही आप शुरुवात में गलत बोलेंगे लेकिन इंग्लिश में सोचे तथा इंग्लिश में बोले।

इंग्लिश भाषा में ही सोचकर बोलने से आप गलती काम करेंगे नहीं तो खुद की भाषा से इंग्लिश में  रूपांतरण करने से आपको सिखने में परेशानी आएगी और यह एक गलत तरीका हैं जिससे कई लोग जल्द सिख नहीं पाते।

इंग्लिश में लिखना :

अगर आपको इंग्लिश में परफेक्ट बनना हैं तो ,आपको सुनने के साथ-साथ हर रोज अपनी एक डायरी इंग्लिश में लिखने की जरुरत हैं। मैंने इसके पहले आपको बताया की इंग्लिश में सोचने की जरुरत क्यों हैं ? कारण यही हैं की जब आप इंग्लिश में सोचेंगे तो उसे अपनी डायरी में भी आसानी से लिख पाएंगे।

हर रोज अपनी डायरी लिखने से आपको इंग्लिश लिखना भी आएगा। जब आप लिखने में छोटी -छोटी गलती करेंगे तो उस गलती से आप कुछ सीखेंगे और एक दिन आप बोलने के साथ -साथ लिखने में भी अच्छे हो जायेंगे।

इंग्लिश किताबें पढ़ना:





इंग्लिश सिखने के लिए सिर्फ इंग्लिश movies देखना ही काफी नहीं हैं आपको इंग्लिश किताबों को भी पढ़ने की आदत डालनी होगी। इन किताबों को पढ़ने से आपको नए- नए words मिलते हैं जिससे आपकी vocabulary मजबूत होती हैं तथा एक इंग्लिश किताब पढ़ने की आदत भी हो जाती हैं। आप अच्छी-अच्छी novels किताबें पढ़ सकते हैं। पढ़ना भी इंग्लिश सिखने का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं।

सिर्फ किताब ही क्यों आप सुबह इंग्लिश समाचार पत्र से अपनी दिन की शुरुवात कर सकते हैं। एक तो आपको इंग्लिश reading की आदत भी हो जाएगी साथ ही साथ आपको देश दुनिया की खबरों का भी पता चलेगा।

इंग्लिश में बोलना:





इंग्लिश में बोलते हैं “practice makes perfect” आपने अभी तक इस आर्टिकल से सीखा की इंग्लिश सुनना हैं, लिखना हैं अब बारी आती हैं बोलने की आपने अब तक बहुत कुछ सिख लिया लेकिन अगर आप बोलने में प्रैक्टिस नहीं करेंगे तो सिखने का कोई फायदा आपको नहीं होगा।

इंग्लिश बोलने के लिए अकसर लोग सोचते हैं की अकेले ये कैसे संभव हैं ? अकसर उन्हें दूसरों की तलाश रहती हैं की कोई उनकी मदद करेगा कोई उनके साथ बोलने की प्रैक्टिस करेगा। आपको खुद की मदद खुद करने की जरुरत हैं। आप अकेले भी इससे प्रैक्टिस कर सकते हैं ,रोज आईने के सामने आपने आप को बोलते हुए प्रैक्टिस करे। जब भी आप किसी से मिलते हैं तो इंग्लिश में ही बात करने की कोशिश करे,शुरुवात में हो सकता हैं आप गलत बोलेंगे लेकिन प्रैक्टिस से आप बिलकुल अच्छी इंग्लिश बोलने लगेंगे।

तो हमने आपने इस आर्टिकल से जाना की कैसे कुछ तरीकों से आप भी अच्छी इंग्लिश बोलना और लिखना सीख सकते हैं। “practice makes perfect” सीखिए पढ़िए और बोलिये यह तरीका इंग्लिश में आपको एक दिन परफेक्ट जरूर बना देगा।हर एक चीज़ में आपको थोड़ी मेहनत की जरुरत हैं तो मेहनत करिये और इंग्लिश सीखिए। इंग्लिश सिखने के लिए हमेशा याद रखे की आप जितना ज्यादा प्रैक्टिस करेंगे आपकी इंग्लिश दिन पर दिन उतनी ही अच्छी होती जाएगी ।

“Practice Makes Perfect”



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *