जानिए UPI क्या है, और ये कैसे काम करता है

यूनाइटेड पेमेंट इंटरफेस (U.P.I.) यह प्रणाली अलग-अलग बँक खातों को एक मोबाइल एप्लिकेशन से जोडती है|

जिससे विविध  बैंकिंग सुविधाओं, सीमलेस फंड रूटिंग और मर्चेंट भुगतान को एक ही जगह से किया जा सकता है ।

इसका उपयोग ” समकक्ष व्यक्तियों की  अंतर्गत “आवश्यकता और सुविधा के अनुसार निर्धारन  और भुगतान के लिये भी किया जाता है। 

युनायटेड पेमेंट इंटरफेस ( United Payment Interface) व्यवस्था का प्रायोगिक प्रकल्प के रूप मे उदघाटन NPCI द्वारा डॉक्टर रघुराम राजन, RBI  Governor के समक्ष 11 एप्रिल, २०16 को  मुंबई मे हुआ। जिसमे २१ बँको ने  एक साथ शुरु  किया गया।

आगे २5अगस्त, २०16 से  बँको ने उनका U.P.I. आधारित मोबाइल ऐप  Google Playstore पर अपलोड करना शुरू किया|

UPI से बैंकों के लिए लाभ:

• एक क्लिक एवं  दो फैक्टर प्रमाणीकरण

• लेनदेन के कार्य लिए सार्वभौमिक आवेदन

• मौजूदा बुनियादी ढांचे का लाभ

• सुरक्षित, संरक्षित  और  नाविनयपूर्ण

• भुगतान आधार एकल / विशेष पहचानकर्ता

• सहज-सुलभ एवं  व्यापार सक्षम लेनदेन

UPI से ग्राहकों के लिए लाभ:

• २४ घंटे सुविधा

• एकल आवेदन द्वारा विभिन्न बैंक खातोंका ब्यौरा

वर्चुअल आईडी का उपयोग अधिक सुरक्षित है, कोई क्रेडेंशियल शेयरिंग नहीं।

• एकल क्लिक प्रमाणीकरण

किसी भी शिकायतको मोबाइल अप्स के द्वारा सीधे दर्ज कर सकते है।

UPI से व्यापारियों के लिए लाभ:

• एकल पहचानकर्ता द्वारा ग्राहकों से अनिर्बंध फंड संग्रह

• वर्चुअल एड्रेस को स्टोर करने का कोई खतरा नहीं है जैसे की क्रेडिट या डेबिट कार्ड में हो सकता है

• उन ग्राहकों को टैप करें जिनके पास क्रेडिट / डेबिट कार्ड नहीं हैं

• ई-कॉम और एम-कॉम लेनदेन के लिए उपयुक्त

• कॅश ऑन डिलीवरी की समस्या हल करता है

• ग्राहक को सिंगल क्लिक 2 एफए सुविधा – अनिर्बंध पुल

• इन-ऐप भुगतान (आईएपी)

युनायटेड पेमेंट इंटरफेस (U.P.I.) की कुछ अनोखी बातें

1. यह प्रणाली २४ घंटो और  ३६५ दिन , मतलब पुरे साल काम करती है ।

2. मोबाइल डिवाइस के माध्यम से तत्काल धन हस्तांतरण।

3. एक ग्राहक के अलग-अलग बैंक खातों को यह जोड़नेवाली यह एकल मोबाइल एप्लिकेशन।

4. २ लेवल का संरक्षण प्रमाणीकरण – ग्राहकोंको सबसे सुचारु एवं मजबूत सुविधा प्रदान करता है।

5. ग्राहक के खातोंमे आदान-प्रदान करने के लिए यह एक वर्चुअल पता तैयार करता है जिससे  कार्ड नंबर, खाता संख्या, आईएफएससी इत्यादि जैसे विवरण बार -बार दर्ज करने की आवश्यकता नहीं होती है।

6. मित्रोंके साथ बिल शेयरिंग।

7. ७.कॅश ऑन डिलीवरी के सरदर्द का सबसे सटीक जवाब, एटीएम के बार-बार उपयोग से बचाव एवम सटीक राशि प्रदान करना।

8. एक ही ऍप से व्यापारी भुगतान तथा इन-ऐप भुगतान

9. उपयोगिता बिल भुगतान, काउंटर भुगतान तथा  बारकोड (स्कैन और पेमेंट ) आधारित भुगतान

10. दान, संग्रह, सुचारु स्वरुप से वितरण

11. किसी भी शिकायतको मोबाइल अप्स के द्वारा सीधे दर्ज कर सकते है।

UPI में पंजीकरण करने की प्रक्रिया

• पंजीकरण के लिए कार्य करने की  निन्नलिखित प्रक्रिया है :

• Google play store/Apple app store स्टोर / बैंक वेबसाइट से UPI एप्लिकेशन डाउनलोड करें ।

• उपयोगकर्ता नाम, वर्चुअल आईडी (भुगतान पता), पासवर्ड इत्यादि जैसे विवरण दर्ज करके अपनी प्रोफ़ाइल बनाइये ।

• खाता जोड़ें / लिंक / प्रबंधित करें खाता” विकल्प पर जाएं  और वर्चुअल आईडी के साथ बैंक और खाता संख्या को लिंक करें।

UPI पिन तैयार करना :

• उपयोगकर्ता उस बैंक खाते का चयन करें जिसमेसे वह लेन-देन शुरू करना चाहता है|

• उपयोगकर्ता दिए गए विकल्पोमेसे  में से एक क्लिक करता है|

• उपयोगकर्ता को उसके पंजीकृत मोबाइल नंबर जारी कर्ता बैंक से ओटीपी प्राप्त होता है|

• उपयोगकर्ता अब डेबिट कार्ड नंबर और समाप्ति तिथि के अंतिम 6 अंकों को प्रविष्ट करता है|

• उपयोगकर्ता ओटीपी का दिए गया रिक्त स्थानों पर प्रवेश करता है और अपने पसंदीदा संख्यात्मक UPI पिन (यूपीआई पिन जिसे वह सेट करना चाहते हैं) से  प्रवेश करता है और सबमिट बटन पर क्लिक करता है|

• सबमिट करने के बाद, ग्राहक अधिसूचना प्राप्त करता है (सफल या विफल)|

पुराने उपभोक्ता के  लिए

• उपयोगकर्ता अपने पुराने यूपीआई पिनैंड में पसंदीदा यूपीआई पिन (यूपीआई पिन जिसे वह सेट करना चाहते हैं) डालता करता है और सबमिट पर क्लिक करता है

• सबमिट करने के बाद, ग्राहक अधिसूचना प्राप्त करता है (सफल या विफल)

यूपीआई लेनदेन करना:

ए)पुश  (पैसा भेजना)- वर्चुअल एड्रेस का उपयोग करके पैसा भेजना

• सबसे पहले उपयोगकर्ता यूपीआई आवेदन में लॉग इन करता है

• सफल लॉगिन के बाद, उपयोगकर्ता पैसा / भुगतान भेजने का विकल्प चुनता है

• उपयोगकर्ता लाभार्थी / भुगतानकर्ता के वर्चुअल आईडी में प्रवेश करता है और अपने खाते को डेबिट करने का चयन करता है

• भुगतान के विवरण और क्लिक की समीक्षा करने के लिए उपयोगकर्ता को पुष्टिकरण स्क्रीन मिलती है

• उपयोगकर्ता अब अपने यूपीआई पिन का  प्रवेश करता है

• उपयोगकर्ताको सफल या विफलता का  संदेश जाता है

बी )पुल – पैसे का अनुरोध:

• उपयोगकर्ता अपने बैंक के यूपीआई आवेदन में लॉग इन करता है

• सफल लॉगिन के बाद, उपयोगकर्ता धन एकत्रित  करने का विकल्प चुनता है (भुगतान के लिए अनुरोध)

• प्रयोक्ता प्रेषक / भुगतानकर्ता वर्चुअल आईडी, राशि और खाते में जमा होने के लिए प्रवेश करता है

• पुष्टिकरण पर भुगतान विवरण और क्लिक की समीक्षा करने के लिए उपयोगकर्ता को पुष्टिकरण स्क्रीन मिलती है

• अनुरोधकर्ता पैसे के लिए भुगतानकर्ता को अपने मोबाइल पर अधिसूचना मिलती है

• भुगतानकर्ता  अधिसूचना पर क्लिक करता है और अपने बैंक यूपीआई ऐप खोलता है जहां वह भुगतान अनुरोध की समीक्षा करता है

• भुगतानकर्ता तब स्वीकार या अस्वीकार  पर क्लिक करने का फैसला करता है

• स्वीकृति भुगतान के मामले में, भुगतानकर्ता यूपीआई पिनो को लेनदेन को अधिकृत करने के लिए प्रवेश करता है

• लेनदेन पूर्ण, भुगतानकर्ता सफल हो जाता है या लेनदेन अधिसूचना अस्वीकार कर देता है

• प्राप्तकर्ता को बैंक से अपने बैंक खाते के क्रेडिट( धन जमा) के लिए पंजीकृत मोबाइल नंबर पर अधिसूचना और एसएमएस प्राप्त होता है

यूपीआई सक्षम बैंकों की सूची आज के रूप में निम्नानुसार है|

1. एयरटेल भुगतान बैंक

2.  इलाहाबाद बैंक

3.  आंध्र बैंक

4 . एक्सिस बैंक

5.  बैंक ऑफ बड़ौदा

6.  बैंक ऑफ इंडिया

7.  बैंक ऑफ महाराष्ट्र

8 . कैनरा बैंक

9 . कैथोलिक सीरियाई बैंक

10.  सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया

11 . सिटी यूनियन बैंक

12.  डीबीएस डिजी बैंक

13. डीसीबी बैंक

14.  देना बैंक

15.  इक्विटास लघु  वित्त बैंक

16. फेडरल बैंक

17. एचडीएफसी

18.  एचएसबीसी

19.  आईसीआईसीआई बैंक

20.  आईडीबीआई बैंक

21.  आईडीएफसी

22.  भारतीय बैंक

23.  इंडियन ओवरसीज बैंक

24.  इंडसइंड बैंक

25 . जम्मू-कश्मीर बैंक

26.  कर्नाटक बैंक

27.  करूर वैश्य बैंक

28.  कोटक महिंद्रा बैंक

29.  ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स

30.  पेटीएम भुगतान बैंक

31.  पंजाब और सिंध बैंक

32 . पंजाब नेशनल बैंक

33.  साउथ इंडियन  बैंक

34. स्टैण्डर्ड चार्टर्ड

35.  स्टेट बैंक ऑफ इंडिया

36.  सिंडिकेट बैंक

37. लक्ष्मी विलास बैंक लिमिटेड

38.  रत्नाकर बैंक लिमिटेड

39.  ठाणे जनता सहकारी बैंक लिमिटेड (टीजेएसबी)

40 . यूसीओ बैंक

41.  यूनियन बैंक ऑफ इंडिया

42.  यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया

43.  विजया बैंक

44. यस बैंक

45.  निगम बैंक

46.  जी पी पारसिक बैंक

47.  वसई विकास सहकारी बैंक लिमिटेड

48.  ठाणे भारत सहकारी बैंक

49.  अपना सहकारी बैंक

50 . राजकोट नागरी सहकारी बैंक लिमिटेड

51.  पंजाब और महाराष्ट्र कं बैंक

52.  मेहसाणा शहरी सहकारी बैंक

53 . सारस्वत सहकारी बैंक

54.  सिटीबैंक रिटेल

55. कल्याण जनता सहकारी बैंक

56.  कल्लप्पान्ना अवेड इचलकरंजी जनता सहकारी बैंक लिमिटेड

57 . गुजरात राज्य सहकारी बैंक लिमिटेड

58.  द हस्ती सहकारी बैंक लिमिटेड

59.  महानगर सहकारी। बैंक लिमिटेड

60.  केरल ग्रामीण बैंक

61.  प्रगति कृष्ण ग्रामीण बैंक

62.  कर्नाटक विकास  ग्रामीण बैंक

63.  आंध्र प्रगति ग्रामीण बैंक

64.  प्रथम बैंक

65.  महाराष्ट्र ग्रामीण बैंक

66.  पूर्वांचल बैंक

67.  छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण बैंक

68.  आंध्र प्रदेश ग्रामीण विकास बैंक

69 . जनता सहकारी बैंक पुणे

70.  बंधन बैंक

71.  फिनो भुगतान बैंक

72.  इलाहाबाद यूपी ग्रामीण बैंक

73. सौराष्ट्र ग्रामीण बैंक

74.  मालवा ग्रामीण बैंक

75.  तेलंगाना ग्रामीण बैंक

76.  उत्तराखंड ग्रामीण बैंक

77 . वानंचल ग्रामीण बैंक

78.  मेघालय ग्रामीण बैंक

79.  कॉसमॉस बैंक

80.  कावेरी ग्रामीण बैंक

81.  तमिलनाड मर्केंटाइल बैंक

82.  राजस्थान मारुधर ग्रामीण बैंक

83.  मिजोरम ग्रामीण बैंक

84.  बेसिन कैथोलिक कूप बैंक

85.  लैंगपी देहंगी ग्रामीण बैंक

86.  आदित्य बिड़ला

87.  असम ग्रामीण विकास बैंक

88.  विश्वेश्वर सहकारी बैंक लिमिटेड

89.  जलगांव जनता सहकारी बैंक

90. मणिपुर ग्रामीण बैंक

91.  त्रिपुरा ग्रामीण बैंक

92.  डोंबिवली नागिक सहकारी बैंक

93.  काशी गोमती सम्युत ग्रामीण बैंक

94.  चैतन्य गोदावरी ग्रामीण बैंक

95.  देना  गुजरात ग्रामीण बैंक

अगर आपको इस पोस्ट से रिलेटेड कोई भी सवाल है, तो आप मुझे कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे।

Read Also:

जानिए BHIM App क्या है, और इसे कैसे यूज करें

Umang App क्या है और इसका इस्तेमाल क्यों और कैसे करें

जानिए DigiLocker क्या है, Know all about DigiLocker

Leave a Reply

  Subscribe  
Notify of